Subscribe for notification

हाथरस: प्रियंका गांधी के गले लग फफक कर रो पड़ी पीड़िता की मां

आज हाथरस के लिए निकलने से पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा था कि हम पीड़ित परिवार से उसका दर्द साझा करने जा रहे हैं। इसे एक सामान्य वाक्य की तरह ही लिया गया।

लेकिन जब हाथरस के पीड़ित परिवार से वीडियो विजुअल आए जिसमें कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के गले लगकर पीड़िता की मां फफक-फफककर रो रही है तो लगा कि हां सचमुच दोनों नेताओं ने पीड़ित परिवार का दर्द बांट लिया है।

इस दौरान राहुल गांधी ने पीड़िता के पिता और भाई से बात करके उनका ग़म बांटा साथ ही उन्हें आश्वासन दिया कि वो पीड़ित परिवार को न्याय दिलाकर ही दम लेंगे।

वहीं पीड़िता के भाई ने राहुल और प्रियंका गांधी से मुलाकात पर कहा, “हमारी जो आपबीती है हमने वही उनसे साझा किया। उन्होंने पूरे धैर्य से हमें सुना और हम लोगों को भरोसा दिया कि वो हमारे साथ हैं। हमें कभी भी, कोई भी ज़रूरत हो हम उन्हें बताएं, वो हमारे साथ खड़े होंगे। ”

बता दें कि तीन दिन की मशक्कत और आज शाम नोएडा के डीएनडी पर यूपी पुलिस और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच चली रस्साकशी और हाई-वोल्टेज ड्रामे के बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत पांच लोगों को पीड़ित परिवार से मिलने जाने का परमिशन दे दिया गया था।

जबकि कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए यूपी पुलिस ने उनके ऊपर लाठीचार्ज भी किया।

उस वक़्त मौके पर गाड़ी में मौजूद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी बिना एक भी पल देर किए गाड़ी से निकलकर कार्यकर्ताओं का ढाल बन यूपी पुलिस के सामने खड़ी हो गईं। इस दरम्यान आए कई फुटेज में साफ दिख रहा है कि यूपी पुलिस के एक सिपाही का हाथ प्रियंका गांधी के गिरेबान तक पहुँच गया है।

सोशल मीडिया और तमाम मीडिया फुटेज में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी की आज के दो वीडियो वायरल हो रहे हैं। उनके विरोधी तक उनकी प्रशंसा किए बिना नहीं रह पा रहे हैं।

बता दें कि पिछले तीन दिन से लगातार राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलने के लिए निकलते रहे हैं और हर बार उन्हें यूपी पुलिस की बर्बरता और बदसलूकी का शिकार होना पड़ रहा था। कल दिल्ली के वाल्मीकि मंदिर में भी प्रियंका गांधी पीड़िता के लिए रखी गई प्रार्थना सभा में शामिल हुई थीं। इस दौरान उन्होंने आधी रात घर वालों की मर्जी के खिलाफ़ पीड़िता की लाश जलाने की घटना को धर्म और कानून के खिलाफ़ बताते हुए राज्य और केंद्र की भाजपा सरकार को कठघरे में खड़ा किया था।

पीड़ित परिवार ने न्यायिक जांच की मांग की

पीड़िता की भाभी का कहना है कि हमें सीबीआई जांच नहीं चाहिए। हम चाहते हैं कि मामले की न्यायिक जांच करवाई जाए। हमें सीबीआई पर भरोसा नहीं है।

वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले में सीबीआई जांच के लिए केंद्र सरकार को लिखा है।

(जनचौक ब्यूरो की रिपोर्ट।)

This post was last modified on October 3, 2020 10:52 pm

Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi

Share
Published by