Thursday, February 2, 2023

shrinagar

गैर कश्मीरियों की हत्याओं के चलते घाटी से पलायन शुरू, विपक्ष ने सरकार को घेरा

कल कुलगाम में बिहार के तीन मजदूरों पर आतंकी हमले में दो की हत्या के बाद प्रवासी मजदूर जम्मू-कश्मीर छोड़कर वापस अपने गृह राज्य लौट रहे हैं। आतंकवादियों द्वारा गैर-कश्मीरियों की लक्षित हत्याओं की हालिया घटनाओं के बाद कश्मीर...

श्रीनगर में दो शिक्षकों की हत्या, नोटबंदी और धारा- 370 के बावजूद जारी है आतंकी घटनायें, तीन दिन में दो वारदात

श्रीनगर के ईदगाह में गुरुवार को आतंकवादियों द्वारा सरकारी बॉयज स्कूल, संगम के दो शिक्षकों की गोली मारकर हत्या कर दी गई। आतंकियों ने आज सुबह क़रीब 11.15 बजे 2 स्कूल टीचरों को श्रीनगर के संगम ईदगाह में गोली...

जम्मू-कश्मीर में भाजपा-पीडीपी की सरकार ने किया 10 हज़ार करोड़ का हेर-फेर, सीएजी रिपोर्ट में खुलासा

जम्मू एवं कश्मीर में भ्रष्टाचार पर जीरो टालरेंस का दावा करने वाली पार्टी भाजपा और महबूबा मुफ़्ती की पार्टी पीडीपी के बेमेल गठबंधन की सरकार के दौरान 10 हज़ार करोड़ रुपये की हेराफेरी को भारत के नियन्त्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी)...

कश्मीर में राष्ट्रवादी पाटों की चक्की में पिस रही है कानून-व्यवस्था

रणनीति का तकाजा होता है कि जब विपक्षी पर हमलावर होना हो तो स्वयं को एक छोटे टारगेट में तब्दील कर लो ताकि किसी पलटवार के नुकसान से बच सको। कश्मीर घाटी में ठीक इसका उलटा हो रहा है।...

कश्मीर में कल मनाई गई ईद लेकिन पर्व के उत्साह जैसा कुछ नहीं रहा

कश्मीर और लद्दाख में आज ईद मनाई गई लेकिन पर्व का उत्साह सिरे से गायब था।  इस पत्रकार ने घाटी के कुछ लोगों से बात करके ईद की बाबत जानकारी ली। कश्मीर के ख्यात चिकित्सक और श्रीनगर गवर्नमेंट मेडिकल...

‘गर फिरदौस बर रुए ज़मीं अस्त; हमीं अस्तो, हमीं अस्तो, हमीं अस्त’

श्रीनगर। यह डल लेक है। सामने जो दृश्य दिख रहा है वह पीर पंजाल रेंज है। शायद ऐसा ही दृश्य देखकर जहांगीर ने फारसी में कहा था, 'गर फिरदौस बर रुए ज़मीं अस्त, हमीं अस्तो, हमीं अस्तो, हमीं अस्त'...

कश्मीर:अब आगे क्या ?

यह सवाल अब अंतर्राष्ट्रीय मीडिया और निष्पक्ष राष्ट्रीय मीडिया में यक्ष प्रश्न की तरह पूछा जा रहा है कि कश्मीर में आगे क्या? यह भी कि क्या खुद सरकार जम्मू कश्मीर को बंद पिंजरा समझती है, जिसे पर्यटन के...

कश्मीर पर कहर(पार्ट-5): जब एक परिवार पर भारी पड़ गया पहले कुदरत और फिर व्यवस्था का कहर

श्रीनगर। पूरा कश्मीर ही उत्पीड़न, बर्बरता और प्रतिरोध का पर्याय बन गया है। इन सबको अपनी नंगी आंखों से देखने वाला डाउनटाउन इसका सबसे बड़ा शिकार रहा है। कश्मीर पर बरपा हर कहर उसकी जेहनियत का हिस्सा बन गया...

महिला संगठनों की जांच रिपोर्ट: कश्मीर में कुछ भी सामान्य नहीं, धीरे-धीरे स्थिति में सुधार का दावा गलत

श्रीनगर। सितंबर 17-21, 2019 को 5 महिलाओं के एक जांच दल ने कश्मीर का दौरा किया। जांच दल में नेशनल फेडरेशन इंडियन वुमन की एनी राजा, कंवलजीत कौर, पंखुड़ी जहीर, प्रगतिशील महिला संगठन की पूनम कौशिक और मुस्लिम वुमन...

कश्मीर पर कहर(पार्ट-4):एक कश्मीरी की जुबानी कश्मीर की पूरी कहानी

(श्रीनगर के लालचौक के सेंट्रल पार्क इलाके में हम लोगों की एक ऐसे शख्स से मुलाकात हुई जिसने इस इलाके में रहते अपनी नजरों से बहुत कुछ देखा है। उसके पास चीजों को लेकर न केवल एक गहरी समझ...

Latest News

जेल साहित्य को समृद्ध करती मनीष और अमिता की जेल डायरी

भारत में जेल साहित्य दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है, यह अच्छी बात भी है और बुरी भी। बुरी इसलिए...