Wednesday, October 27, 2021

Add News

climate

ख़ास रिपोर्ट: एक साल में तीन-तीन आपदाओं से लकवाग्रस्त हो गया है उत्तराखंड

16 अक्टूबर को उत्तराखंड में अच्छी धूप खिली हुई थी और मौसम बेहद सुहावना था। इस साल मानसून लंबा चला था और राज्य में सूरज ने काफी लंबे अर्से से आँख-मिचौली खेलने के बाद अब खुलकर अपने दर्शन दिए...

कहर साबित हुई उत्तराखंड में बेमौसम बारिश

अत्यधिक वर्षा, भूस्खलन और तबाही, जलवायु परिवर्तन के लक्षण साफ हैं। पर हम जलवायु-परिवर्तन को लेकर बड़ी-बड़ी बातें करते हैं, बड़े-बड़े समाधान के बारे में सोचते हैं, लेकिन उसके स्थानीय लक्षणों से छोटे-छोटे सबक नहीं लेते। हम पतली, दो...

उत्तराखंड: आपदाओं को हमने खुद दिया है आमंत्रण

कहते हैं पहाड़ों पर गाड़ी चलाते मोड़ों में हॉर्न का प्रयोग करें पर जिस तरह से इस साल पहाड़ी प्रदेश उत्तराखंड ने मनुष्य द्वारा पर्यावरण के साथ करी गई छेड़छाड़ का नतीज़ा भयंकर आपदाओं के रूप में देखा है...

बेहद अहम है जलवायु वैज्ञानिकों को नोबेल पुरस्कार मिलना

पहली बार नोबेल पुरस्कार जलवायु विज्ञानी को दिया गया है। भौतिकशास्त्र के लिए निर्धारित नोबेल पुरस्कार तीन मौसम वैज्ञानिकों के बीच बांटा गया है। जलवायु वैज्ञानिक स्युकुरो मनाबे और क्लॉस हसेलमैन को संयुक्त रूप से आधा नोबेल पुरस्कार दिया...

अमिताभ घोष का नया उपन्यासः जलवायु-परिवर्तन,शरणार्थी और संक्रमण जैसी जटिल चुनौतियों की दिलचस्प गाथा

यह एक ऐसा उपन्यास है, जिसका कथानक दुनिया के चार महाद्वीपों में फैला है! इसके चरित्र भी कई देशों से हैं। लेकिन अलग-अलग देशों-क्षेत्रों, धर्मों-जातियों, वर्गों और पेशों की विविधता के साथ उऩकी कुछ बड़ी समस्याओं में एकरूपता हैं।...

और इस तरह जलवायु परिवर्तन के प्रश्नों पर बनता गया मेरा ज्ञान तंत्र

नदियों और जल के बारे में अनुपम मिश्र से कितना कुछ जाना। उनके संपर्क के कारण इस विषय से जुड़े कई बेहतरीन लोगों से मिला। चंडी प्रसाद भट्ट जी के संपर्क में आया, उनके काम को जाना। अनुपम जी के कारण...
- Advertisement -spot_img

Latest News

भाई जी का राष्ट्र निर्माण में रहा सार्थक हस्तक्षेप

आज जब भारत देश गांधी के रास्ते से पूरी तरह भटकता नज़र आ रहा है ऐसे कठिन दौर में...
- Advertisement -spot_img