write

मोदी राज में बैंकों ने माफ किए कारपोरेट के 8 लाख करोड़ रुपये

अपनी कथित फकीरी का ढिंढोरा पीटने वाले नरेंद्र मोदी नीत भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार ने अपने पहले पूर्णकालिक…

7 months ago

अन्ना भाऊ ने साहित्य को बनाया दलितों की लड़ाई का हथियार

सन 2020 दलित इतिहास के समृद्ध पुरालेख के लिए याद किया जाएगा। यह साल भारत की शक्तिशाली आवाज रहे तुकाराम…

11 months ago

मेरे लिए लिखना बंद करने से बेहतर जेल जाना होगा: अरुंधति

विश्व-प्रसिद्ध भारतीय लेखिका अरुंधति राय ने ऑडियो बुक्स स्ट्रीमिंग सेवा 'स्टोरीटेल' से बातचीत करते हुए कहा कि उनके लिए लिखना…

12 months ago

जाना समाज की नब्ज पर पकड़ रखने वाले एक संवेदनशील क़लमकार का

नई दिल्ली। चर्चित कथाकार, संपादक और प्रकाशक कैलाश चंद चौहान का 15 जून, 2020 की दोपहर अचानक निधन हो गया।…

1 year ago

दो सावरकर नहीं हैं ‘1857’ और ‘हिन्दुत्व’ के लेखक

(सावरकर को लेकर यह भ्रम प्रगतिशील समझे जाने वाले बुद्धिजीवियों में भी आम रहा है कि `हिन्दुत्व का सिद्धांतकार` अपने…

1 year ago
%%footer%%