Subscribe for notification

यूपी में फिर आया हैवानी चेहरा सामने, उन्नाव की रेप पीड़िता को जला कर मारने की कोशिश

देश में बेटियां खतरे में हैं। बलात्कारी रेप करने के बाद जला देने पर आमादा हैं। अभी हैदराबाद और बिहार के रेप और जलाने की आग ठंडी भी नहीं पड़ी थी कि एक उत्तर प्रदेश के उन्नाव में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां बेखौफ दबंगों ने रेप पीड़ित एक लड़की को ज़िंदा जलाने की कोशिश की। आग से पीड़िता 90 प्रतिशत तक जल गई है। अहम बात यह है कि मदद के लिए पीड़िता एक किलोमीटर तक पैदल गई।

आग से जल रही लड़की ने चश्मदीद के फोन से खुद पुलिस को बुलाया और पुलिस उसे अस्पताल ले गई। गंभीर हालत में लड़की को लखनऊ के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसकी गंभीर हालत को देखते हुए अब उसे एयर एंबुलेंस से दिल्ली ले जाया जा रहा है। अस्तपताल से एयरपोर्ट तक ले जाने के लिए लखनऊ पुलिस को ग्रीन कॉरिडोर बनाने का निर्देश दिए गए। पुलिस ने नामजद सभी पांच अभियुक्तों को गिरफ़्तार कर लिया है।

उन्नाव रेप और दबंगों की वजह से एक बार फिर चर्चा में है। यहां इससे पहले रेप पीड़ित एक लड़की को ट्रक से कुचलकर मारने की कोशिश हो चुकी है। इस मामले में स्थानीय विधायक कुलदीप सेंगर समेत कुछ अन्य लोग जेल में बंद हैं। पीड़ित लड़की महीनों अस्पताल में भर्ती रही थी और अब यह दूसरा मामला सामने है।

इस नए मामले में पीड़िता के साथ मार्च में रेप हुआ था। पीड़िता ने दो लोगों के ख़िलाफ़ रेप का मामला दर्ज कराया था। यह लड़का जेल भी गया था और अभी कुछ दिन पहले ही ज़मानत पर छूट कर वापस आया था। जेल से छूटकर आने के बाद से उसके हौसले बढ़े हुए थे।

पूरे मामले में पुलिस की कार्य प्रणाली सवालों के घेरे में है। पीड़ित परिवार ने मीडिया को बताया कि अभियुक्त जेल से बाहर आने के बाद से ही लगातार उन्हें धमकी दे रहे थे। यही नहीं उसने इससे पहले भी कई बार हमले की कोशिश की थी। लड़की के पिता ने मीडिया से कहा कि कम से एक दर्जन बार उन लोगों ने केस वापस लेने के लिए उन्हें धमकाया था।

आईजी एसके भगत ने मीडिया को बताया है कि पीड़ित लड़की ने जिन लोगों को अभियुक्त बनाया है, उनमें वह लड़का भी शामिल है जिसके ख़िलाफ़ पीड़ित लड़की ने बलात्कार का मुक़दमा दर्ज कराया था।

बताया जा रहा है कि लड़की मार्च में हुए रेप के मुक़दमे के सिलसिले में रायबरेली जाने के लिए निकली थी। स्टेशन जाते समय पांच लोगों ने रास्ते में ही उसे पकड़ लिया। पहले उसके सर पर डंडा मारा और उसे चाकू मारकर भी घायल कर दिया। इसके बाद उसके ऊपर पेट्रोल डालकर ज़िंदा जलाने की कोशिश की।

उधर, सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि पीड़ित लड़की का हरसंभव इलाज कराया जाए और उसका सारा ख़र्च सरकार वहन करेगी।

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने राज्य सरकार की आलोचना की है। प्रियंका ने ट्वीट किया है, ‘कल देश के गृह मंत्री (अमित शाह) और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री (योगी आदित्यनाथ) ने साफ़-साफ़ झूठ बोला कि यूपी की क़ानून व्यवस्था अच्छी हो चुकी है। यहां हर रोज़ ऐसी घटनाओं को देखकर मन में रोष होता है। बीजेपी नेताओं को अब फ़र्ज़ी प्रचार से बाहर निकलना चाहिए।’

This post was last modified on December 5, 2019 9:53 pm

Share
Published by
Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi