Monday, October 18, 2021

Add News

south

दक्षिण अफ्रीका: पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा की गिरफ्तारी के खिलाफ हिंसा में 72 की मौत, चौतरफा अराजकता का माहौल

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा की गिरफ्तारी के बाद शुरू हुई हिंसा में 72 लोगों की मौत हो गयी है जबकि हजारों लोग घायल और गिरफ्तार किये गये हैं। हिंसा सबसे पहले जैकब जुमा के गृह-राज्य क्वाजूलू-नेटल...

भारत से जुड़े भ्रष्टाचार के साये में दुनिया के चार राष्ट्राध्यक्ष

क्या यह महज संयोग है कि दुनिया के चार राष्ट्राध्यक्ष भ्रष्टाचार के मामले में फंस रहे हैं और इन सबका इंडिया कनेक्शन है। दक्षिण अफ्रीका के एक पूर्व राष्ट्रपति को तो जेल की सजा हो गयी है जबकि फ़्रांस...

पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसानों के ‘भारत बंद’ का भूकंप, नोएडा-ग़ाज़ियाबाद बॉर्डर बना विरोध का केंद्र

संसद से पारित कृषि विधेयकों के खिलाफ किसानों का राष्ट्रव्यापी गुस्सा सड़कों पर फूट पड़ा है। इसके तहत किसानों ने पंजाब, हरियाणा, पश्चिम उत्तर प्रदेश में पूरी बंदी अमल कराई और तेलंगाना, शेष उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल,...

पेरियार जयंती: सच्ची रामायण का विरोध धार्मिक से कहीं ज्यादा राजनीतिक है

(ई.वी. रामासामी नायकर ‘पेरियार’ (17 सितंबर, 1879—24 दिसंबर, 1973) बीसवीं शताब्दी के महानतम चिंतकों और विचारकों में से एक हैं। उन्हें वाल्तेयर की श्रेणी का दार्शनिक, चिंतक, लेखक और वक्ता माना जाता।‘  भारतीय समाज और भारतीय व्यक्ति का मुकम्मल...

राम मंदिर निर्माण से पहले उत्तर भारत पहुंची ‘सच्ची रामायण’, पेरियार और पोंगापंथ का होगा आमना-सामना

(भारतीय विधायिका और न्यायपालिका ने मिलकर पिछले दिनों ऐसा परिदृश्य बनाने की कोशिश की मानो राम भारत के संपूर्ण बहुसंख्यक हिंदू जन मानस का प्रतिनिधित्व करते हों। कमोवेश इसी मूल तर्क पर अयोध्या में राम मंदिर बनने जा रहा...

अस्मिता की राजनीति ने कांग्रेस और नरसिंहराव के बीच की दूरी मिटाई

देश में परवान चढ़ चुकी अस्मिता की राजनीति के चलते आखिरकार दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिंह राव और कांग्रेस के बीच की दूरी मिट गई। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व प्रधानमंत्री और अपनी...

ख़ास रिपोर्ट: उपेक्षा, बदला, बदहाली, हालाकानी और मौत का नया पता है श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन

सुपौल बिहार के गरीब राय 21 मई को दिल्ली से बिहार जाने वाली श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन में बैठे तो तीन दिन बैठे ही रह गए। 21 मई को दिल्ली से छूटी तो 24-25 की दरमियानी रात में पहुंची। इस...
- Advertisement -spot_img

Latest News

- Advertisement -spot_img

Log In

Or with username:

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy

Add to Collection

No Collections

Here you'll find all collections you've created before.