Tuesday, March 5, 2024

उत्तर प्रदेश में दलित महिला से बलात्कार, शव को तीन टुकड़ों में काटा

नई दिल्ली। योगी राज में दलित उत्पीड़न और बलात्कार की घटनाओं में कमी नहीं आ रही है। मंगलवार को बांदा जिले से दिल को दहला देने वाली एक घटना सामने आई है। जहां दलित समुदाय की एक महिला से बलात्कार के बाद उसकी हत्या कर दी गई। और उसके शरीर को तीन टुकड़े कर दिए।

पुलिस ने कहा कि यहां एक गांव में 40 वर्षीय दलित महिला की कथित तौर पर बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई और उसके शरीर को टुकड़ों में काट दिया गया। आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है, अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है, क्योंकि आरोपी फरार हैं। घटना गिरवां थाना क्षेत्र के एक गांव की है।

गिरवां थाना प्रभारी संदीप तिवारी ने गुरुवार को बताया कि मंगलवार को महिला राजकुमार शुक्ला के घर उनकी आटा चक्की साफ करने गई थी। जब उनकी 20 वर्षीय बेटी वहां पहुंची, तो उसने एक कमरे से अपनी मां की चीखें सुनीं, जो अंदर से बंद था। उन्होंने बताया कि कुछ देर बाद जब कमरे का दरवाजा खुला तो बच्ची ने मां का शव तीन टुकड़ों में पड़ा देखा और पुलिस को सूचना दी।

थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी राजकुमार शुक्ला, उनके भाई बउवा शुक्ला और रामकृष्ण शुक्ला के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई। थाना प्रभारी संदीप तिवारी का कहना है कि परिजनों की तहरीर पर 3 लोगों के खिलाफ 302/ 376 सहित SC/ST के तहत केस दर्ज किया गया है।

घटनास्थल पर भीम आर्मी के लोगों ने किया हंगामा

दलित महिला होने के चलते भीम आर्मी के नेता भी पहुंचे और पुलिस से इस मामले की गहराई से जांच करने की मांग की। परिजनों के मुताबिक महिला पड़ोस में एक चक्की घर में लिपाई-पुताई का काम करने के बहाने बुलाया और उसकी हत्या कर दी। बगैर कपड़ों के कई टुकड़ों पर पड़ा हुआ था। मृतिका की बेटी ने आरोप लगाया कि उसकी मां के साथ रेप के बाद हत्या की गई है। भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं और परिजनों ने मौके पर हंगामा करते हुए आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

पुलिस महिला की मौत को हदसा बता रही है

घटनास्थल पर पुलिस के बड़े अधिकारी फॉरेंसिक टीम के साथ पहुंचे और जांच की। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पुलिस इस घटना को हादसा बता रही है। क्षेत्राधिकारी नितिन कुमार ने बताया कि 40 वर्षीय महिला पड़ोस की एक चक्की में काम कर रही थी और चक्की की चपेट में आ गई और उसकी मौत हो गई।

अखिलेश यादव ने कहा कि महिलाएं डरी हुई हैं

समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने इस घटना को लेकर राज्य सरकार पर हमला बोला है। सोशल मीडिया एक्स पर हिंदी में एक पोस्ट में, यादव ने कहा, “बांदा में एक दलित के साथ बलात्कार और जघन्य हत्या की खबर दिल दहला देने वाली है। उत्तर प्रदेश की महिलाएं डरी हुई हैं और गुस्से में भी हैं।”

पूर्व मुख्यमंत्री ने आईआईटी-बीएचयू की एक छात्रा के कपड़े उतारने और अश्लील वीडियो रिकॉर्ड करने की कथित घटना का भी जिक्र किया।

उन्होंने कहा, “आईआईटी-बीएचयू की एक छात्रा के साथ अभद्रता के बाद उसे निर्वस्त्र कर वीडियो बनाने की घटना उत्तर प्रदेश की कानून-व्यवस्था के चेहरे पर तमाचा है और भाजपा के जीरो टॉलरेंस के बड़े झूठ को उजागर करती है।”

यादव ने कहा, “उत्तर प्रदेश की महिलाओं का भाजपा सरकार से भरोसा पूरी तरह उठ चुका है। अब इस सरकार से कोई भी उम्मीद बेमानी है।”

सपा प्रमुख ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर आईआईटी-बीएचयू के छात्रों द्वारा किए जा रहे विरोध प्रदर्शन का एक वीडियो साझा किया।

(जनचौक की रिपोर्ट।)

जनचौक से जुड़े

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest Updates

Latest

Related Articles