मेरठ के पटाखा फैक्ट्री बलास्ट में मारे गए 5 लोग, मृतक के परिजनों से मिले भाकपा-माले विधायक

Estimated read time 1 min read

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में 17 अक्टूबर को एक साबुन-सह-पटाखा फैक्ट्री की बिल्डिंग में अचानक हुए विस्फोट में बिहार के भोजपुर जिले के 5 मजदूरों की मौत हो गई। 4 मृतक जिले के एक ही गांव चरपोखरी प्रखण्ड अंतर्गत कोयल गांव के थे।

बता दें कि 17 अक्टूबर की सुबह मेरठ के लोहिया नगर में विस्फोट होने के बाद चरपोखरी प्रखंड के कोयल गांव निवासी चार मजदूर झुलस गये। इनमें दो मजदूरों की मौत घटनास्थल पर ही हो गई जबकि दो ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया। मृतक मजदूरों की पहचान चरपोखरी प्रखंड के कोयल गांव निवासी स्व. योगी ठाकुर का पुत्र सुनील ठाकुर, स्व. सागर साह का पुत्र रुपन साह, वीरेन्द्र साह का इकलौता पुत्र प्रयाग साह और ललन रजवार का पुत्र अयोध्या रजवार के रूप में हुई।

परिवारजनों के साथ बैठे माले विधायक

इस बीच 18 अक्टूबर को पीरो प्रखंड के रकटू टोला निवासी चंदन कुमार की भी मौत हो गई। चंदन का ननिहाल कोयल गांव में था। वह विस्फोट में मारे गये रुपन साह का भांजा था। बताया जाता है कि कोयल गांव से चारों युवक गरीबी के कारण मजदूरी करने के लिए चार माह पहले मेरठ साबुन फैक्ट्री में गए थे। लोहिया नगर में साबुन फैक्ट्री की बिल्डिंग में दीपावली को लेकर पटाखा भी बनाया जा रहा था। तभी पटाखों में आग लगने के कारण आधा घंटा के अंतराल पर दो बार जोरदार विस्फोट हुआ। बिल्डिंग धराशायी हो गई। निकट के तीन मकान के बिजली पोल क्षतिग्रस्त हो गये। कई राहगीर घायल हो गये।

घटना की सूचना के बाद मृतकों के परिजन 17 अक्टूबर की रात मेरठ के लिए रवाना हुए थे, उसके बाद शाम सभी शवों को गांव लाया गया। चरपोखरी के कोयल गांव के चार लोगो की हुई मौत, पीड़ित परिवार से मिलने पहुंची भाकपा माले की टीम! प्रत्येक परिवार से मिल शोक-संवेदना प्रकट की!

घटना की जानकारी होते ही अगिआंव के माले विधायक मनोज मंज़िल, चरपोखरी के भाकपा माले के अंचल सचिव महेश सिंह, माले जिला कमिटी सदस्य टेंगर राम, रंजीत यादव, रामाकांत पासवान, रामाकांत सिंह, सुरेंद्र सिंह, गोविंद पासवान, रामचन्द्र राम, भगवान दास परिजनों से मुलाकात की। विधायक ने मुआवजे के लिए आपदा प्रबंधन मंत्री से की बात की और सीएम हाउस को भी दी सूचना दी।

पुलिस और लोकल निवासीयों से बात करते माले विधायक

मनोज मंजिल की पहल पर श्रम विभाग द्वारा प्रत्येक मृतक के आश्रितों को 2-2 लाख रुपये और राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ के तहत 20-20 हजार रुपये की राशि देने सहित सभी मृतकों के आश्रितों को जल्द इंदिरा आवास दिये जाने आश्वासन के साथ ही उसे अमली जामा पहनाने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई।

विधायक मनोज मंज़िल ने कहा कि मुख्यमंत्री राहत कोष से मुआवजा देने के लिए विधानसभा के शीत सत्र में सवाल उठाएंगे। विधायक ने BDO, CO के साथ ब्लॉक में बैठक की और DM से की बात की। उसके बाद सभी अधिकारियों के साथ मृतक के गांव पहुंचे।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours