Saturday, October 16, 2021

Add News

arundhati

हम जेब में लेकर नहीं घूम सकते हैं अपना दुश्मन: पेगासस पर अरुंधति रॉय

भारत में मौतों की मनहूसी का मौसम बड़ी तेज़ी से जासूसी के मौसम में बदलता हुआ दिखाई दे रहा है। कोरोना वायरस की दूसरी लहर उतर गई है, और अपने पीछे छोड़ गई है अंदाज़न 40 लाख भारतीयों की मौतें।...

न्यायिक हिरासत साईबाबा के लिए रोजाना का टॉर्चर है: अरुंधति रॉय

प्रसिद्ध लेखिका अरुंधति रॉय ने कहा है कि किसी आरोपित को जब पुलिस हिरासत में रखा जाता है तो पुलिस कस्टडी में इंटरोगेशन के नाम पर ज़्यादा टॉर्चर होता है। हमारे देश में क़ानून सबके लिए एक बराबर नहीं है।...

जुझारू तरीके से लड़ा जाए और खूबसूरत तरीके से जीता जाए, नफरत के खिलाफ मुहब्बत की लड़ाई: अरुंधति

(कल पुणे में एलगार परिषद की बैठक आयोजित की गयी थी। जिसमें तमाम बुद्धिजीवियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, मानवाधिकार कर्मियों के साथ मशहूर लेखिका अरुंधति रॉय ने भी हिस्सा लिया। इस मौक़े पर हिंदी में दिया गया उनका भाषण जिसका अनुवाद...

लेखिका अरुंधति ने टिकरी जाकर जताई किसानों के साथ एकजुटता, कहा- आपने समझाया पूरे देश को एकता का अर्थ

(विख्यात लेखिका और सामाजिक-कार्यकर्ता अरुंधती रॉय ने दिल्ली में टीकरी बार्डर स्थित किसान आन्दोलन के संयुक्त दिल्ली मोर्चा से कल अपनी बात कही। उनके संबोधन का लिप्यान्तरण आप सब के लिये प्रस्तुत है-संपादक) इन्कलाब ! जिंदाबाद-जिंदाबाद !! मुझे यहाँ बहुत पहले आना...

हिंदू राष्ट्रवाद का खौफ़नाक मंजर पेश करती है अरुंधति की किताब ‘आज़ादी’

अरुंधति रॉय भारत की उन चंद लेखकों में हैं, जिनकी समकालीन भारत की नब्ज़ पर उंगली है और जो भारत की हर धड़कन को कान लगाकर सुनती हैं और उसे अभिव्यक्त करने की कोशिश करती हैं। आज का भारत...

अरुंधति रॉय को शांति के लिए कोरिया का साहित्यिक ग्रैंड लॉरेट पुरस्कार

शांति के लिए ली हो छ साहित्यिक पुरस्कार की चयन समिति (एलएलपीपी) और युनपिंयोंग जू डिस्ट्रिक्ट ऑफिस ने अरुंधति रॉय को इस साल के ग्रैंड लॉरेट के रूप में चुना है। एलएलपीपी एक अंतरराष्ट्रीय साहित्यिक पुरस्कार है जो कोरिया गणराज्य में...

किताब को पाठ्यक्रम में बनाए रखने के लिए लड़ना मेरा कर्तव्य नहीं: अरुंधति रॉय

नई दिल्ली।(मशहूर लेखिका अरुंधति रॉय की किताब 'वाकिंग विद द कॉमरेड्स' को तमिलनाडु के मनोमणियम सुंदरानर विश्वविद्यालय के पाठ्यक्रम से हटा दिया गया है। विश्वविद्यालय प्रशासन ने यह फैसला संघ से जुड़े संगठन विद्यार्थी परिषद के दबाव में लिया...

लेखक, छात्र, राजनेता, मजिस्ट्रेट और जज सभी फ़ासीवाद के खिलाफ एकजुट हों: अरुंधति रॉय

नई दिल्ली। चर्चित लेखिका और सामाजिक कार्यकर्ता अरुंधति राय ने लेखकों, छात्रों, राजनेताओं, मजिस्ट्रेटों, जजों सभी से फ़ासीवाद के खिलाफ एकजुट हो जाने की अपील की है। उन्होंने कहा कि पूरा समाज सड़ चुका है। देश का हर अंग...

फ़ासीवाद की बेड़ियां और आज़ादी का मतलब

आज़ादी के बाद जो लोग अब तक यह सोचते रहे कि चिंतन और चुनाव के लिए मनुष्य आज़ाद है और उसकी यह आज़ादी ही उनके चिंतन का मूल है या फ़िर जिन्होंने ऐसा कभी सोचा ही नहीं और हमेशा...
- Advertisement -spot_img

Latest News

जलवायु सम्मेलन से बड़ी उम्मीदें

जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र का 26 वां सम्मेलन (सीओपी 26) ब्रिटेन के ग्लास्गो नगर में 31 अक्टूबर से...
- Advertisement -spot_img

Log In

Or with username:

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy

Add to Collection

No Collections

Here you'll find all collections you've created before.