Wednesday, December 1, 2021

Add News

जनसंहार का ‘आशीष मिश्रा मॉडल’ हुआ चर्चित, कई जगहों पर हुईं घटनाएं

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

दिनदहाड़े जनसंहार का ‘भाजपाई आशीष मिश्रा मॉडल’ चल निकला है। 3 अक्टूबर से 16 अक्टूबर के बीच इस तरह के तीन मामले सामने आ चुके हैं। ताजा मामला भोपाल के बजरिया थाना क्षेत्र का है। जहां कल दुर्गा प्रतिमा विसर्जन जुलूस के दौरान एक कार ने लोगों को टक्कर मार दी, जिससे दो लोग घायल हो गए।

भोपाल के डीआईजी इरशाद वली ने मीडिया बयान में बताया है कि  “इस घटना में घायल हुए शख्स को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों के मुताबिक उसकी हालत स्थिर है। कार चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है और वाहन को जब्त कर लिया गया है। आगे की जांच चल रही है।

इससे पहले 15 अक्टूबर दशहरा के दिन छत्तीसगढ़ के जशपुर के पत्थलगांव इलाके में रायगढ़ रोड पर दशहरे की झांकी निकाल रहे लोगों पर एक तेज रफ्तार कार कुचलते हुए निकल गई। कार की टक्कर से क़रीब 20 लोग घायल हो गए। वहीं हादसे में गौरव अग्रवाल नाम के शख्स की मौत हो गई है।

पुलिस का कहना है कि कार में सवार दोनों व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया गया था। आरोपियों की पहचान बबलू विश्वकर्मा और दूसरे का नाम शिशुपाल साहू के रूप में की गयी। दोनों मूल रूप से मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं। यह दोनों छत्तीसगढ़ से होकर गुजर रहे थे। उसी वक्त रायगढ़ रोड पर झांकी निकल रही थी। हालांकि इतनी भीड़ होने के बावजूद कार की रफ्तार कम न करना कई सवाल पैदा करता है। दुर्घटना से गुस्साए लोगों ने कार का पीछा कर आरोपियों को पकड़ लिया। घटनास्थल पर तनाव पैदा हो गया था। हालांकि बाद में वहां पुलिस पहुंच गई।

घटना के बाद एएसआई केके साहू को तत्काल निलंबित कर दिया गया है। थाना प्रभारी संतलाल आयाम को लाइन हाजिर कर दिया गया है। साथ ही पूरी घटना की कमेटी बनाकर जांच कराने की सिफारिश की गई है। वहीं स्थानीय लोगों ने आशंका जताई है कि कार के अंदर गांजा भरा हुआ था। साथ ही लोगों ने कहा कि वाहन चालक भी नशे में था।

इससे पहले 3 अक्टूबर को केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष मिश्र ने काला झंडा दिखाकर लौट रहे किसानों के समूह पर तिकुनिया में पीछे से गाड़ी चढ़ाकर 4 किसानों और एक पत्रकार की हत्या कर दी थी। जबकि उस घटना में कई किसान गंभीर रूप से घायल हो गये थे। विरोध करने वाले किसानों पर पीछे से गाड़ी चढ़ाकर सामूहिक हत्या करने के बिल्कुल नये तरीके को ‘भाजपाई आशीष मिश्रा जनसंहार मॉडल’ के तौर पर दुनिया के सामने आया है। किसानों को गृह राज्य मंत्री ने 25 सितंबर को सार्वजनिक मंच से धमकी दी थी।

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

कृषि कानूनों में काला क्या है-11: केरल में एमएसपी से बाहर हैं नारियल, काजू, रबर, चाय, कॉफी और मसाले

तीनों काले कृषि कानून वापस हो चुके हैं। 29 नवम्बर को कानून वापसी का प्रस्ताव संसद के दोनों सदनों...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -