पहला पन्ना

लंदन नये कोरोना वायरस की चपेट में, खतरे को देखते हुए भारत ने लगाई उड़ानों पर रोक

वैश्विक महामारी कोविड-19 के नये खतरनाक वायरस SARS-CoV-2 के फैलाव की सूचना के बाद भारत ने ब्रिटेन से आने जाने वाली अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर 31 दिसंबर, 2020 के मध्य रात्रि तक प्रतिबंध लगा दिया है। यह प्रतिबंध 22 दिसंबर यानि आज रात 11 बज कर 59 मिनट से लागू होगा। उससे पहले आने वाली उड़ान के हर यात्री के लिए RT-PCR टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण द्वारा जारी एक नोटिस में कहा गया है कि ब्रिटेन में मौजूदा स्थिति को देखते हुए भारतीय सरकार ने वहां से भारत आने वाली सभी उड़ानों को अस्थायी रूप से 31 दिसंबर को रात 11:59 बजे तक निलंबित कर दिया है। यह निलंबन 22 दिसंबर की रात 11.59 बजे से लागू होगा। 

नोटिस में कहा गया है कि इस बीच ब्रिटेन से आने वाले जो भी संक्रमित पाये जायेंगे उन्हें कोविड केंद्र में जाना होगा और जो टेस्ट में नेगेटिव भी पाए जाएंगे उन्हें भी खुद को 7 दिनों के लिए आइसोलेट करने की सलाह दी जाएगी ताकि उनकी मेडिकली निगरानी हो सके।

इस संदर्भ में सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों और स्वास्थ्य विभागों को निर्देश दिए गये हैं। यही बात नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने भी बयान जारी कर कहा है।

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने कहा कि ब्रिटेन से खबरें हैं कि नया वायरस खतरनाक स्‍तर पर बहुत तेजी से फैल रहा है। इसलिए हमने 22 दिसंबर को रात 12 बजे से तय किया है और ब्रिटेन की सभी उड़ानों को 31 दिसंबर, 2020 तक अस्थायी रूप से सस्‍पेंड कर दिया गया है। केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पूरी ने कहा इस बीच जो भी भारत आयेंगे उनके लिए RT PCR जांच अनिवार्य है।

इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि भारत में लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है, सरकार इस नए टाइप के खतरे को लेकर अलर्ट है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार पूरी तरह से सजग है और आतंकित होने का कोई कारण नहीं है।

इस नए वायरस का पता चलने के बाद कई देशों ने ब्रिटेन से अपनी उड़ानों को बंद किया है। यूरोप के कई देशों समेत करीब 40 देशों ने ब्रिटेन से अपनी उड़ानों को रद्द किया है।

जर्मनी ने ब्रिटेन की सभी उड़ानों को आधी रात से निलंबित करने का फैसला किया है। इटली ने भी ब्रिटेन से आने वाली उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है। सऊदी अरब और तुर्की ने सभी विदेश यात्राओं पर एक सप्‍ताह के लिए रोक लगा दी है। इस दौरान कोई विमान देश के बाहर न जाएगा और न ही आएगा। नीदरलैंड ने रविवार से ब्रिटेन से यात्रियों को ले जाने वाली उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया और यह प्रतिबंध 1 जनवरी तक लागू रहेगा।

फ़्रांस के परिवहन मंत्री ने कल ट्वीट कहा था कि अगले 48 घंटों तक ब्रिटेन से आने वाले किसी भी यात्री को फ़्रांस में रुकने नहीं दिया जायेगा।

इसके अलावा बुल्गारिया, लिथुआनिया, रोमानिया, लातविया, एस्टोनिया और चेक गणराज्य ने भी ब्रिटेन से उड़ान पर रोक की घोषणा की है।

ब्रिटेन में यह नया कोविड संक्रमण काफी तेजी से फैल रहा है। वैज्ञानिकों की मानें तो यह काफी खतरनाक है और तेजी के साथ फैलता है। अभी तक यह भी पता नहीं चला है कि जो कोविड वैक्सीन बनाई गई हैं वह इस वायरस पर प्रभावी है या नहीं? ब्रिटेन में इस वायरस को देखते हुए कड़े प्रतिबंध लगा दिए गए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि वह वायरस की जांच कर रहा है। जांच के परिणाम जल्द विश्व के सामने होंगे।

इधर इंडियन काउन्सिल फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) के अधिकारियों ने कहा है कि उन्हें अभी तक नमूनों में ब्रिटेन में फैल रहा नया कोरोना वायरस नहीं मिला है। हमारी किसी भी प्रयोगशाला में या जांच केंद्र में अभी तक यह नया वायरस नहीं मिला है।

भारत में केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ लाखों किसान सड़कों पर आंदोलन कर रहे हैं, ऐसे में वहां इस बारे में जानकारी, निगरानी और सावधानी रखने की जरुरत है। विशेष कर बाहर के देशों से यदि कोई वहां आ रहा है तो।

(नित्यानंद गायेन की रिपोर्ट।)

This post was last modified on December 22, 2020 4:28 pm

Share