Saturday, January 22, 2022

Add News

assam

बीजेपी शासित कई राज्यों में चर्चों पर हमले, हरियाणा में एक सदी पुरानी जीसस की मूर्ति तोड़ी

भारत के संविधान का अनुच्छेद 25-28 धार्मिक स्वतंत्रता को मौलिक अधिकार के रूप में मान्यता देता है लेकिन इस समय देश में संविधान का शासन नहीं बल्कि फासीवादी आरएसएस के पोलिटिकल विंग भाजपा का शासन है जिसकी बागडोर मोदी-शाह...

देश में किसी व्यक्ति को एक ही कार्यकाल के लिए प्रधानमंत्री होना चाहिए: अरुंधति रॉय

आज जब हम नई दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया पर दिल्ली पुलिस के हमले के दो साल पूरे होने को याद कर रहे हैं, तो हमें सीएए-एनआरसी से बात शुरू करनी चाहिए। हमें यह याद करने की ज़रूरत है...

नगालैंड हत्याकांड से नंगा हो गया ‘भारतीय गणराज्य’ का असली चेहरा

अभी पिछले 4 दिसंबर 2021 दिन शनिवार को नगालैंड राज्य के भारत-म्यांमार के एक सीमावर्ती जिले मोन के ओटिंग गांव में 21असम पैरा मिलिट्री स्पेशल फोर्स के जवानों ने अफस्पा यानी आर्म्ड फोर्स स्पेशल पॉवर एक्ट के तहत मिले...

नार्थ ईस्ट डायरी: कृषि कानून निरस्त होने के बाद असम में सीएए विरोधी आंदोलन फिर से शुरू करेंगे जन संगठन

तीन विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त करने के नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के फैसले के बाद असम में एक बार फिर से सीएए (नागरिकता संशोधन अधिनियम) के विरोध की आवाज गूंज रही है और राजनीतिक दलों सहित...

मणिपुर में आतंकी हमले में असम राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर, उनके परिवार के दो सदस्य और चार जवान शहीद

मणिपुर के चुराचांदपुर जिले में शनिवार को सुरक्षा बल के काफिले पर हुए उग्रवादियों के भारी हमले में 46 असम राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर, उनके परिवार के दो सदस्य और चार जवान शहीद हो गए। हमले में पांच जवान...

नॉर्थ ईस्ट डायरी: असम हिंसा पर गुवाहाटी हाईकोर्ट ने कहा- खून जमीन पर गिर गया है

गुवाहाटी उच्च न्यायालय ने गुरुवार को कहा, "खून जमीन पर गिर गया है।" इसने असम सरकार को दरांग जिले के सिपाझार में बेदखली अभियान के दौरान पिछले महीने की झड़पों पर एक विस्तृत हलफनामा दायर करने का निर्देश दिया...

असम में दिखी घृणा और नफरत की इंतिहा

असम के सिपाझार में हाल में हुई घटना, हम सब ऐसे लोगों के लिए आंखें खोलने वाली है जो मानवता और बंधुत्व के मूल्यों में आस्था रखते हैं। वहां बीजोय बेपारी नाम का एक फोटोग्राफर, पुलिस की मौजूदगी में...

दरांग जिले में सरकार पुलिस कार्रवाइयों पर तत्काल लगाए रोक: संगठन

असम के दरांग जिले के सीपाझार के गरुखुटी में अमानवीय निष्कासन और राज्य प्रायोजित हत्या पर कई जनवादी संगठनों ने संयुक्त वक्तव्य जारी करके घटना की निंदा की है। संयुक्त वक्तव्य में संगठनों ने कहा है कि हम अधोहस्ताक्षरी...

बर्बर पुलिसिया नरसंहार के लिए जिम्मेदार असम के मुख्यमंत्री तत्काल इस्तीफा दें: सीपीआई (एमएल)

नई दिल्ली। सीपीआई एमएल ने दरांग जिले के मुस्लिम तबके पर किए गए बर्बर पुलिसिया बहशीपन की कड़े शब्दों में भर्त्सना की है। पार्टी ने इसको प्रायोजित करने वाले मुख्यमंत्री हेमंत विश्व सर्मा से तत्काल इस्तीफे की मांग की...

यह सीरिया नहीं, भारत की तस्वीर है! दृश्य ऐसा कि हैवानियत भी शर्मिंदा हो जाए

इसके पहले फ्रेम में सात पुलिस वाले दिख रहे हैं। सात से ज़्यादा भी हो सकते हैं। सभी पुलिसवालों के हाथ में बंदूकें हैं। सबने बुलेट प्रूफ जैकेट पहन रखे हैं। तरह-तरह की आवाज़ें आ रही हैं। तड़-तड़ गोलियों...
- Advertisement -spot_img

Latest News

आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट ने घोषित किए विधानसभा प्रत्याशी

लखनऊ। सीतापुर सामान्य से पूर्व एसीएमओ और आइपीएफ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. बी. आर. गौतम व 403 दुद्धी (अनु0...
- Advertisement -spot_img