Monday, April 15, 2024

यूपी के प्रतापगढ़ में एक और बर्बर घटना, पटेल समुदाय के युवक को दबंगों ने जिंदा जलाया

प्रतापगढ़। उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में बेख़ौफ़ दबंगों ने एक युवक को पेड़ से बांधकर जिंदा जला दिया। युवक की मौके पर ही मौत हो गई। हत्या की सूचना के बाद ग्रामीणों का रोष सड़कों पर फूट पड़ा। और उन्होंने विरोध में पथराव और आगजनी शुरू कर दी। घटना फतनपुर थाना के भुजौनी गांव की है। युवक की हत्या की सूचना के बाद पुलिस के ढुलमुल रवैये से आक्रोशित ग्रामीणों ने पथराव और आगजनी की। ग्रामीणों ने पुलिस की दो जीप समेत तीन गाड़ियों में आग लगाई। पुलिस की दोनों जीप जलकर राख हो गयी। पथराव में चार पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

पूरी घटना के पीछे की वजह प्रेम प्रसंग बताया जा रहा है। मृतक अंबिका पटेल कानपुर में तैनात महिला सिपाही से प्रेम करता था। आरोप है कि महिला सिपाही के घरवालों ने अम्बिका पटेल को ज़िंदा जलाकर मार डाला। बता दें कि मृतक अंबिका पटेल महिला सिपाही से छेड़खानी के मामले जेल में बंद था। कुछ दिन पहले ही पैरोल पर जेल से छूट कर आया था। सोमवार दोपहर मृतक घर से निकला था। शाम 8 बजे उसका अधजला शव बाग़ में मिला।

इस घटना के बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गए। ग्रामीणों ने जमकर बवाल काटा और तोड़फोड़ की। इस दौरान चार घंटे तक पुलिस गांव बाहर खड़ी रही। चार घंटे बाद किसी तरह एसपी समेत भारी पुलिस बल गांव में दाखिल हो सका। जिसके बाद दोनों पक्ष से दर्जनों लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया। मौके पर प्रयागराज जोन के आईजी और एडीजी भी पहुंचे। उन्होंने घटनास्थल का जायजा लिया। वहीं गांव में हत्या के बाद तनाव को देखते हुए दो पीएसी की कंपनी को तैनात कर दिया गया है।

आज से एक हफ्ता पहले इसी जिले में पटेल समुदाय के एक परिवार के साथ इसी तरह की घटना घटी थी। जिसमें सवर्णों ने एक पटेल परिवार के घर पर हमला बोलने के बाद मारपीट करने समेत जमकर तोड़ फोड़ कर दी थी। बताया जाता है कि इसमें महिलाओं के साथ भी बदसलूकी की गयी थी। यहां तक कि एक तीन महीने के बच्चे को दबंगों ने मां की गोद से छीन कर जमीन पर फेंक दिया था। अभी उस घटना को एक हफ्ते भी नहीं बीते थे कि यह दूसरी घटना हो गयी।

(न्यूज़ 18 से कुछ इनपुट लिए गए हैं।) 

जनचौक से जुड़े

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest Updates

Latest

हरियाणा की जमीनी पड़ताल-2: पंचायती राज नहीं अब कंपनी राज! 

यमुनानगर (हरियाणा)। सोढ़ौरा ब्लॉक हेडक्वार्टर पर पच्चीस से ज्यादा चार चक्का वाली गाड़ियां खड़ी...

Related Articles

हरियाणा की जमीनी पड़ताल-2: पंचायती राज नहीं अब कंपनी राज! 

यमुनानगर (हरियाणा)। सोढ़ौरा ब्लॉक हेडक्वार्टर पर पच्चीस से ज्यादा चार चक्का वाली गाड़ियां खड़ी...