Thursday, January 20, 2022

Add News

सीमा विवाद को लेकर असम-मिजोरम के बीच हिंसा, असम पुलिस के 6 जवानों की मौत

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

असम-मिजोरम सीमा पर हिंसा भड़कने की ख़बर है। असम के मुख्यमंत्री ने अभी अभी ट्वीट करके जानकारी दी है कि हिंसा में असम पुलिस के 6 जवानों की मौत हो गयी है। वहीं एनआईए ने जानकारी दी है कि अमित शाह के हस्तक्षेप के बाद मामला सुलझा लिया गया है। 

जबकि मिजोरम के मुख्यमंत्री ने ट्वीट करके जानकारी दी है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा मुख्यमंत्रियों की सौहार्दपूर्ण बैठक के बाद, आश्चर्यजनक रूप से असम पुलिस की 2 कंपनियों ने आज मिजोरम के अंदर वैरेंगटे ऑटो रिक्शा स्टैंड नागरिकों पर लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोले दागे। उन्होंने सीआरपीएफ कर्मियों/मिजोरम पुलिस को भी नहीं छोड़ा।

असम पुलिस ने मीडिया को जानकारी दी है कि दोनों राज्यों की सीमा पर मिजोरम से आए कुछ अराजक तत्वों ने पथराव और फायरिंग किया है। इस मामले पर दोनों ही राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने एक-दूसरे पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से दखल की मांग की है। बता दें कि दोनों राज्यों के बीच तनाव तब पैदा हुआ जब असम पुलिस ने राज्य की ज़मीन को कब्जे में लेने के लिए सीमा पर कथित तौर पर अतिक्रमण करना शुरू किया। 10 जुलाई को जब असम सरकार की टीम मौके पर गई तो उस पर अज्ञात लोगों ने बम से हमला कर दिया।

आज सोमवार को मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथंगा ने झड़प का एक वीडियो ट्वीट कर गृह मंत्री अमित शाह को टैग करते हुए अनुरोध किया था कि इस मामले पर तुरंत कोई कार्रवाई करें। इसमें प्रधानमंत्री कार्यालय को भी टैग किया गया है। 

वहीं असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने इस मामले पर ट्वीट करते हुए कहा है कि मैंने अभी अभी मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथंगा जी से बात की है। मैंने दोहराया है कि असम हमारे राज्य की सीमाओं के बीच यथास्थिति और शांति बनाए रखेगा। उन्होंने कहा कि मैंने आइजोल जाने और जरूरत पड़ने पर इन मुद्दों पर चर्चा करने की इच्छा व्यक्त की है। 

अपने दूसरे ट्वीट में असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने मिजोरम के मुख्यमंत्री को संबोधित करते हुए लिखा है कि-” माननीय जोरमथंगा जी, कोलासिब (मिजोरम) के एसपी ने हमसे कहा है कि जब तक हम अपनी पोस्ट से पीछे नहीं हट जाते तब तक उनके नागरिक सुनेंगे नहीं और हिंसा नहीं रोकेंगे। ऐसे हालात में सरकार कैसे चला सकते हैं?” 

वहीं हिमंता बिस्वा सरमा के ट्वीट के जवाब में जोरमथंगा ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि हिमंत जी,  अमित शाह जी ने दोनों मुख्यमंत्रियों के साथ एक निर्णायक बैठक की थी। उसके बाद आश्चर्यजनक रूप से आज मिजोरम में वेरिंगटे ऑटो रिक्शा स्टैंड के पास असम पुलिस की दो कंपनियां नागरिकों के साथ आईं और वहां मौजूद नागरिकों पर आंसू गैस के गोले दागे और लाठी चार्ज किया। उन्होंने सीआरपीएफ और मिजोरम पुलिस के जवानों को भी भगा दिया। 

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने असम और मिजोरम के मुख्यमंत्रियों से बात की और उनसे सीमा मुद्दे को हल करने को कहा है। दोनों मुख्यमंत्रियों ने इस मुद्दे को सुलझाने और शांति बनाए रखने पर सहमति जताई है। दोनों राज्यों के पुलिस बल विवादित स्थल से लौटे हैं। सूत्रों ने मीडिया को ऐसी जानकारी दी है। 

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

ब्रिटिश पुलिस से कश्मीर में भारतीय अधिकारियों की भूमिका की जांच की मांग

लंदन। लंदन की एक कानूनी फर्म ने मंगलवार को ब्रिटिश पुलिस के सामने एक आवेदन दायर कर भारत के...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -