Subscribe for notification
Categories: बीच बहस

राजस्थान के राजनीतिक अस्तबल में दल-बदलू घोड़ों की लगी 30-35 करोड़ कीमत, सौदेबाज बीजेपी नेता संजय जैन गिरफ्तार

राजस्थान में जनता द्वारा चुनी हुई कांग्रेस सरकार को गिराने की भाजपा की साजिश, और विधायकों की खरीद-फरोख्त का ऑडियो टेप वायरल होने के बाद आज सुबह राजस्थान में कांग्रेस द्वारा एक प्रेस कान्फ्रेंस आयोजित की गयी। प्रेस कान्फ्रेंस को कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला और नवनिर्वाचित राजस्थान कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष गोविंद सिंह ने संबोधित किया।

सबसे पहले बोलते हुए रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, “पिछले लगभग एक महीने से विधायकों के ख़रीद-फ़रोख्त की चर्चा चल रही है। स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप में भी एक मुकदमा दर्ज़ है जहाँ पर जाँच भी चल रही है। कई प्रकार की अटकलें लगाई गईं। 30-35 करोड़ में विधायकों की निष्ठा और विश्वास खरीदकर राजस्थान की 8 करोड़ जनता के जनमत से चुनी हुई कांग्रेस सरकार को अस्थिर करवाने और गिराने के षड्यंत्र की बात जग जाहिर हुई सामने आई। भारतीय जनता पार्टी की भूमिका विधायकों की ख़रीद-फ़रोख्त में कई बार प्रश्न चिन्ह के दायरे में आई। दोनों तरफ से काफी वाद-विवाद सामने आया”।

कांग्रेस प्रवक्ता ने आगे कहा कि “परंतु कल शाम और आज जो टेप सामने आ गए हैं उससे एक बात साफ है कि प्रथम दृष्टि से भारतीय जनता पार्टी के द्वारा चुनी हुई सरकार गिराने और विधायकों की निष्ठा को ख़रीदने का षड्यंत्र किया गया । भारतीय जनता पार्टी द्वारा जनमत का अपहरण और प्रजातंत्र के चीरहरण की कोशिश की जा रही है। राजस्थान सरकार गिराने का घिनौना षड्यंत्र अब बेनकाब हो गया है। उसकी परतें खुलने लगी हैं। अब ये साफ है कि चीन या कोरोना से लड़ने के बजाय भारतीय जनता पार्टी और मोदी सरकार सत्ता लूटने का काम कर रही है और इसका परिप्रेक्ष्य भी है। साथियों याद करिए कि कोरोना महामारी के बीचों-बीच मोदी सरकार ने मध्य प्रदेश में भी प्रजातंत्र का चीरहरण कर डाला था”।

उन्होंने कहा कि “पूरा देश कोरोना से जूझ रहा था पर इसी आईटीसी ग्रैंड होटल मानेसर गुड़गांव से लेकर कर्नाटक तक कांग्रेस के विधायकों को भरकर ले जाकर मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिराने का षड्यंत्र किया जा रहा था। और जब 24 मार्च 2020 को जबरन कांग्रेस की सरकार गिराई गई तो ही 24 मार्च की आधी रात से लॉकडाउन लागू किया गया। मणिपुर, उत्तराखंड, उत्तरांचल, गोवा, कर्नाटक, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश औऱ अब राजस्थान में भाजपा द्वारा सत्ता की हवस का खेल खेला जा रहा है।”

कोरोना आपदा में सत्ता का अवसर खोजती भाजपा

रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आगे देश के मुख्य संकटों के बीच भाजपा के कुत्सित साजिश पर बोलते हुए कहा- “कोरोना केस दस लाख पार कर चुके हैं। आर्थिक महामारी और महँगाई ने लोगों की ज़िंदगी दूभर कर दी है। चीन ने हमारी सरजमीं पर कब्ज़ा कर रखा है। परंतु मोदी सरकार औऱ भाजपा बजाय कोरोना आर्थिक मंदी और चीन से लड़ने के सत्ता के लूट में लगी हैं। परंतु अब की बार उन्होंने गलत राज्य को चुनौती दे दी। उन्होंने शायद 8 करोड़ राजस्थानियों के ज़ज़्बे को समझा नहीं।”

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि “दोस्तों कल शाम जो दो सनसनीखेज और चौंकाने वाले ऑडियो टेप मीडिया के माध्यम से सामने आए हैं, इन टेपों में तथाकथित रूप से भारत सरकार के कैबिनेट मंत्री राजेंद्र शेखावत, भँवर लाल शर्मा जो कांग्रेस के विधायक हैं, संजय जैन, भाजपा नेता से तथाकथित बातचीत सामने आई। इस तथाकथित बातचीत में विधायकों की सौदेबाजी विधायकों की निष्ठा खरीदने तथा राजस्थान की सरकार गिराने का षड्यंत्र सामने आया। यह अपने आप में लोकतंत्र के इतिहास को कलंकित करने वाला है। और वो टेप्स जो अब जगजाहिर हैं मीडिया पर चलाए जा रहे हैं उनकी कुछ लाइनें मैं आप पढ़कर सुनाता हूं”-

भँवर लाल शर्मा (कांग्रेस विधायक) संजय जैन (भाजपा नेता) और गजेंद्र सिंह शेखावट  कैबिनेट मंत्री) की बातचीत

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ऑडियो टेप के कुछ अंशों को प्रेस कान्फ्रेंस में पढ़कर सुनाया।

भँवर लाल – “हां साहब बात करवाइए।”

संजय जैन –  “हैलो, एक बात वो तो ठीक है पर संख्याबल देख लेना। हमने आज ही बुक पहुँचिए आप।”

भँवर लाल – “सरकार को रहणी को नहीं, बर्खास्त करनी पड़ेगी।”

संजय जैन- “तुरंत है जे कि व्यवस्था में मैं आपने बताई है मेरे जिम्मे है, आपकी और गिरधारी की (गिरधारी सीपीएम विधायक) है।”

भँवर लाल- “ठीक है।”

संजय जैन – “और मैंने साहेब को कह दियो कि सचिन जी की तरफ से वा लिस्ट में कोई न आवे। बात बढ़िया रहेगी आपकी बात गोपनीय रहेगी, मैं करवा रहा हूँ।”

भँवर लाल- “एमाउंट की बात हो गई है?”

संजय जैन- “हां ताने कल कही थी वा बात एकदम खरी है।”

इसके बाद रणदीप सुरजेवाला ने दूसरे ऑडियो का भी एक हिस्सा पढ़कर सुनाया।

संजय जैन- “हां तो उस परिस्थिति में मैंने तुम्हारा साहेब को बता दिया है कि दो जने हैं। जो हेजीटेशन कर रहे हैं उनकी डायरेक्ट आप से बात है। वो जो डिटेल देंगे वहां वो काम है वो तुरंत प्रभाव से होना चाहिए।”

भँवर लाल – “संजय भाई आपने बता दिया कहीं कोई दिक्कत नहीं है। तुरंत काम होगा।”

भँवर लाल – “यदि संभव हो तो गजेंदर से और बात करवा देना।”

संजय जैन- “हाँ बोलो तो अभी करवा दूँ।”

                                          फिर कॉल कन्फ्रेंस की गई

गजेंदर सिंह – “हैलो।”

संजय जैन – “हैलो।”

गजेंदर सिंह- “अर्ज़ कर रहा हूँ महराज।”

भँवर लाल- “मैं उम्र में बड़ा हूँ तो आशीर्वाद दे दूँ, विजयी भव, विजयी भव।”

गजेंदर सिंह – “बिल्कुल साहेब आपकी आशीर्वाद से विजयी होते हैं।”

भँवर सिंह- “ सारा मामला एक दो दिन में संख्या पूरी हो जाएगी।”।

गजेंदर सिंह – “बस एक बार संख्या पूरी हो जाए फिर हम यहाँ से भेज देंगे। अब तो क्या है कल मैंने भी संजय जी से बात की। अपने को तो 8-10 दिन इधर ही रहना है। राज तो 15 दिन तक तो बाड़े में रह नहीं सकता। जैसे ही लोगो को छोड़ देंगे लोग इधर आ जाएंगे।”

भँवर लाल- “ये बात तो मैं भी समझता हूँ कि वोटर से राज चाल्यो नहीं।”

गजेंदर सिंह- “और संख्या बल है नहीं।”

भँवर लाल- “हां संख्या बल है को नहीं। बाकी आपकी बात संजय से हो गई होगी।”

गजेंदर- “हो हो हो।”

भँवर लाल- “मेरा नाम लिस्ट में होवे कू नहीं।”

गजेंदर – “हूँ।”

भँवर लाल- “मैंने उसको कह दिया है।”

गजेंदर- “हाँ, वो मैं कर लूँगा।”

वायरल ऑडियो की बातचीत को समप करते हुए रणदीप सुरजेवाला ने कहा, “ये बात चीत प्रथम दृष्ट्या ये दर्शाती है कि वो लोग जो गुड़गाँव के होटल में भारतीय जनता पार्टी के मेहमाननवाजी और सुरक्षा चक्र में बैठे हैं भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय मंत्री से बात-चीत कर पैसे का आदान-प्रदान हो रहा है और सरकार गिराने की साजिश भी।”

वायरल ऑडियो टेप में नाम आने पर चेतन डूटी का बयान

वायरल ऑडियो टेप में राजस्थान कांग्रेस विधायक चेतन डूटी का भी नाम भँवर लाल शर्मा द्वारा लिया गया है। इस पर प्रतिक्रिया देते चेतन डूटी ने प्रेस कान्फ्रेंस में कहा- “ तथाकथित ये जो ऑडियो है भँवर लाल शर्मा का इसमें मेरा नाम भी आया है। तो मैं आपके सामने सिर्फ़ ये बात रख रहा हूँ कि मुझे प्रलोभन देने की कोशिश की गई जिसका जुड़ाव कहीं न कहीं इस ऑडियो टेप से है।

लेकिन मैंने वो प्रलोभन लेने से इन्कार कर दिया। मेरे परिवार की पृष्ठभूमि मेरा खुद का कांग्रेस पार्टी के प्रति निष्ठा ये मेरे लिए सर्वोपरि है। जो भी संस्था इस मामले की जांच करेगी मैं खुद उसके सामने जाकर अपनी बात रखना चाहूँगा। मैं अपनी बात यहां इतना रखना चाह रहा था कि ये जो ऑडियो टेप आया है जिसमें प्रलोभन दिया गया है और मेरा नाम है उसमें मुझे किसी न किसी स्तर की प्रलोभन देने की बात की गई है।”

कांग्रेस विधायकों को पार्टी सदस्यता से निलंबित किया गया

कांग्रेस विधायक भँवर पाल शर्मा को टेप की सच्चाई का वेरिफिकेशन होने तक पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया है। विश्वंभर सिंह जिनके बारे में अभी कुछ सूचना और आएगी उन्हें भी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। और उन्हें नोटिस दिया गया है कि कांग्रेस सरकार गिराने के षड्यंत्र में शामिल होने के बारे में वो अपना स्पष्टीकरण दें।

गोविंद सिंह को नियुक्त किया गया राजस्थान कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष

सचिन पायलट को कांग्रेस की राजस्थान कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद गोविंद सिंह को राजस्थान कांग्रेस कमेटी का नया अध्यक्ष चुना गया है। गोविंद सिंह ने प्रेस ब्रीफ में सोनिया गांधी, राहुल गांधी और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी को शुक्रिया अदा किया।

एसओजी में केस, कांग्रेस की मांग

कांग्रेस सचेतक महेश जोशी ने ऑडियो टेप सामने आते ही टेप के आधार पर लिखित दर्ख्वास्त देकर एसओजी में पूरे मामले पर कांग्रेस विधायक भंवर लाल शर्मा, भाजपा नेता संजय जैन और मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के खिलाफ़ एफआईआर दर्ज़ करवाते हुए एसओजी के सामने निम्नलिखित मांगे रखी हैं-

  1. राजस्थान में कांग्रेस सरकार गिराने की साजिश में शामिल केंद्र सरकार के केंद्रीय कैबिनट मंत्री गजेंदर शेखावत के खिलाफ़ स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप्स (SOG) द्वारा एफआईआर दर्ज़ की जाए। पूरी जाँच हो और यदि पद का दुरुपयोग कर जांच प्रभावित करने का अंदेशा हो तो जैसा कि प्रथम दृष्टि से प्रतीत होता है तो वारंट लेकर गजेंदर शेखावत की फौरन गिरफ्तारी ली जाए।
  2. भँवर लाल शर्मा विधायक व संजय जैन (भाजपा नेता) के खिलाफ़ भी एफआईआर दर्ज कर बिंदु एक की तर्ज़ पर कार्रवाई हो
  3. पैसे का आदान-प्रदान किस प्रकार से हो रहा है । सारा काला धन किसने मुहैया करवाया, कहां से आया हवाला से ट्रांसफर कैसे हुआ और किस किस को दिया गया इसकी संपूर्ण जाँच हो।
  4. जांच में ये भी खुलासा हो कि केंद्र सरकार के कौन से प्रभवाशाली पदों पर बैठे मंत्री, अधिकारी या एजेंसियां राजस्थान की कांग्रेस सरकार को गिराने की साजिश कर रही हैं।
  5. यह भी जांच हो कि इस ऑडियो में नामित व्यक्तियों के अलावा क्या किसी और व्यक्ति या विधायक द्वारा सरकार गिराने या निष्ठा बदलने के एवज में पैसों का लेन-देन हुआ है। सचिन पायलट भी आगे आकर विधायकों की तथाकथित सूची भाजपा को देने के इल्जाम पर अपनी स्थिति सार्वजनिक रूप से स्पष्ट करें।

भाजपा नेता संजय जैन गिरफ्तार

कल एसओजी में एफआईआर दर्ज़ होने के बाद आज सुबह जयपुर पुलिस द्वारा भाजपा नेता संजय जैन को गिरफ्तार कर लिया गया है। उनका एक ऑडियो टेप वायरल हुआ है जिसमें वो कांग्रेस विधायकों की खरीददारी करते हुए सुने गए हैं।

(जनचौक के विशेष संवाददाता सुशील मानव की रिपोर्ट।)

Donate to Janchowk!
Independent journalism that speaks truth to power and is free of corporate and political control is possible only when people contribute towards the same. Please consider donating in support of this endeavour to fight misinformation and disinformation.

Donate Now

To make an instant donation, click on the "Donate Now" button above. For information regarding donation via Bank Transfer/Cheque/DD, click here.

This post was last modified on July 17, 2020 4:00 pm

Share