Tuesday, October 26, 2021

Add News

history

पंजाबी थिएटर की पहली महिला अभिनेत्री उमा गुरबख्श सिंह प्रीत लड़ी का निधन

23 मई की सुबह पंजाब में कला-साहित्य और नाटक (थिएटर) के एक ऐसे युग का अंत हो गया, जिसके साथ बेमिसाल इतिहास वाबस्ता है। उमा गुरबख्श सिंह प्रीतलड़ी संयुक्त पंजाब की पहली पंजाबी थिएटर अभिनेत्री थीं। पंजाबी साहित्य...

आज के अमीरों के पुरखों ने ही 1857 में की थी देश के साथ ग़द्दारी!

आज 10 मई 2020, प्रथम भारतीय सवतंत्रता संग्राम 1857 की 163वी जयंती है। सरकार की नीतियों की वजह से, भारत में कोरोना संकट अमीर बनाम गरीब, गांव बनाम शहर आधारित सत्ता के संघर्ष मे बदल गया है। अमीरों को...

इतिहास/ जन्मदिवस विशेष: सिख साम्राज्य के महानायक महान योद्धा हरि सिंह नलवा

प्रामाणिक इतिहास के बेशुमार पन्ने महाराजा रंजीत सिंह के 'खालसाराज' के महानायक-योद्धा हरि सिंह नलवा को बतौर जिंदा किदंवती पेश करते हैं। शूरवीरता के उनके सच्चे किस्से मिथकीय कथाओं का हिस्सा लगते हैं। लेकिन यकीनन ये सच इसलिए भी...

इतिहास से सबक़ न लेने वाला उसके ही कूड़ेदान में समा जाता है!

कहा जाता है कि इतिहास जब गौरव मात्र करने की विषयवस्तु बन जाता है तो इतिहास खुद को बार-बार दोहराने लगता है। और जब ऐतिहासिक गौरव में संस्कृति का तड़का लगा दिया जाए तो भविष्य, इतिहास से दो कदम...

शहादत सप्ताह: भगत सिंह और अराजकतावाद

भगत सिंह एक निर्भीक क्रांतिकारी होने के साथ-साथ बहुत गंभीर अध्येता भी थे। उन्होंने दुनिया भर की अलग-अलग राजनीतिक विचारधाराओं और क्रांतिकारी सिद्धांतों का बेहद गहरा अध्ययन किया हुआ था। अंतरराष्ट्रीय क्रांतिकारी आंदोलन के इतिहास कि अपने अध्ययन के...

कांग्रेस पर कनक दृष्टि: अमरबेलों से जकड़ा वटवृक्ष

(छत्तीसगढ़ के एडवोकेट जनरल रह चुके कनक तिवारी न्याय के युद्ध क्षेत्र में केवल कालीकोट को ही हथियार नहीं बनाते बल्कि समय पड़ने पर वह कलम की तलवार भी उठाने से नहीं चूकते। कांग्रेस के साथ एक जमाने से...

देश की महिलाएं रच रही हैं नया इतिहास: रामचंद्र गुहा

अहमदाबाद। 30 जनवरी अर्थात गांधी जी के बलिदान दिवस के दिन पद्म भूषण इतिहासकार रामचंद्र गुहा बापू की कर्मभूमि अहमदाबाद में थे। गुहा के तीन कार्यक्रम थे। जिनमें पहला नेहरू ब्रिज पर CAA, NRC, NPR के विरोध में बनाई...

क्योंकि भारत का इतिहास बदलने का काम जारी है!

विश्व आदिवासी दिवस की बधाई आज विश्व आदिवासी दिवस पर आप मान लीजिए  कि भारत के ऋषि मुनि ही भारत के सबसे पुराने निवासी हैं मान लीजिए कि वेद तब ही आ चुके थे जब मनुष्य का जन्म भी नहीं हुआ था  मान लीजिए...

कश्मीर और इतिहास के साथ क्यों धोखाधड़ी है धारा 370 का खात्मा

15-16 मई 1949 को सरदार वल्लभ भाई पटेल के घर पर कश्मीर के भविष्य को लेकर एक अहम बैठक हुई थी। बैठक में जवाहर लाल नेहरू और शेख अब्दुल्ला भी मौजूद थे। बैठक का एजेंडा ‘राज्य में नए संविधान के गठन’...
- Advertisement -spot_img

Latest News

पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में रिश्वत के दोषी पाए गए एक जिला एवं सत्र न्यायाधीश की फाइल पर चार साल से कार्रवाई नहीं

उच्चतम न्यायालय ने पिछले साल भले ही राजनेताओं के खिलाफ आपराधिक मामलों के समयबद्ध निपटान का संकल्प व्यक्त किया...
- Advertisement -spot_img