Subscribe for notification

यूपी में सीएए-एनआरसी के खिलाफ उबाल, पांच लोगों की मौत

बीस दिसंबर को भी देश के तमाम इलाकों में सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन जारी रहे। यूपी के कई जिलों में विरोध-प्रदर्शन हिंसक हो गए। इसमें अब तक पांच लोगों की मौत हो गई है। दिल्ली में कई जगहों पर वाहनों को आग लगा दी गई। उधर, यूपी के तकरीबन 14 जिलों में एहतियात के तौर पर इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।

लखनऊ में अभी भी तनावपूर्ण स्थित है। यहां हालात पर नजर रखने के लिए ड्रोन कैमरे का इस्तेमाल किया जा रहा है। यहां गुरुवार की रात से इंटरनेट सेवाएं भी बंद हैं। कानपुर, संभल, फिरोजाबाद में एक-एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई है। बिजनौर में दो लोगों के मारे जाने की सूचना है। हालांकि कुछ मीडिया की खबरों में मरने वालों की संख्या छह बताई जा रही है।

फिरोजाबाद में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच आमने-सामने हुई फायरिंग में एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई। आठ पुलिसकर्मियों को भी चोट आई है। फिरोजाबाद में सीएए और एनआरसी का विरोध हुआ। यहां भीड़ हिंसक हो गई। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ियों समेत कई अन्य गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। यहां पुलिस चौकी को भी जलाने का प्रयास हुआ है।

कानपुर में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच टकराव हो गया। पुलिस के लाठीचार्ज करने पर लोगों ने उस पर पथराव कर दिया। हलीम मुस्लिम कॉलेज से यतीम खाने तक जुलूस निकाला गया था। पुलिस ने इन्हें रोकने की कोशिश की और लोगों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया। गुस्साए लोगों ने कई गाड़ियों में तोड़फोड़ की और पुलिस पर भी पथराव किया। कानपुर के बाबूपुरवा के बगाही और मछरिया क्षेत्र में आगजनी की ख़बरें सामने आई हैं।

यहां प्रदर्शन के दौरान सात लोगों के घायल होने की सूचना है। बवाल बढ़ने पर डीआईजी पीएसी को कानपुर भेजा गया है। एक प्लाटून पीएसी भी तैनात की गई है। कानपुर में कुछ लोगों को गोली लगी है। पुलिस का कहना है कि आपस में हुई गोलीबारी में कुछ लोग जख्मी हुए हैं। हमीरपुर जिले में भी उपद्रवियों द्वारा हिंसक प्रदर्शन किया गया है। मुजफ्फरनगर में भी पथराव हुआ है। यहां आगजनी की सूचना है।

बहराइच में भी जुमे की नमाज के बाद लोगों ने सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन किया। बाद में प्रदर्शनकारियों का पुलिस से टकराव हो गया। प्रदर्शनकारियों को जबरन रोके जाने पर वह नाराज हो गए और उन्होंने पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस ने भीड़ पर फायरिंग की और आंसू गैस के गोले दागे। यहां पुलिस फोर्स तैनात की गई है। यहां स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है।

गोरखपुर के नक्खास में जुमे की नमाज के बाद प्रदर्शन हुए। प्रदर्शनकारियों को रोकने पर उन्होंने पुलिस पर पथराव कर दिया। पथराव के बाद पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज किया है। अलीगढ़ में शाह जमाल ईदगाह पर जमा हुए प्रदर्शनकारियों का पुलिस से टकराव हुआ है। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया है। यहां लोगों ने पुलिस पर पथराव किया है।

नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर बुलंदशहर में भी उबाल है। यहां लोगों ने उग्र प्रदर्शन किए। नाराज लोगों ने पुलिस की गाड़ी को आग के हवाले कर दिया। वाराणसी के बजरडीहा, जौनपुर और भदोही जिले में जुमे की नमाज के बाद प्रदर्शनकर रहे लोगों का पुलिस से टकराव हो गया। नाराज लोगों ने पुलिस पर पथराव किया है। पुलिस ने लाठी चार्ज किया है और आंसू गैस के गोले दागे हैं। मऊ में जुमे की नमाज बाद प्रदर्शन कर रहे लोगों को पुलिस ने रोकने का प्रयास किया। लाठीचार्ज से मची भगदड़ में कई लोग घायल हो गए।

फैजाबाद में जुमे की नमाज के बाद कई जगहों पर लोगों ने जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया। यहां प्रशासन ने पहले से ही एहतियात के तौर पर धारा 144 लगा रखी है।

दिल्ली में जामा मस्जिद के बाहर बड़ी संख्या में लोग जमा हुए। भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद भी यहां पहुंचे। जुमे की नमाज के बाद लोग जंतर मंतर जाना चाहते थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया। बाद में शाम को कुछ लोगों ने पुलिस बैरिकेडिंग तोड़कर जाने की कोशिश की। लोगों ने पुलिस पर पथराव भी किया। इंडिया गेट पर भी बड़ी संख्या में लोग प्रदर्शन के लिए जमा हुए। यहां कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी भी पहुंचीं। दिल्ली पुलिस का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। इसमें छतों पर खड़ी पुलिस लोगों पर पथराव करने के लिए ईंट जमा कर रही है।

This post was last modified on December 20, 2019 11:08 pm

Share
Published by
Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi