Saturday, October 23, 2021

Add News

Nizamuddin

तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए विदेशी नागरिकों को ‘बलि का बकरा’ बनाया गया: हाई कोर्ट

बांबे हाई कोर्ट की औरंगाबाद पीठ ने  सरकारी दावों और 24 घंटे चलने वाले गोदी मीडिया के उन दावों की हवा निकल दी, जिसमें देश भर में प्रोपगंडा फैलाया गया था कि देश में कोविड-19 को फैलाने के लिए...

एक रूह जो फना हो गयी गंगा-जमुनी तहजीब का बीज बो कर

सालों पहले की बात है। हमारी दोस्त अर्चना हजरत निजामुद्दीन की दरगाह जाना चाहती थीं। सो, एक दोपहर हम वहां पहुंच गए। हजरत की दरगाह पर दुआ करने की चाहत तो होती ही है। हम अमीर खुसरो की मजार...

छत्तीसगढ़ में कथित तबलीगी जमात के 151 लोगों में 108 हिंदू निकले

रायपुर। छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को दिल्ली के निज़ामुद्दीन के तबलीगी जमात मरकज़ से वापस लौटने वाले 52 व्यक्तियों का पता लगाने के लिए ‘गहन तलाशी अभियान’ शुरू करने का निर्देश दिया है। याचिकाकर्ता की, कथित रुप...

मनुष्य कहने लायक़ नहीं हैं अपने-अपने संप्रदाय की चिंता करने वाले लोग!

देश के पीएम नित नए नए ढंग से एकता के संदेश दे रहे हैं। फिर भी देशवासियों में जाति और संप्रदाय के नाम पर आपसी अविश्वास और नफरत तेजी से फैलती जा रही है। जिसके लिए देश का मीडिया,...

कोरोना ने उतार दिया हम सबका भी नक़ाब

कोरोनो ने पूरी दुनिया को तो संकट में डाला ही है भारत को कुछ विशेष संकट में डाल दिया है। भारत में कोरोनो 31 जनवरी को ही आ चुका था लेकिन उसके बाद न तो सरकार, न मीडिया और न...

कोविड-19: लाखों विदेश से आए लोगों के बजाय 2100 तबलीगियों पर फ़ोकस कर आख़िर क्या कहना चाहती है सरकार?

अब तक निजामुद्दीन मरकज में शामिल तबलीगी जमात के 360 लोगों में कोविड-19 पोजिटिव होने की पुष्टि हो चुकी है। मीडिया और दक्षिणपंथी समुदाय के संगठन इसे कोरोना जेहाद कहकर देश भर में समुदाय विशेष के प्रति नफरत का...

अपनी नाकामियों पर पर्दा डालने के लिए सरकार कर रही है तबलीगी जमात घटना की सांप्रदायीकरण की कोशिश: माले

(दिल्ली में तबलीगी मामले को मीडिया, सरकार और प्रशासनिक एजेंसियाँ जिस तरह से सांप्रदायिक रूप दे रही हैं उससे देश का एक बड़ा हिस्सा बेहद चिंतित है। दिलचस्प बात यह है कि इस पूरे प्रकरण के पीछे तमाम तथ्यों...

भावुकता के मुद्दों पर चुनाव तो जीते जा सकते हैं, सरकार नहीं चलायी जा सकती

दिल्ली के निज़ामुद्दीन दरगाह के पास स्थित मरकज का एक मामला आज बहुत अधिक चर्चा में रहा। कहा जा रहा है कि वहां तबलीगी जमात के लोगों ने कोई जलसा किया और फिर वे देश के विभिन्न कोनों में...

तबलीगी मरकज और सरकार की मुर्दा हरकत उर्फ “माफी युग”

मरकज यानी मीटिंग और यह तबलीगी जमात द्वारा दिल्ली के हज़रत निजामुद्दीन औलिया के दयार में पूरे साल चलता ही रहता है  यहाँ पूरे साल भर देश विदेश से जमाती मुस्लिम आते रहते हैं। मरकज में एक सप्ताह के...

निजामुद्दीन ग्राउंड रिपोर्टः अगर अब नहीं जागे तो बहुत देर हो जाएगी

भारी पुलिस और अर्द्धसैनिक बल के बीच बरसते आसमान के नीचे तीन दिन से अनिश्चितकालीन धरने पर बैठी हैं निजामुद्दीन की महिलाएं और बच्चे। जबर्दस्त उत्साह से भरे दूसरी, तीसरी चौथी कक्षा में पढ़ने वाले बच्चे चार्ट में नारे...
- Advertisement -spot_img

Latest News

अडानी-भूपेश बघेल की मिलीभगत का एक और नमूना, कानून की धज्जियां उड़ाकर परसा कोल ब्लॉक को दी गई वन स्वीकृति

रायपुर। हसदेव अरण्य क्षेत्र में प्रस्तावित परसा ओपन कास्ट कोयला खदान परियोजना को दिनांक 21 अक्टूबर, 2021 को केन्द्रीय...
- Advertisement -spot_img