Friday, March 1, 2024

केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर विपक्ष के नेताओं को डराया जा रहा है: आइसा

रामगढ़। ऑल इंडिया स्टूडेंटएस एसोसिएशन (आइसा) के “मोदी सरकार के 10 साल, यंग इंडिया के 10 सवाल” अभियान के तहत झारखंड के रामगढ़ जिले में छात्र व युवा यंग इंडिया मार्च निकाला। “जुमला नहीं जबाव दो, 10 साल का हिसाब दो” के नारे के साथ निकाले गए मार्च में सैकड़ों छात्र व युवा शामिल हुये। मार्च भाकपा माले के रामगढ़ जिला कार्यालय से निकलकर जिला अनुमंडल कार्यालय पहुंचा, जहां सभा का आयोजन किया गया।

मार्च में ‘जुमला नहीं जबाव दो, 10 साल का हिसाब दो’; ‘नफरत नहीं अधिकार चाहिए, शिक्षा और रोजगार चाहिए’; ‘रेलवे में रिक्त पदों पर जल्द बहाली करो’; ‘नई शिक्षा नीति वापस लो’; ‘आरक्षण का दायरा बढ़ाना होगा” ‘निजीकरण बंद करो’; ‘झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी क्यों? केंद्र सरकार जवाब दो’; ‘विपक्षी नेताओं पर केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर डराना बंद करों’ आदि नारे लगाए जा रहे थे।

ऑल इंडिया स्टूडेंटस एसोसिएशन (आइसा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीलाशीष बोस ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी सरकार के आने के बाद लगातार शिक्षा महंगी होती जा रही है, CUET और 4 साल का ग्रेजुएशन कोर्स से देश भर में लागतार गुणवत्तापूर्ण शिक्षा में गिरावट आई है। गरीब छात्र शिक्षा से दूर हो रहे हैं, नई शिक्षा नीति के तहत फीस बढ़ रही है।

उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थानों में लाखों पद खाली हैं, दूसरी तरफ बेरोजगारी पिछले 45 सालों में सबसे ज्यादा बढ़ी है, रोजगार सृजन करने की बजाय रोजगार के अवसरों को बंद कर दिया गया है एवं सरकारी संस्थानों का निजीकरण हो रहा है। रेलवे में 3 लाख से ज्यादा पद खाली हैं लेकिन 56 सौ बहाली निकली गई है, जिसको लेकर छात्र युवा पटना सहित देश भर में सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं।

नीलाशीष बोस ने कहा कि मोदी सरकार हर साल दो करोड़ रोजगार देने की बात कह कर सत्ता में आई थी, लेकिन आज वह रोजगार देने के बजाए रोजगार ही खत्म कर रही है।

उन्होंने कहा कि सामाजिक व आर्थिक खाई काफी बढ़ रही है। महिलाओं के खिलाफ लगातार रेप, हत्या जैसी घटनाएं हो रही हैं। विपक्ष के नेताओं को असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक तरीके से केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर डराया जा रहा है और भारत को विपक्ष मुक्त बनाने की कोशिश चल रही है। जिसका ताजा उदाहरण है झारखंड के मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी है।

आइसा राज्य सचिव त्रिलोकी नाथ ने कहा कि आइसा मोदी सरकार के 10 साल होने पर देश भर में मोदी सरकार का 10 साल, यंग इंडिया के 10 सवाल! जुमला नहीं जवाब दो, 10 साल का हिसाब दो! पर राष्ट्रीय हस्ताक्षर अभियान चला कर मोदी सरकार की विफलताओं को सामने ला रहा है और छात्र युवाओं के मुद्दों पर चुनाव हो इसकी कोशिश हो रही है।

उन्होंने कहा कि आज देश भर में जन मुद्दों को भटकाने के लिए छात्र युवाओं में नफरत का बीज बोया जा रहा है, ताकि जनता के जवलंत सवाल गौण हो जाएं। आइसा जिम्मेवारी लेते हुए देश भर में जनता के सवालों को सामने लाते हुए मोदी सरकार का 10 साल का हिसाब मांग रहा है।

सभा का संचालन इनौस जिला अध्यक्ष जयबीर हसदा ने किया। अंत में अनुमंडल पदाधिकारी के द्वारा प्रधानमंत्री को 11 सूत्री मांग पत्र सौपा गया।

वहीं रामगढ़ शहर के सुभाष चौक पर आइसा व इनौस ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी के खिलाफ प्रतिवाद सभा का आयोजन किया। अवसर पर आइसा के राज्य सचिव त्रिलोकी नाथ ने कहा कि झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी झारखंड के जनादेश के खिलाफ है। केंद्र सरकार केंद्रीय एजेंसियों को आगे कर विपक्ष नेताओं को गिरफ्तार कर रही है। मोदी सरकार चाह रही है कि देश विपक्ष मुक्त बने जो संविधान लोकतंत्र के खिलाफ है।

इस मौके पर आइसा जिला अध्यक्ष सावित्री मुंडा, जिला सचिव अंजली कुमारी, सावन कुमार, पूजा टुडू, अनीशा, संगीता, इनौस नेता पवन गोप, प्रकाश मुंडा, आकाश हसदा, आइसा प्रभारी अमल घोष के अलावा भाकपा माले के रामगढ़ जिला सचिव भुनेश्वर बेदिया सहित सैकड़ों छात्र युवा मौजूद थे।

(विशद कुमार की रिपोर्ट।)

जनचौक से जुड़े

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest Updates

Latest

Related Articles