Monday, October 25, 2021

Add News

तन्मय के तीर

ज़रूर पढ़े

कोविड वैक्सीनेशन के पहले चरण में हेल्थ वर्करों का टीकाकरण किया गया है। दो दिन बीत जाने के बाद 447 से ज्यादा विपरीत रिपोर्टें दर्ज की गयी हैं। टीकाकरण के तकरीबन आधे घंटे बाद एम्स के सिक्योरिटी गार्ड को आईसीयू में भर्ती कराना पड़ा तो आज मुरादाबाद से एक वार्ड ब्वॉय के मौत की खबर आ रही है। हालांकि प्रशासन दोनों घटनाओं को उससे जोड़ने से इंकार कर रहा है। लेकिन हकीकत यही है कि ‘कोवैक्सीन’ का टीका देने से पहले स्वास्थ्य प्रशासन लाभार्थी से एक ऐसे फार्म पर हस्ताक्षर करवा रहा है जिसमें साफ-साफ लिखा है कि यह इंजेक्शन ट्रायल के अपने तीसरे फेज में है। और वह अपनी मर्जी से इसको ले रहा है। यानी पहले चरण के लाभार्थियों में टीके के प्रभावों और दुष्प्रभावों का पता लगाने के लिए हमें अभी कुछ दिन का और इंतजार करना होगा। इसकी इन्हीं खामियों का नतीजा था कि दिल्ली के आरएमएल के डाक्टरों ने इंजेक्शन लेने से इंकार कर दिया। बहरहाल शासक के लिए जब अपनी कुर्सी और राजनीति सबसे ऊपर हो जाए तो दूसरी चीजें गौड़ हो जाया करती हैं। लेकिन उसका आखिरी खामियाजा जनता को भगुतना पड़ता है। तन्मय ने आज अपने तरकश का एक तीर इस पर भी छोड़ा है।   

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

तो पंजाब में कांग्रेस को ‘स्थाई ग्रहण’ लग गया है?

पंजाब के सियासी गलियारों में शिद्दत से पूछा जा रहा है कि आखिर इस सूबे में कांग्रेस को कौन-सा...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -