Subscribe for notification

बीच बहस

आज और कल के दौर में गांधी

सर्व प्रथम यह सपष्ट कर दूं, मैं गांधीवादी या गांधी अनुयाई नहीं हूं। पचास साल पहले जब थोड़ी बहुत राजनीतिक…

12 months ago

शख्सियतों के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज करवा कर मुज़फ्फरपुर सीजेएम ने उड़ाया ज्यूडिशियरी का मजाक

संविधान के अनुच्छेद 142 के तहत उच्चतम न्यायालय का आदेश देश का कानून माना जाता है, इसलिए उच्चतम न्यायालय भी अनुच्छेद 142 के तहत…

12 months ago

माहेश्वरी का मत: भारत के लिए महंगा साबित हो सकता है कश्मीर पर मोदी सरकार का फैसला

ऐसा लगता है कि मोदी कश्मीर के लॉक डाउन को कम से कम दो साल तक चलाना चाहते हैं।  उन्हें…

12 months ago

गांधी को ठेंगा दिखा रहा मॉब लिंचिंग के खिलाफ पीएम को पत्र लिखने वाली शख्सियतों पर देशद्रोह का मुकदमा

गजब खेल चल रहा है देश में। एक ओर देश गांधी जी की 150वीं जयंती मनाकर अहिंसा का संदेश दे…

12 months ago

कानून के शासन और लोकतंत्र के लिए मजबूत, निडर और स्वतंत्र न्यायपालिका जरूरी

हाल के दिनों में न्यायपालिका से जिस तरह के निर्णय आये हैं और न्यायपालिका संविधान और कानून के शासन की…

12 months ago

गांधी स्मृति श्रृंखला (भाग-4):गांधी शुरू से बने हुए थे संघ समेत सभी हिंदुत्ववादियों की आंख का कांटा

क्या कहता है जीवन लाल कपूर आयोग: प्रमुख निष्कर्ष इस आयोग के खंड पांच, अध्याय 21 और पेज 303 के…

12 months ago

गांधी स्मृति श्रृंखला(भाग-3):कपूर आयोग ने ठहराया था सावरकर को गांधी की हत्या का मुख्य साजिशकर्ता

भिलारे गुरूजी को जानना क्यों जरूरी है ? ‘‘ पंचगणी में महात्मा गांधी की प्रार्थना सभा में आने की सभी…

12 months ago

गांधी स्मृति श्रृंखला (भाग-2): गोडसे को महिमामंडित करने के नये दौर की शुरुआत

यह अलग बात है कि कोलकाता की इन ख़बरों से गांधी कत्तई प्रसन्न नहीं हुए थे क्योंकि दिल्ली, पंजाब तथा…

12 months ago

संवैधानिक संस्थाओं के लिए बीजेपी का हित सर्वोपरि

वैदिक हिंसा, हिंसा न भवति और दुराचार-भ्रष्टाचार यदि भाजपा या उसके समर्थकों का हो तो वह भी दुराचार-भ्रष्टाचार न भवति।…

12 months ago

बहुजन राजनीति को अलविदा कहने का वक्त

(स्वराज अभियान की राष्ट्रीय कार्यसमिति के सदस्य अखिलेंद्र प्रताप सिंह ने 29 सितंबर को सोनभद्र, मिर्जापुर और चंदौली के जिला…

12 months ago