Friday, March 1, 2024

masoom

अपने गांव गंगोली से बेइंतहा था राही मासूम रजा को प्यार

उत्तर प्रदेश के पूर्वी भाग में एक जिला है ग़ाज़ीपुर। सोया हुआ, खामोश पर सरसब्ज़ और प्रतिभासंपन्न। गंगा इस इस ज़िले को सींचती हुयी गुज़रती हैं। इसी ज़िले के एक गाँव गंगौली में राही मासूम रज़ा का जन्म 1...

जयंती पर विशेष: राही का मानना था- देश के राजनीतिक-आर्थिक ढांचे में बसता है सांप्रदायिकता का भूत

‘‘मेरा नाम मुसलमानों जैसा है/मुझे कत्ल करो और मेरे घर में आग लगा दो/लेकिन मेरी रग-रग में गंगा का पानी दौड़ रहा है/मेरे लहू से चुल्लू भरकर महादेव के मुंह पर फेंको/और उस जोगी से यह कह दो/महादेव अब...

Latest News

हिमाचल में बागी विधायकों को सबक, क्या विपक्षी दलों में टूट-फूट रोकने में सफल होगा?

आज हिमाचल प्रदेश के स्थानीय समाचार पत्रों में राज्य सभा के लिए निर्वाचित भाजपा सांसद हर्ष महाजन का बयान...