Friday, July 1, 2022

food

चाईबासा के गरीबों के राशन की लूट, जन सुनवाई में खुलासा

पिछले 13 जून 2022 को झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम अंतर्गत चाईबासा में कैनुवा गांव, टोंटो प्रखंड (पश्चिमी सिंहभूम) में खाद्य सुरक्षा जन अधिकार मंच, पश्चिमी सिंहभूम द्वारा आयोजित जन सुनवाई में चौंकाने वाले खुलासे हुए। सुनवाई के दौरान पता चला...

खाद्य सुरक्षा के प्रति मोदी सरकार का रवैया अत्याचारी

'भारत' को भले ही लाभ हो रहा हो, लेकिन भारतीयों को यूक्रेन युद्ध के नतीजों की चिंता करनी चाहिए। भले ही भारत सरकार और अनाज निर्यातक वैश्विक गेहूं के अभाव से लाभ उठाने की कोशिश कर रहे हैं, औसत...

झारखंड में उड़ रही हैं खाद्य सुरक्षा कानून की धज्जियां, गढ़वा में 12 हजार लाभुकों को नहीं मिला अक्तूबर का राशन

1 एवं 2 दिसम्बर 2021 को भोजन का अधिकार अभियान (झारखण्ड) द्वारा गढ़वा जिले के बड़गढ़ प्रखंड के 3 जन वितरण दुकानदारों, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून से आच्छादित राशन कार्ड लाभुकों तथा अनौपचारिक रूप से प्रखंड विकास पदाधिकारी सह...

बस्तर: जमीन अधिग्रहण करने गए पुलिसकर्मियों से आदिवासियों की तीखी झड़प

बस्तर। बस्तर में दंतेवाड़ा जिले के फुलपदर गांव में फूड प्रोसेसिंग पार्क के लिए ज़मीन अधिग्रहण करने को लेकर पुलिस और ग्रामीणों के बीच तीखी झड़प हुई है। दरअसल ज़मीन अधिग्रहण करने के लिए राजस्व अमला अपने साथ सुरक्षा...

जीने के मूल अधिकार में भोजन और अन्य बुनियादी सुविधाओं का अधिकार शामिल: सुप्रीम कोर्ट

उच्चतम न्यायालय ने अपने महत्वपूर्ण आदेश में कहा है कि देश भर के तमाम राज्य वन नेशन वन राशन कार्ड की स्कीम 31 जुलाई तक लागू करें। जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एमआर शाह की पीठ ने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 21 में...

दिहाड़ी मजदूरों की जिंदगी के खाते में जहालत, अपमान और पल-पल की मौत

जी हां, यह वर्तनी की गलती नहीं है, बल्कि यही आज की कड़वी सच्चाई है। हम अक्सर देश और राष्ट्र के निर्माताओं को चंद नायकों-महानायकों में खोजते और उनके नामों पर तो बहसें करते रहते हैं लेकिन हमारे देश...

तीनों काले कानून किसानों को मज़दूर नहीं खानाबदोश बना देंगे: शिवाजी राय

किसान नेता डॉ. दर्शन पाल ने सरकार के साथ नौवीं वार्ता की रस्मअदायगी ख़त्म होने के बाद कहा कि बातचीत 120 प्रतिशत असफल रही है। वहीं केंन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तौमर पुराने वक़्त में दूरदर्शन में समाचार पढ़ने...

दावत, जहां मेजबान और मेहमान में गुफ्तगू तक नहीं!

दावत चाहे किसी धन कुबेर की हो या किसी निर्धन की, उसमें एक गर्म जोशी होती है, मिलने मिलाने का सिलसिला होता है और मेहमान और मेजबान के बीच संवाद होता है। पर कुछ दावतें ऐसी भी होती हैं...

भूख फैलाने वाले यूएन के तहत कार्यरत खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम को शांति का नोबेल

यूनाइटेड नेशन्स के विश्व खाद्य कार्यक्रम (World Food Programme) को नोबल शांति पुरस्कार से सम्मानित किए जाने की घोषणा की गयी है। विश्व खाद्य दिवस 16 अक्तूबर से ठीक एक सप्ताह पूर्व ये घोषणा की गई है। क्या विडंबना है...

कोविद-19 और खाद्य सुरक्षा: जमीन पर उतारनी न हों तो घोषणायें आसान हो जाती हैं

कोरोना महामारी द्वारा उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा तमाम तरह की घोषणायें की जा रही हैं, 30 जून 2020 को छठी बार देश को सम्बोधित करते हुये प्रधानमंत्री ने फिर एक बार घोषणा की, कि नवम्बर...
- Advertisement -spot_img

Latest News

ग्राउंड रिपोर्ट : नाम, नमक और निशान पाने के लिए तप रहे बनारसी नौजवानों के उम्मीदों पर अग्निवीर स्कीम ने फेरा पानी 

वाराणसी। यूपी और बिहार में आज भी किसान और मध्यम वर्गीय परिवार के बच्चे किशोरावस्था में कदम रखते ही...
- Advertisement -spot_img