Subscribe for notification

रोजगार की मांग को लेकर देश भर में बजी ताली और थाली

प्रयागराज। राष्ट्रव्यापी आह्वान के तहत इलाहाबाद में विभिन्न संगठनों से जुड़े छात्रों और नौजवानों ने आज सुभाष चौराहा सिविल लाइंस में थाली बजाकर बेरोज़गारी के ख़िलाफ़ प्रतिवाद जताया। युवाओं ने कहा कि एसएससी सीजीएल 2018, एसएससी सीएचएसएल 2018, एसएससी एमटीएस 2019, रेलवे एनटीपीसी 2019, रेलवे ग्रुप डी 2019, बैंक, उत्तर प्रदेश अधीनस्थ चयन सेवा आयोग (यूपीएसएसएससी), उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग, चयन बोर्ड, लोकसेवा आयोग, आदि प्रतियोगी परीक्षाओं की सभी प्रक्रिया अविलंब पूरी करने व भारतीय रेल, LIC, HPCL, कोल इंडिया, एयर इंडिया, एयरपोर्ट आदि को बेचे जाने पर तुरंत रोक लगे। साथ ही उन्होंने खत्म किए गए पदों पर बिना देरी के भर्ती करने व भर्ती में भ्रष्टाचार पर रोक लगाने की मांग की।

युवाओं ने कहा कि सरकार सभी युवाओं को रोज़गार दे नहीं तो 10,000 रुपए प्रति माह भत्ता देने का कानून बनाए।

युवाओं ने कहा कि आज सरकार सभी क्षेत्रों का निजीकरण कर रही है और नौजवानों को रोजगार देने के बजाय रोजगार छीनने का काम कर रही है। छात्र नौजवान बहुत परेशान हैं लेकिन उनके सवालों पर लड़ने वाली कोई ताकत नहीं दिख रही है। सभी आयोग व बोर्ड नौकरी देने से पीछे हट रहे हैं। भ्रष्टाचार चरम पर है और सरकार कोर्ट कोर्ट खेल रही है और नौजवानों को परेशान कर रही है। उन्होंने कहा कि आज न सिर्फ रोजगार, स्वास्थ्य, शिक्षा, सुरक्षा सब लोगों से छीन लिया गया है बल्कि जो भी आवाज उठाएगा उसको लाठी के बल पर दबाने का काम किया जा रहा है। इन सब हालातों को देखते हुए ही युवाओं ने देश भर में रोज़गार के लिए थाली-ताली बजाने  का निर्णय लिया है।

कार्यक्रम को नौजवानों-छात्रों व आम नागरिक बुद्धिजीवी समाज का भी समर्थन मिला। आज कार्यक्रम में इंकलाबी नौजवान सभा के सचिव सुनील मौर्य, युवा स्वाभिमान मोर्चा संयोजक डॉ आर पी गौतम, आईसीएम के रितेश विद्यार्थी, न्याय मोर्चा के सह संयोजक सुमित गौतम, प्रदीप ओबामा, विष्णु सिंह, अमर बहादुर गौतम राकेश, आशीष, शैलेश कुमार, मुस्ताक, सुभाष चंद्र, अनिरुद्ध, नीरज सरोज आदि शामिल हुए।

This post was last modified on September 6, 2020 12:14 pm

Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi

Share
Published by