Friday, October 22, 2021

Add News

नहीं रहा कांग्रेस का चाणक्य

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और गुजरात से राज्यसभा सांसद अहमद पटेल (71) का बुधवार देर रात 3:30 पर निधन हो गया। इस बाबत अहमद के बेटे फैजल ने ट्वीट करके दुख साझा किया है। फैजल ने लिखा है-, “बड़े दुख के साथ मैं यह बताना चाहता हूं कि मेरे पिता अहमद पटेल का बुधवार देर रात 3.30 बजे निधन हो गया है। करीब एक महीने पहले उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी और उनके शरीर के कई अंग काम करना बंद कर चुके थे, जिसके बाद उनकी मौत हो गई। अल्लाह उन्हें जन्नत फरमाए।”

बता दें कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कोषाध्यक्ष रहे अहमद पटेल एक अक्तूबर को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। उन्हें 15 नवंबर को गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल की गहन चिकित्सा इकाई में भर्ती कराया गया था। अहमद पटेल ने खुद के कोरोना संक्रमित होने की जानकारी देते हुए अपने सभी करीबियों और संपर्क में आने वाले लोगों से खुद को आइसोलेट करने और कोविड टेस्ट कराने की अपील की थी।

अहमद पटेल का जन्म 21 अगस्त, 1949 को गुजरात के भरूच जिले के पिरामण गांव में हुआ था। वे 3 बार लोकसभा सांसद (1977 से 1989) और 4 बार राज्यसभा सांसद (1993 से 2020)  रहे। पहली बार महज 28 वर्ष की उम्र में उन्होंने अपना पहला चुनाव 1977 में भरूच लोकसभा सीट से लड़ा था और 62 हजार 879 वोटों से जीते थे। उनकी गिनती कांग्रेस के तेज तर्रार नेताओं में होती थी। साल 2017 में राज्यसभा चुनाव के लिए उनकी प्लानिंग के चलते अमित शाह की एक न चली थी और पहली बार अमित शाह को मुंह की खानी पड़ी थी।

अहमद पटेल ने कई वर्षों तक सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार के तौर पर काम किया और माना जाता है कि वह उनके द्वारा लिए गए हर महत्वपूर्ण निर्णय का हिस्सा थे। कई वर्षों तक वो कांग्रेस पार्टी के कोषाध्यक्ष भी रहे थे।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अहमद पटेल के निधन पर अपने शोक संदेश में कहा है, “अहमद पटेल के रूप में मैंने एक सहयोगी को खो दिया है, जिसका पूरा जीवन कांग्रेस पार्टी को समर्पित था। उनकी ईमानदारी और समर्पण, अपने कर्तव्य के प्रति उनकी प्रतिबद्धता, वह हमेशा मदद करने के लिए तैयार रहते थे। उनकी उदारता दुर्लभ गुण थे, जो उन्हें दूसरों से अलग करते थे। मैंने एक अपरिवर्तनीय कॉमरेड, एक वफादार सहयोगी और एक दोस्त खो दिया है। मैं उनके निधन पर शोक व्यक्त करती हूं और मैं उनके शोक संतप्त परिवार के लिए संवेदनाएं व्यक्त करती हूं। ”

अहमद पटेल के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, दिग्विजय सिंह समेत कई नेताओं और करीबियों ने अपना शोक जताया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके कहा है- “अहमद पटेल जी के निधन से दुखी हूं। उन्होंने कई साल सार्वजनिक जीवन में समाज के लिए काम किया। उन्हें अपने तेज दिमाग के लिए जाना जाता था। कांग्रेस को मजबूत करने के लिए वे हमेशा याद किए जाएंगे। मैंने उनके बेटे फैजल से बात की है। उनकी आत्मा को शांति मिले।”

अहमद पटेल के निधन पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शोक जताते हुए लिखा है, “यह एक दुखद दिन है। अहमद पटेल कांग्रेस पार्टी के एक स्तंभ थे। उन्होंने कांग्रेस में रहकर सांस ली और सबसे कठिन समय में पार्टी के साथ खड़े रहे। हम उन्हें याद करेंगे। फैजल, मुमताज और परिवार को मेरा प्यार और संवेदना।”

प्रियंका गांधी ने ट्वीट करके लिखा है-“अहमद जी न केवल एक बुद्धिमान और अनुभवी सहकर्मी थे, जिनसे मैं लगातार सलाह और परामर्श लेती थी। वे एक ऐसे दोस्त थे जो हम सभी के साथ खड़े रहे, दृढ़, निष्ठावान और अंत तक भरोसेमंद रहे। उनका निधन एक विशाल शून्य छोड़ देता है। उनकी आत्मा को शांति मिले।” https://twitter.com/priyankagandhi/status/1331407675112919040?s=21

कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुजेवाला ने अहमद पटले के निधन पर शोक जताया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ‘निशब्द.. जिन्हें हर छोटा बड़ा, दोस्त, साथी..विरोधी भी…एक ही नाम से सम्मान देते- ‘अहमद भाई’! वो जिन्होंने सदा निष्ठा व कर्तव्य निभाया, वो जिन्होंने सदा पार्टी को ही परिवार माना, वो जिन्होंने सदा राजनीतिक लकीरें मिटा दिलों पर छाप छोड़ी, अब भी विश्वास नहीं.. अलविदा “अहमद जी”

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

अडानी-भूपेश बघेल की मिलीभगत का एक और नमूना, कानून की धज्जियां उड़ाकर परसा कोल ब्लॉक को दी गई वन स्वीकृति

रायपुर। हसदेव अरण्य क्षेत्र में प्रस्तावित परसा ओपन कास्ट कोयला खदान परियोजना को दिनांक 21 अक्टूबर, 2021 को केन्द्रीय...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -