Monday, April 15, 2024

loksabha

लोकसभा में किसानों का मुद्दा उठाने के लिए मोर्चे ने की विपक्ष की सराहना

नई दिल्ली। संयुक्त किसान मोर्चा ने संसद के भीतर किसानों के मामले को उठाने के लिए विपक्ष को धन्यवाद दिया है। उसका कहना है कि इसके पहले उसने सभी सांसदों को एक पीपुल्स व्हिप जारी किया था और एसकेएम...

जासूसों की ‘गिरफ्त’ में थे माननीय, महामहिम और मंत्री से लेकर विपक्षी नेता, सूची में 40 पत्रकार भी शामिल

उच्चतम न्यायालय के माननीय चीफ जस्टिस और संविधान के कस्टोडियन अन्य जज साहबान, महामहिम राष्ट्रपति जी ,लोकसभा के स्पीकर,संसद में देश भर से चुने सांसद साहबान सभी से सवाल है कि क्या देश में गैरकानूनी सरकारी सर्विलांस की इजाजत...

जातीय संतुलन व कार्पोरेट हितों को साधकर अगले चुनाव में उतरेगी भाजपा

केंद्र में नरेंद्र मोदी के बहुप्रतीक्षित मन्त्रिमण्डल के विस्तार और फेरबदल में कारपोरेट हितों का ध्यान, दलबदलुओं से किये गए वादों को निभाने और यूपी, गुजरात में जातीय सन्तुलन साध कर अगले विधानसभा और लोकसभा चुनाव में भाजपा की...

राष्ट्र मंच की बैठक में हुई बदलाव और विपक्षी एकता की पहल

लोकसभा चुनाव 2024 से पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के अध्यक्ष शरद पवार एक बड़ी पहल के तहत कले से विपक्षी एकता के लिए कदम उठाना शुरू कर दिए हैं। पहले दौर में पवार ने मंगलवार शाम नई दिल्ली...

विरासत और बगावत: लोजपा दो फाड़

जिस बात का खौफ था, वही हुआ। पिछले रविवार की शाम एक नाटकीय घटनाक्रम में लोकजनशक्ति पार्टी अचानक से दो फाड़ हो गई। उसके छह सांसदों में से पाँच ने वर्तमान संसदीय दल के नेता चिराग पासवान की जगह,...

अतिश्योक्तियों से भरा है बंगाल में बीजेपी को लेकर प्रशांत किशोर का आकलन

बीजेपी को 2019 के लोकसभा चुनाव में बंगाल में 40 प्रतिशत मत मिले थे। वह 2016 के विधान सभा चुनाव में बीजेपी के 10.2 प्रतिशत मतों से एक लंबी छलांग थी। लेकिन टीएमसी के 43 प्रतिशत मत प्राय: स्थिर...

चुनावों में असम-समझौते का जिक्र नहीं कर रही है भाजपा

असम समझौता में केवल बांग्लादेशी घुसपैठियों को पहचानने, चिन्हित करने और निकालने की व्यवस्था नहीं थी, असम के मूल निवासियों के हितों (भाषा,संस्कृति व आर्थिक) की रक्षा करने का प्रावधान भी था। समझौते की उस छठी धारा की याद...

सोलह महीने बाद भी 17वीं लोकसभा को उपाध्यक्ष नहीं मिल सका

सत्रहवीं लोकसभा का गठन हुए 16 महीने हो चुके हैं। यानी उसका एक चौथाई कार्यकाल बीत गया है। इस बीच उसके चार सत्र भी संपन्न हो चुके हैं। चारों सत्रों के बारे में सरकार की ओर से दावा किया...

कृषि महज उपभोग का एक साधन नहीं बल्कि संस्कृति है, इसकी उपेक्षा पूरे देश को पड़ सकती है भारी

2014 के लोकसभा चुनाव में अनेक लोक लुभावन वादों के बीच, किसानों के लिये सबसे प्रिय वादा भाजपा का था, 2022 तक किसानों की आय दुगुनी करना। साथ ही एमएस स्वामीनाथन आयोग की संस्तुतियों को लागू करना। लेकिन आज...

प्रधानमंत्री बताएं लोकसभा में पारित किस बिल में किसानों को एमएसपी पर खरीद की गारंटी दी गई है?

नई दिल्ली। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के वर्किंग ग्रुप के सदस्य एवं पूर्व विधायक डॉ सुनीलम ने फसल बीमा मुआवजा राशि के तौर पर किसानों को 10 रुपये से 500 रुपये तक दिए जाने को किसानों का...

Latest News

तमाम प्रतिकूलताओं के बावजूद जनविवेक से स्थिति में बदलाव होगा

भारत में लोकतंत्र के भविष्य को लेकर कुछ गहरी आशंकाएं उभर रही हैं। इतिहास की गहरी घाटियों से कुछ...