Monday, July 4, 2022

casteism

दो किस्म के जातिवाद ने भाजपा को जिताया

उत्तर प्रदेश के चुनाव-नतीजों से दो बातें स्पष्ट पता चल रही हैं, एक, यह कि लोकतंत्र अभी हारा नहीं है, क्योंकि भाजपा-गठबंधन को 42 प्रतिशत वोट मिला है, यानी 58 प्रतिशत वोट भाजपा के विरोध में पड़ा है, और...

बंगाल पर फतेह पाने को इतनी बेताब क्यों है भाजपा!

भाजपा बंगाल पर फतह पाने को इतनी बेताब क्यों है? लोकतंत्र में चुनाव होना एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया है और कोई दल सत्ता में आता है तो कोई विपक्ष में बैठता है। पर यहां तो सवाल फतेह का है, क्योंकि...

वैदिक आरक्षण बनाम संवैधानिक आरक्षण: संदर्भ आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी

सर्वोच्च न्यायालय द्वारा पूछा जाना कि यह आरक्षण कितनी पीढियों तक चलेगा, चर्चा और बहुजन समाज के लिए चिंता का विषय बन गया है। आइए आरक्षण के विषय पर बात करते हैं। जिस जाति व्यवस्था के चलते संवैधानिक आरक्षण...

‘उनकी’ पहचान कपड़ों से नहीं उनके विचारों से होगी

उनकी पहचान कपड़ों से नहीं उनके विचारों से होती है। वे उदारवाद का मुखौटा लगाकर आपके आसपास मंडराते हैं। वे बढ़-चढ़कर देश के विकास की बातें करेंगे मगर किसी भी तरह के विरोध और प्रतिरोध पर वे नाक-भौं सिकोड़ते...

पंजाब, जहां दलित होना गुनाह है!

जातिवादी हिंसा का वहिशाना शिकार हुए पंजाब के संगरूर जिले के चंगालीवाल गांव के दलित युवक जगमाल सिंह जग्गा हत्याकांड ने सूबे को सकते में तो डाला ही है, साथ ही पुराने कुछ सवालों को भी नए सिरे से...
- Advertisement -spot_img

Latest News

उदयपुर, कश्मीर आरोपियों के भाजपा से रिश्तों पर इतनी हैरत किस लिए है?

उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की गला काटकर हत्या करते हुए खुद ही उसका वीडियो बनाने वाले  मोहम्मद रियाज अत्तारी के...
- Advertisement -spot_img