Sunday, December 4, 2022

dabhoalkar

क्योंकि गोलियों से नहीं खत्म होता है ज्ञान!

डॉ. नरेन्द्र दाभोलकर,  कॉमरेड गोविंद पानसरे और प्रो. एमएम कलबुर्गी की हत्या की खबरों के बाद से हम निरंतर सुलग रहे थे। पीड़ा लगातार सुलगती गीली लकड़ियों की मानिंद हमें व्यथित कर रही थी। हमारी फि़क्रों में पूरा देश...
- Advertisement -spot_img

Latest News

 मोदीराज : याराना पूंजीवाद की पराकाष्ठा

पिछले पांच वर्षों में विभिन्न कम्पनियों द्वारा बैंकों से रु. 10,09,510 करोड़ का जो ऋण लिया गया वह माफ...
- Advertisement -spot_img