11 दिनों तक तबाही मचाने के बाद इजराइल ने सैन्य ऑपरेशन को रोका

नई दिल्ली। इजराइली मीडिया के हवाले से आ रही खबरों के मुताबिक इजराइल ने गाजा पट्टी में पिछले 11 दिनों से जारी अपने सैन्य आपरेशन को रोक दिया है। यह फैसला प्रधानमंत्री नेतन्याहू के नेतृत्व में हुई कैबिनेट की बैठक में लिया गया। बताया जा रहा है कि फैसला एकतरफा लिया गया है।

कहा जा रहा है कि इजराइल यह फैसला अमेरिका के भारी दबाव में लिया है। बहुत सारे सूत्रों के हवाले से आयी खबरों में बताया गया है कि युद्धबंदी रात में दो बजे से लागू हो गयी है। कैबिनेट के फैसले के ठीक तीन घंटे बाद।

हालांकि तात्कालिक तौर पर नेतन्याहू के दफ्तर से इसकी पुष्टि नहीं हुई है और न ही हमास ने इस पर कोई प्रतिक्रिया जाहिर की है।

इजराइल ने 10 मई को ही हमला शुरू कर दिया था। और उसने गाजा पट्टी में स्थित फिलीस्तीनियों के बड़े-बड़े मकानों को अपना निशाना बनाया। इस बार का इजराइल का हमला इतना भीषण था कि खुद उसके समर्थक भी उसकी आलोचना करने के लिए बाध्य हो गए। हालांकि इजराइल का कहना था कि वह हमास के ठिकानों पर हमला कर रहा है। लेकिन हकीकत जो सामने आयी उसमें आम नागरिक और उनकी संपत्तियों का बड़े स्तर पर नुकसान हुआ है।

इजराइल ने मिसाइलों के हमलों से पूरे इलाके को तबाह कर दिया। इस दौरान तकरीबन 230 फिलीस्तीनी मारे गए। जबकि इजराइल में 12 लोगों की मौत हुई। 

This post was last modified on May 21, 2021 9:17 am

Share
%%footer%%