Subscribe for notification

विनोद दुआ मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, जांच पर रोक से इंकार लेकिन गिरफ्तारी से मिली राहत

नई दिल्ली। पत्रकार विनोद दुआ का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। आज रविवार होने के बावजूद मामले की सुनवाई हुई। कोर्ट ने शिमला पुलिस के उस निर्देश पर स्टे लगाने से मना कर दिया जिसमें उसने सीआरपीसी के सेक्शन 160 के तहत विनोद दुआ को जांच के लिए अपने सामने पेश होने के लिए कहा था।

जांच पर रोक लगाने से इंकार करते हुए बेंच ने कहा कि जांच करने वाली एजेंसियों (हिमाचल पुलिस) को पूछताछ करने से 24 घंटे पहले दुआ को नोटिस देनी होगी। हालांकि कोर्ट ने इस बात के निर्देश दिए कि दुआ को अगली सुनवाई की तारीख 6 जुलाई तक गिरफ्तार नहीं किया जा सकता है। पुलिस उनके घर पर उनसे पूछताछ कर सकती है।

इसके साथ ही कोर्ट ने राज्य सरकार से मामले की स्टेटस रिपोर्ट मांगी है। जस्टिस यूयू ललित, जस्टिस मोहन शांतागौदर और विनीत सरन की एक बेंच ने केंद्र, हिमाचल प्रदेश और पुलिस को एक नोटिस भेजी है। मामले की अगली सुनवाई 6 जुलाई को होगी।

आपको बता दें कि पत्रकार दुआ को बीजेपी नेता अजय श्याम की ओर से दर्ज कराए गए देशद्रोह के एक मुकदमे में शिमला पुलिस ने समन किया था। दुआ के वकील विकास सिंह द्वारा दबाव डालने के बाद भी बेंच ने जांच पर रोक लगाने से इंकार कर दिया।

विकास सिंह ने कहा कि “अगर दुआ ने जो कहा है वह राजद्रोह है तब इस देश में केवल दो चैनल काम कर सकते हैं।”

जब विकास सिंह ने कहा कि बीजेपी नेता जिसने मामले में शिकायत की है वह केवल सत्तारूढ़ दल के हाथ की केवल कठपुतली है इस पर बेंच ने उनसे कहा कि कृपया इस तरह के विशेषण का इस्तेमाल न करें। इसकी कोई जरूरत नहीं है।

विनोद दुआ के पास शिमला पुलिस का समन दो दिन पहले आया था। इमसें दिल्ली दंगों पर यूट्यूब शो में अपनी खबरों के जरिये फेक न्यूज फैलाने का आरोप लगाया गया है।

11 जून को दिल्ली हाईकोर्ट ने अस्थाई रूप से दुआ के खिलाफ जांच पर रोक लगायी थी।

इसी तरह का एक एफआईआर बीजेपी नेता नवीन कुमार द्वारा दुआ के खिलाफ दिल्ली में भी दर्ज करायी गयी थी। जिसमें दुआ पर दंगों के दौरान अपने यूट्यूब शो के जरिये अफवाह और झूठ फैलाने का आरोप लगाया गया था।

(लाइव लॉ से कुछ इनपुट लिए गए हैं।)

Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi

Leave a Comment
Disqus Comments Loading...
Share
Published by

Recent Posts

कृषि विधेयक के मसले पर अकाली दल एनडीए से अलग हुआ

नई दिल्ली। शनिवार को शिरोमणि अकाली दल (एसएडी) ने बीजेपी-एनडीए गठबंधन से अपना वर्षों पुराना…

1 hour ago

कमल शुक्ला हमला: बादल सरोज ने भूपेश बघेल से पूछा- राज किसका है, माफिया का या आपका?

"आज कांकेर में देश के जाने-माने पत्रकार कमल शुक्ला पर हुआ हमला स्तब्ध और बहुत…

4 hours ago

संघ-बीजेपी का नया खेल शुरू, मथुरा को सांप्रदायिकता की नई भट्ठी बनाने की कवायद

राम विराजमान की तर्ज़ पर कृष्ण विराजमान गढ़ लिया गया है। कृष्ण विराजमान की सखा…

4 hours ago

छत्तीसगढ़ः कांग्रेसी नेताओं ने थाने में किया पत्रकारों पर जानलेवा हमला, कहा- जो लिखेगा वो मरेगा

कांकेर। वरिष्ठ पत्रकार कमल शुक्ला कांग्रेसी नेताओं के जानलेवा हमले में गंभीर रूप से घायल…

5 hours ago

‘एक रुपये’ मुहिम से बच्चों की पढ़ाई का सपना साकार कर रही हैं सीमा

हम सब अकसर कहते हैं कि एक रुपये में क्या होता है! बिलासपुर की सीमा…

7 hours ago

कोरोना वैक्सीन आने से पहले हो सकती है 20 लाख लोगों की मौतः डब्लूएचओ

कोविड-19 से होने वाली मौतों का वैश्विक आंकड़ा 10 लाख के करीब (9,93,555) पहुंच गया…

11 hours ago