ज़रूरी ख़बर

मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली कार के मालिक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

25 फरवरी को मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली कार के मालिक की संदिग्ध परिस्थितियों में लाश मिली है। ठाणे डीसीपी ने एक्सीडेंटल डेथ रिपोर्ट (एडीआर) के हवाले से बताया है कि मनसुख हिरेन ने जिसकी कार मुकेश अंबानी के निवास के बाहर मिली थी (उसके अंदर जिलेटिन था), कलवा नाले में कूदकर आत्महत्या कर ली है। 

वहीं नेता प्रतिपक्ष और भाजपा नेता देवेंद्र फडनवीस ने कहा है कि “मैंने मनसुख हिरेन को संरक्षण देने के लिए सदन में कहा था, क्योंकि वह इस मामले की मुख्य कड़ी हैं और उसकी जान को ख़तरा हो सकता है। अब हमें उसके शव के बरामद होने के बारे में पता चल रहा है । यह मामले को गड़बड़ बनाता है। इस और कथित आतंकी कोण को देखते हुए, हम उस मामले को एनआईए को सौंपने की मांग करते हैं”। 

बता दें कि देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी के मुंबई स्थित घर एंटेलिया के बाहर गुरुवार 25 फरवरी को एक स्कॉर्पियो खड़ी मिली थी, गाड़ी का नंबर क्षतिग्रस्त था। जिसके अंदर जिलेटिन की 20 छड़ें रखी हुई थीं। पुलिस ने बताया कि कार में से जो जिलेटिन मिला है, वो सैन्य-ग्रेड जिलेटिन नहीं है बल्कि व्यावसायिक-ग्रेड है। व्यावसायिक ग्रेड (कामर्शियल-ग्रेड) जिलेटिन एक तरह से खुदाई करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। 

इसके अलावा कार में मुंबई इंडियंस लोगो के बैग में एक चिट्ठी भी मिली थी। चिट्ठी में लिखा है ‘ये तो सिर्फ एक ट्रेलर है। नीता भाभी, मुकेश भैया, ये तो सिर्फ एक झलक है। अगली बार सामान पूरा होकर तुम्हारे पास आएगा और पूरा इंतजाम हो गया है।’ 

बता दें कि मुंबई इंडियंस आईपीएल की क्रिकेट टीम है, जिसके मालिक मुकेश अंबानी हैं। 

बाद में स्कॉर्पियो मालिक की पहचान मनसुख हिरेन के रूप में हुई थी। मनसुख हिरेन ने पूछताछ के बाद क्राइम ब्रांच के एक अधिकारी ने मीडिया में बताया था कि अंबानी के घर के बाहर खड़ी मिली गाड़ी मनसुख हिरेन के नाम से रजिस्टर्ड है। हिरेन ने पूछताछ में पुलिस को बताया था कि वे 17 फरवरी की शाम को ठाणे से घर जा रहे थे। उस दौरान रास्ते में उनकी गाड़ी बंद हो गयी थी। उन्हें जल्दी थी इस वजह से उन्होंने गाड़ी को ऐरोली ब्रिज के पास खड़ा कर दिया था। जब वे सुबह आये तो उन्हें गाड़ी नहीं मिली, जिसकी शिकायत उन्होंने पुलिस से भी की थी। 

मुकेश अम्बानी के घर के बाहर विस्फोटकों से बरामद हुई गाड़ी खड़ी करने की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-उल-हिंद ने ली थी। संगठन ने इस घटना से संबंधित पोस्ट सोशल मीडिया पर पोस्ट की थी। गौरतलब है कि इसी संगठन ने इजराइली दूतावास पर हुए ब्लास्ट की जिम्मेदारी भी ली थी। 

This post was last modified on March 5, 2021 7:13 pm

Share
Published by
%%footer%%