Subscribe for notification

प्रवासी मज़दूरों की पीड़ा देख राहुल गांधी सड़क पर उतरे, राजधानी में कई जगहों पर मज़दूरों से की मुलाकात

नई दिल्ली। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सड़क पर आ गए हैं। सोशल मीडिया पर उनकी एक फ़ोटो सामने आयी है जिसमें उन्हें कुछ मज़दूरों के साथ बातचीत करते देखा जा सकता है। माना जा रहा है कि जिस तरह के हालात बन गए हैं और उसमें सरकार कहीं कुछ करती नहीं दिख रही है। उसमें विपक्ष की ज़िम्मेदारी और बढ़ जाती है। ऐसे मौक़े पर वह मौन नहीं रह सकता है। आज राहुल गांधी ने पहले संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया और जिसमें उन्होंने सरकार से ज़रूरतमंदों की जेब में सीधे पैसे भेजने की माँग की। इसके साथ ही एक दूसरी घटना घटी जब कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पत्र लिखकर योगी आदित्यनाथ से यूपी में 1000 बसें चलाने की अनुमति माँगी।

ये दोनों घटनाएँ यह बताने के लिए काफ़ी हैं कि कांग्रेस प्रवासी मज़दूरों के मामले पर बेहद गंभीर है। और आज उसी का नतीजा है कि राहुल गांधी राजधानी दिल्ली की सड़कों पर निकल आए। बताया जा रहा है कि दिल्ली में उन्होंने कई जगहों पर मज़दूरों से मिलकर उनसे बात चीत की है और उनका हाल चाल जाना। इस सिलसिले में कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर से ट्वीट भी किया गया है।

अभी इसमें ताजी खबर यह आ रही है कि जिन मजदूरों से राहुल गांधी ने मुलाकात की है उन्हें गिरफ्तार करके जेल में डाल दिया गया है। हिमांशु कुमार के फेसबुक वाल से यह ताजा जानकारी मिली है।

राहुल गांधी की मजदूरों से यह मुलाकात दिल्ली के सुखदेव विहार वाले इलाके में हुई है। एएनआई ने बताया कि मजदूरों से मुलाकात के बाद कांग्रेस कार्यकर्ता वहां पहुंचे और गाड़ियों में बैठाकर उन्हें उनके गंतव्यों की ओर भेज दिया गया। बताया जाता है कि इसमें एक मजदूर मोनू था जो हरियाणा से आया था और उसे झांसी जाना था।

This post was last modified on May 16, 2020 7:56 pm

Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi

Share
Published by

Recent Posts

राजस्थान का सियासी संकट: ‘माइनस’ की ‘प्लस’ में तब्दीली

राजस्थान का सियासी गणित बदल गया। 32 दिन तो खपे लेकिन 'बाकी' की कवायद करते-करते…

33 mins ago

कानून-व्यवस्था में बड़ा रोड़ा रहेगी नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति

पुलिसिंग के नजरिये से मोदी सरकार की नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) 2020 के प्रारंभिक…

1 hour ago

किताबों से लेकर उत्तराखंड की सड़कों पर दर्ज है त्रेपन सिंह के संघर्षों की इबारत

उत्तराखंड के जुझारू जन-आन्दोलनकारी और सुप्रसिद्ध लेखक कामरेड त्रेपन सिंह चौहान नहीं रहे। का. त्रेपन…

14 hours ago

कारपोरेट पर करम और छोटे कर्जदारों पर जुल्म, कर्ज मुक्ति दिवस पर देश भर में लाखों महिलाओं का प्रदर्शन

कर्ज मुक्ति दिवस के तहत पूरे देश में आज गुरुवार को लाखों महिलाएं सड़कों पर…

14 hours ago

गुरु गोबिंद ने नहीं लिखी थी ‘गोबिंद रामायण’, सिख संगठनों ने कहा- पीएम का बयान गुमराह करने वाला

पंजाब के कतिपय सिख संगठनों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस कथन का कड़ा विरोध…

17 hours ago

सोचिये लेकिन, आप सोचते ही कहां हो!

अगर दुनिया सेसमाप्त हो जाता धर्मसब तरह का धर्ममेरा भी, आपका भीतो कैसी होती दुनिया…

17 hours ago

This website uses cookies.