माले ने गृह सचिव से कहा, केरल में फंसे बिहार के मजदूरों की हो मदद

1 min read

पटना। प्रधानमंत्री के अचानक घोषित लॉक डाउन के कारण बिहार के मजदूर जगह-जगह फंस गए हैं। केरल के त्रिसूर में पश्चिम चंपारण के 50 मजदूर फंसे हुए हैं। गाड़ियों के बंद हो जाने से वे बिहार नहीं लौट सकते। उनके पास खाने के लिए भी कुछ भी नहीं है। इसको लेकर भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल ने बिहार के गृह सचिव से बात की और उनसे तमाम मजदूरों के ठहराव और भोजन की उचित व्यवस्था करने की मांग की।

उन्होंने कहा कि भाकपा-माले बिहार सरकार से लॉकडाउन के कारण जगह-जगह फंसे मजदूरों की सुरक्षा, ठहराव और भोजन की उचित व्यवस्था की मांग करती है। कई जगह से इस प्रकार की रिपोर्टं आ रही हैं। माले राज्य सचिव ने यह भी बताया कि त्रिसूर में मौजूद सुभाष कुशवाहा का नंबर केरल के भाकपा-माले नेता कॉमरेड वेणुगोपाल को दे दिया गया है और हमारी पार्टी भी अपने स्तर से मजदूरों के ठहराने की व्यवस्था करेगी।

ये सभी मजदूर पश्चिम चंपारण के चनपटिया अंचल के घोघा पंचायत के रहने वाले हैं। इनके नाम हैं… 1. सुभाष कुशवाहा 2. संदीप कशवाहा 3. सुरजेश कुमार 4. कुदन कुमार 5. मंटू कुमार 6. सोना कुशवाहा 7. अविनाश दूबे 8. विजय कुमार 9. साबिन हुसैन 10. आजाद हुसैन 11. नितेश कुशवाहा 12. सदन शर्मा 13. अनिल तिवारी 14. आकाश दास 15. विकास दास 16. दीपनारायण शर्मा 17. मनीष दास 18. मनतोस साह 19. हरि दास 20. रामू कुशवाहा 21. लालबाबू दास 22. संदीप दास 23. अमित साह 24. गुलाम हैदर 25. बितन आलम 26. गुलफाम आलम 27. इरफान आलम 28. आजाद आलम 29. मुन्ना कुशवाहा 30. लालचन साह 31. हवलदार आलम 32. इदृश आलम 33. साजन दास 34. मुन्ना आलम 35. शिवरतन दास 36. राजा दास 37. शंभू दास 38. फिरोज आलम 39. विनोद कुशवाहा 40. अशोक राम 41. वीरेन्द्र ठाकुर 42. श्याम ठाकुर 43. रवि साह 44. हरि दास 45. मंतोष कुमार 46. पंकज साह 47. अजय कुमार 48. संतोष कुमार 49. ठाकुर जी 50. कुंवर।

इसी प्रकार, पटना जिले के पालीगंज थाना के ग्राम जरखा के 12 मजदूर खगड़िया जिले में फंसे हुए हैं। इनके नाम हैं… 1. नीतीश बिंद 2. शनिचर बिंद 3. रामएकबाल बिंद 4. सत्येन्द्र बिंद 5. बसंत बिन्द 6. रामलखन बिंद 7. संतोष बिन्द 8. फुलेन्द्र बिंद 9. उमेश बिंद 10. राकेश पासवान 11. जितन पासवान 12. रामाकांत कुमार।

भाकपा-माले के पूर्व विधायक और केंद्रीय कमेटी के सदस्य कॉ. अरुण सिंह ने परबत्ता के एसडीओ से इस सिलसिले में बात की। इसके बाद सभी मजदूरों को झंझड़ा, पंचायत महदीपुर, प्रखंड परबत्ता के आंगनबाड़ी केंद में रखवा गया।

इसी प्रकार, कटिहार, सीमांचल और बिहार के अन्य इलाकों के मजदूर राज्य और राज्य के बाहर जगह-जगह फंस गए हैं। सभी लोगों को उचित स्थान पर पहुंचाना सरकार की प्राथमिकता में होना चाहिए।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर Janchowk Android App