Subscribe for notification
Categories: बीच बहस

कांग्रेस द्वारा मुहैया करायी गयी बसों को नहीं मिली यूपी में चलाने की अनुमति, लल्लू ने कहा- बीजेपी का गरीब विरोधी चेहरा हुआ बेनकाब

लखनऊ। यूपी सरकार ने कांग्रेस द्वारा प्रवासी मज़दूरों को ले जाने के लिए मुहैया करायी गयी बसों को सूबे में चलने की इजाज़त देने से इंकार कर दिया है। कांग्रेस ने सरकार के इस रवैये पर तीखा हमला बोला है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा है कि इससे बीजेपी का गरीब विरोधी चेहरा बेनक़ाब हो गया है।

उन्होंने जारी प्रेस नोट में कहा कि पूरा देश देख रहा है कि इस भयानक गर्मी में हमारे देश निर्माता मजदूर बहन-भाई बिना खाए पिए, पैदल अपने घरों की ओर चल रहे हैं। आए दिन दिल दहला देने वाली सड़क दुर्घटनाएं हो रही हैं। पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर 1000 बसों को चलाने की अनुमति मांगी लेकिन गरीब विरोधी भाजपा सरकार ने अनुमति देने से इंकार कर दिया।

उन्होंने कहा कि यूपी बॉर्डर पर पार्टी ने 500 बसों का जत्था खड़ा किया ताकि अपने प्रवासी मजदूरों को सकुशल उनके घरों तक छोड़ा जा सके। पर अमानवीय भाजपा सरकार ने उसकी अनुमति नहीं दी।

उन्होंने कहा कि भाजपा का चाल-चरित्र दोनों जनता के सामने स्पष्ट हो गया है। भाजपा गरीबों मजलूमों का मज़ाक बना रही है। कांग्रेस पार्टी अपनी ज़िम्मेदारी निभाते हुए जगह-जगह प्रवासियों, ज़रूरतमंद लोगों की मदद कर रही है लेकिन भाजपा की सरकार लगातार गरीब विरोधी जेहनियत का मुजाहिरा कर रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी ने देश को बनाने वाले श्रमिकों के लिए टिकट का पैसा देने की घोषणा की लेकिन जिन प्रदेशों में भाजपा की सरकार है वहां अड़ंगा लगा दिया।

उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी लगातार इस आपदा में लोगों की मदद कर रही है। हापुड़, गाज़ियाबाद, नोएडा, झांसी, कानपुर, खीरी, फतेहपुर, लखनऊ, जौनपुर, चंदौली, इलाहाबाद समेत 20 जिलों में रसोईघर चलाया जा रहा है। कांग्रेस के सिपाही लगातार हाइवे पर स्टॉल्स लगाकर खाना बांट रहे हैं। पिछले कई हफ़्तों से जिलों में हाईवे पर राहत कार्य चल रहा है।

जारी बयान में उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में पार्टी ने 60 लाख लोगों को राशन और खाना पहुंचाया। 7 लाख प्रवासी मजदूर भाइयों-बहनों की उत्तर प्रदेश से बाहर मदद की उनको राशन-खाना, दवा उपलब्ध करवाया।

उन्होंने कहा कि यूपी मित्र नाम के चैट पोर्टल और हेल्पलाइन के जरिये पार्टी लगातार लोगों की मदद कर रही है। इन पर अब तक लाखों रिक्वेस्ट आ चुकी हैं। इस विपत्ति की घड़ी में जनसेवा ही बेहतर राजनीति है।

This post was last modified on May 17, 2020 9:52 pm

Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi

Share
Published by