बदले की कार्रवाई के तहत ट्विटर इंडिया के दफ्तरों में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की छापेमारी

Estimated read time 1 min read

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक़ दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की टीम ट्विटर इंडिया के कार्यालयों (लाडो सराय, दिल्ली और गुरुग्राम में) में रेड डाला है।

ट्विटर इंडिया के दिल्ली और गुरुग्राम के दफ्तरों पर छापेमारी से पहले दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने आज ही ट्विटर इंडिया को मैनुपुलेटेड मीडिया को लेकर नोटिस भेजा था। नोटिस में ट्विटर से भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के ट्वीट को मैनुपुलेटेड मीडिया बताने के पीछे की वजह पूछी गई थी।

गौरतलब है कुछ दिन पहले सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस पर टूलकिट के माध्यम से मोदी सरकार की आलोचना करने का आरोप लगाया था। इसके बाद कांग्रेस ने इन टूलकिट्स वाले डॉक्यूमेंट्स को फर्जी करार देते हुए दिल्ली और छत्तीसगढ़ में पुलिस में मामला दर्ज करवाया था। 

साथ ही कांग्रेस ने ट्विटर इंडिया को भी संबित पात्रा, स्मृति ईरानी, जेपी नड्डा समेत दर्जन भर भाजपा नेताओं के फर्जी ट्वीट के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी थी। जिसके बाद ट्विटर ने बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा द्वारा टूलकिट को लेकर किए गए ट्वीट को मैनुपुलेटेड मीडिया बताते हुए इसका टैग लगा दिया था।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के ट्वीट को मैनुपुलेटेड बताने के बाद केंद्र सरकार ने भी ट्विटर से कड़ी आपत्ति जताते हुये हाल ही में उससे कहा था कि वह मैनुपुलेटेड टैग को हटाए क्योंकि मामला प्रवर्तन एजेंसियों के समक्ष लंबित है। सरकार ने स्पष्ट तौर पर कहा कि सोशल मीडिया मंच फैसला नहीं दे सकता। वह भी तब जब मामले की जांच जारी हो। सरकार ने ट्विटर से जांच प्रक्रिया में हस्तक्षेप नहीं करने को कहा था। 

पत्रकार राणा अयूब ने ट्वीट करके पूछा है – “ये क्या बकवास हो रहा है। सरकार द्वारा ट्विटर इंडिया कार्यालय पर छापे क्यों मारे जा रहे हैं?” 

इसके जवाब में मोहम्मद आसिफ ख़ान नामक ट्विटर ने लिखा है, “क्योंकि ट्विटर ने बीजेपी नेताओं के दुष्प्रचार वाले ट्वीट्स को “मैनुपुलेटेड मीडिया” के रूप में चिह्नित किया था।”

एक्टिविस्ट रवि नायर ने लिखा है -” कांग्रेस पार्टी के फर्जी लेटरहेड वाले संबित पात्रा के ट्वीट से “हेरफेर मीडिया” टैग को नहीं हटाने के लिए दिल्ली पुलिस ट्विटर इंडिया के कार्यालयों पर छापा मार रही है।

मोदी-शाह की जोड़ी इतिहास में किसी और से ज्यादा भारत का अपमान करेगी।” 

पत्रकार अभिसार शर्मा ने प्रतिक्रिया देते हुये कहा है -” ट्विटर पर छापेमारी? क्या  मोदी सरकार ने आपा खो दिया है? क्या देश की शान और प्रतिष्ठा से परेशान हैं ? आप मेरे देश को हंसी का पात्र बनाना चाहते हैं? इसके नतीजे में बड़ा उलटफेर होगा।

कांग्रेस की प्रतिक्रिया:

कांग्रेस ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की है। महासचिव और प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के फर्जीवाड़े की, फ्रॉड की और फर्जी कागजों से पूरे देश को भ्रमित करने की परतें आए दिन खुलती जा रही हैं। भारतीय जनता पार्टी, उसके प्रवक्ताओं, नेताओं ने और आधा दर्जन मंत्रियों ने एक फर्जी टूलकिट का कागज जगजाहिर किया। अब जब छत्तीसगढ़ की पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया, जब ऑल्ट न्यूज़ ने उस ढोल की पोल खोल दी और फर्जीवाड़ा साबित कर दिया, जब ट्विटर ने भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ताओं और नेताओं के ट्विटर हैंडल पर मैनिपुलेटेड़ (manipulated) मीडिया की मोहर लगा दी, तो अब सरकार छटपटा गई।

और आज जो पहले देश में कभी नहीं हुआ, वो हुआ। अब ट्विटर के दिल्ली और गुरुग्राम के दफ्तरों पर रेड मरवाकर भारतीय जनता पार्टी की सरकार सोशल मीडिया के ट्विटर और दूसरे प्लेटफ़ार्मों को ड़राने का घिनौना प्रयास कर रही है।

मोदी जी, ये जान लें, जब भारतीय जनता पार्टी के लोग फर्जीवाड़ा कर रहे थे, तो सरकार उनके संरक्षण में क्यों खड़ी है? इंटर मीडिया रूल्स तो 25 मई, 2021 से लागू होंगे, आज तो वो लागू ही नहीं। तो किस धारा या कानून के तहत दिल्ली पुलिस नोटिस जारी कर रही थी? और अब जब 6-6 कैबिनेट के मंत्री समेत आईटी के मंत्री रविशंकर प्रसाद, जिन्होंने इस ट्विटर हैंडल को इस मैनिपुलेटेड़ मीडिया को यूज किया था, जब उनकी ढोल की पोल खुलती नजर आई, तो अब दिल्ली पुलिस के पीछे पूरी भारतीय जनता पार्टी की सरकार खड़ी हो गई है।

जान लें इस देश के नौजवान, इस देश के युवा, इस देश के लोग इस प्रकार से जबरन जुबान पर ताला लगाने की कोशिश जो है, उसमें आप कभी कामयाब नहीं होंगे। आप युवाओं की, इस देश के सोशल मीडिया प्लेटफार्म की जुबान बंद नहीं कर सकते। आपका फर्जीवाड़ा साबित हो गया है और इसकी सजा भाजपा के नेताओं को अवश्य मिलेगी।

You May Also Like

More From Author

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments