Monday, October 25, 2021

Add News

सेना

म्यांमार में सेना की ‘कब्जेदारी’ से हमेशा संकट में रहा है लोकतंत्र

म्यांमार! यह मुल्क 1948 में आजाद तो हो गया, परंतु इस आजादी को कायम रखने की जद्दोजहद हमेशा बनी रही। आजादी के दशकों गुजर जाने के बाद भी इस मुल्क में लोकतंत्र कभी स्थायी नहीं रहा। कभी लोकशाही तो...

स्पार्टाकसः गुलामों की सेना ने हिला दी थी रोम की चूलें

हावर्ड फॉस्ट के कालजयी उपन्यास स्पार्टाकस का हिंदी अनुवाद अमृत राय ने आदिविद्रोही शीर्षक से किया है। मैं इस अनुवाद को मानक मानता हूं। अच्छा अनुवाद वह है जो मौलिक सा ही मौलिक लगे। यह दास प्रथा पर आधारित...

राहुल ने फिर उठाया सेना की सहूलियतों का सवाल, सामने आए वीडियो से बवंडर के आसार

राहुल गांधी ने चीन से सीमा विवाद के मुद्दे के बहाने सेना को मिलने वाली सहूलियतों का मामला उठाया है। उन्होंने जवानों का एक वीडियो ट्वीट कर पीएम के 8400 करोड़ के हवाई जहाज़ की खरीद पर सवाल खड़ा...

अज़ैरबाइजान: आर्मेनिया के अत्याचार का बेबस शिकार

अज़ैरबाइजान और आर्मेनिया के बीच 36 नहीं 27 का आंकड़ा है। हम कह सकते हैं कि आर्मेनिया ने अज़ैरबाइजान के मान्य नक्शे के 27 प्रतिशत भूभाग पर शुरू से कब्जा कर रखा है और पिछले महीने 27 सितंबर को...
- Advertisement -spot_img

Latest News

एक्टिविस्ट ओस्मान कवाला की रिहाई की मांग करने पर अमेरिका समेत 10 देशों के राजदूतों को तुर्की ने ‘अस्वीकार्य’ घोषित किया

तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन ने संयुक्त राज्य अमेरिका, जर्मनी, फ़्रांस, फ़िनलैंड, कनाडा, डेनमार्क, न्यूजीलैंड , नीदरलैंड्स, नॉर्वे...
- Advertisement -spot_img