Saturday, October 23, 2021

Add News

coalition

सीपी कमेंट्री: नेतेन्याहू से मिली इजराइल को निजात, लेकिन नई सरकार पर भी संशय बरकरार

बार-बार के चुनाव, हर चुनाव के बाद नये सिरे से नई सरकार के गठन और नवीन से नवीनतम सरकार तक के भी शीघ्र पतन के देश का नाम इजराइल है जिसकी दुनिया में अजूबा ‘चक्रवार‘ (रोटेशनल) हुकूमत के मॉडल...

बिहार नतीजों को चूक नहीं, विपक्ष की उपलब्धि की नज़र से देखा जाना चाहिए: कविता कृष्णन

(कविता कृष्णन राष्ट्रीय स्तर पर एक जाना पहचाना नाम है। पिछले दिनों तमाम आंदोलनों से जो कुछ चेहरे सामने आए हैं उनमें कविता कृष्णन का स्थान प्रमुख है। सिविल सोसाइटी के आंदोलनों में सक्रिय दखल रखने वाली कविता वामपंथी...

सड़क की लड़ाइयों में उतारनी होगी चुनावी सभाओं में दिखने वाली भीड़!

मुंबई में रहने वाली मित्र Alpana Upadhyay बिहार के चुनाव परिणामों और वहां पर उठे सवालों पर मेरी पोस्ट के जवाब में कहती हैं, “देश की जनता भूखी नहीं मूर्ख है, और बिहार चुनाव से यह साबित भी हो...

चुनाव में कल्पित शुद्धतावाद की अपेक्षा क्यों?

बिहार चुनाव में मुख्यतः दो गठबंधन हैं। राजद, कांग्रेस और वामदलों वाला महागठबंधन और सत्ता में मौजूद नीतीश कुमार की जदयू और भाजपा के नेतृत्व वाला राजग। एक तीसरा कोण बनाया गया है केंद्र में राजग का ही हिस्सा...

अकाली-भाजपा गठबंधन अब मजबूरियों का सौदा

भारतीय जनता पार्टी और शिरोमणि अकाली दल के बीच पति-पत्नी का अटूट रिश्ता बताया जाता रहा है, लेकिन अब नौबत तलाक तक आ गई है। हरियाणा के बाद दिल्ली में भी गठजोड़ टूटने के बाद कयास लगाए जा रहे...
- Advertisement -spot_img

Latest News

अडानी-भूपेश बघेल की मिलीभगत का एक और नमूना, कानून की धज्जियां उड़ाकर परसा कोल ब्लॉक को दी गई वन स्वीकृति

रायपुर। हसदेव अरण्य क्षेत्र में प्रस्तावित परसा ओपन कास्ट कोयला खदान परियोजना को दिनांक 21 अक्टूबर, 2021 को केन्द्रीय...
- Advertisement -spot_img