Saturday, May 28, 2022

कोर्ट में पेगासस पर सुनवाई से ठीक पहले सरकार ने कहा, एनएसओ से कोई लेनदेन नहीं हुआ

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

सुप्रीम कोर्ट में 10 अगस्त को सुनवाई से एक दिन पहले आज पेगासस जासूसी मामले पर रक्षा मंत्रालय ने बयान जारी करके कहा है कि एनएसओ के साथ कोई डील नहीं हुई है।

पेगासस जासूसी विवाद के बीच रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा को यह जानकारी दी कि सरकार ने एनएसओ समूह के साथ कोई लेन-देन नहीं किया है। बता दें कि सदन में उनसे सवाल किया गया था कि क्या सरकार ने एनएसओ ग्रुप टैक्नॉलोजीस के साथ कोई लेन-देन किया था।

उल्लेखनीय है कि इजराइल की निगरानी सॉफ्टवेयर कंपनी एनएसओ समूह पर भारत सहित कई देशों में लोगों के फोन पर नज़र रखने के लिए पेगासस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करने के आरोप लग रहे हैं।

पेगासस जासूसी मुद्दे को लेकर संसद के मानसून सत्र में विपक्ष लगातार चर्चा और जवाबदेही की मांग लेकर गतिरोध पैदा करता आ रहा है जिससे दोनों सदनों की कार्यवाही बाधित होती रही है। बता दें कि इजराइल की निगरानी सॉफ्टवेयर कंपनी एनएसओ समूह पर भारत सहित कई देशों में लोगों के फोन पर नज़र रखने के लिए पेगासस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करने के आरोप लग रहे हैं।

इससे पहले इसके जवाब में कहा, रक्षा मंत्रालय ने एनएसओ ग्रुप टैक्नॉलोजीस़ के साथ कोई लेन-देन नहीं किया है। तब उन्होंने सदन में पेगासस का मुद्दा उठाने को भारतीय लोकतंत्र की छवि को धूमिल करने का प्रयास बताया था। आईटी और संचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने भारतीयों की जासूसी के लिए पेगासस सॉफ्टवेयर के इस्तेमाल के मुद्दे पर कहा था कि- “संसद के मानसून सत्र से ठीक पहले लगाए गए आरोपों का मकसद भारतीय लोकतंत्र की छवि को खराब करना है। सूचना प्रौद्योगिकी और संचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने पेगासस सॉफ्टवेयर के जरिए भारतीयों की जासूसी करने संबंधी खबरों को सोमवार को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि संसद के मानसून सत्र से ठीक पहले लगाए गए ये आरोप भारतीय लोकतंत्र की छवि को धूमिल करने का प्रयास हैं।”

संसद के दोनों सदनों में दिए गए अपने एक बयान में वैष्णव ने कहा था कि- “जब देश में नियंत्रण और निगरानी की व्यवस्था पहले से है तब अनाधिकृत व्यक्ति द्वारा अवैध तरीके से निगरानी संभव नहीं है। सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री का यह बयान मीडिया में आई उन खबरों के मद्देनजर था कि कुछ राजनीतिक नेताओं, सरकारी अधिकारियों, पत्रकारों सहित कई भारतीयों की निगरानी के लिए पेगासस स्पाइवेयर का उपयोग किया गया था।”

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

- Advertisement -

Latest News

नॉर्थ ईस्ट डायरी: असम में दोहराई जा रही यूपी की बुल्डोजर राजनीति?

क्या उपद्रवियों को दंडित करने के लिए बुल्डोजर को नवीनतम हथियार बनाकर  असम उत्तर प्रदेश का अनुसरण कर रहा...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This