Wednesday, January 26, 2022

Add News

bangladesh

17 साल पहले आई सुनामी ने लिखा था तबाही का नया अध्याय

17 साल पहले हिंद महासागर में आई सुनामी ने भारत समेत दुनिया के कई देशों में भारी तबाही मचाई थी। 26 दिसंबर, 2004 का वह दिन इतिहास में दुखों का ऐसा अध्याय लिख गया, जिसे याद करने मात्र से ही सिहरन...

बांग्लादेश का मुक्ति संघर्ष: इंदिरा गांधी ने हर मोर्चे पर सफलता हासिल की थी

जब सोवियत संघ के महान नेता स्टालिन की मृत्यु हुई थी तब तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा था कि स्टालिन was strong both in peace and war इसी तरह की श्रद्धांजलि श्रीमती इंदिरा गांधी को दी...

देश में किसी व्यक्ति को एक ही कार्यकाल के लिए प्रधानमंत्री होना चाहिए: अरुंधति रॉय

आज जब हम नई दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया पर दिल्ली पुलिस के हमले के दो साल पूरे होने को याद कर रहे हैं, तो हमें सीएए-एनआरसी से बात शुरू करनी चाहिए। हमें यह याद करने की ज़रूरत है...

देवेंद्र फडनवीस के संरक्षण में पाकिस्तान और बांग्लादेश तक जाली नोटों का कारोबार: नवाब मलिक

"मुख्यमंत्री रहते हुए देवेंद्र फडनवीस महाराष्ट्र में जाली नोटों का कारोबार कर रहे थे। उनके ही संरक्षण में पाकिस्तान और बांग्लादेश तक यह कारोबार हो रहा था। " यह आरोप लगाया है महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार में मंत्री...

नॉर्थ-ईस्ट डायरी: बांग्लादेश में हुई हिंसा के बाद त्रिपुरा में मस्जिदों और अल्पसंख्यक बस्तियों पर विहिप का हमला

बांग्लादेश में हाल ही में दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़फोड़ के खिलाफ विहिप की एक रैली के दौरान अगरतला से 155 किलोमीटर दूर उत्तरी त्रिपुरा के पानीसागर उप-मंडल में एक मस्जिद और कुछ दुकानों में तोड़फोड़ की गई और...

भारत में ऐसा कुछ नहीं होना चाहिए जिसका असर बांग्लादेश पर पड़े और नुकसान हिंदू समुदाय को पहुंचे: शेख हसीना

"भारत में भी ऐसा कुछ नहीं होना चाहिए जिसका असर बांग्लादेश पर हो और वहां के हिंदू समुदाय को नुकसान पहुंचे।" - उपरोक्त बात बंग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने भारत की दक्षिणपंथी सरकार को नसीहत देते हुये कही...

भूख के पैमाने पर भारत फिसड्डी

दुनिया भर के देशों में भूख और पोषण का आकलन करने वाली ‘वैश्विक भूख सूचकांक’(Global Hunger Index- GHI)- 2021 जारी कर दिया गया है। इस सूचकांक में भारत की स्थिति पिछले वर्ष के मुकाबले और अधिक बदतर हालात में...

जलवायु परिवर्तन और प्रलय के लिए ज़िम्मेदार है कॉर्पोरेट लूट

जलवायु परिवर्तन इस सदी की सबसे भयावह शब्दावली साबित होने के कगार पर है। भारत सहित पूरी दुनिया में अप्रत्याशित तरीके से बढ़ रही प्राकृतिक आपदा ने यह दिखाया है कि प्रकृति के साथ खिलवाड़ का दुष्परिणाम किस हद...

विभाजन विभीषिका स्मृति के बहाने हॉरर के रौरव की तैयारी

जो आपदा में कमाई और लूट के अवसर ढूंढ सकते हैं, अकाल मौतों को छुपाने में राहत महसूस कर सकते हैं, बर्बादी और विनाश में आह्लाद देख सकते हैं वे भला उत्सव और समारोहों के मौकों को भी त्रासद और विभाजन का...

नॉर्थ ईस्ट की डायरी: पूर्वोत्तर राज्यों में नार्को-आतंकवाद का नया खतरा

उत्तर पूर्वी भारत और बांग्लादेश को नार्को-आतंकवाद के एक नए खतरे का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि ड्रग तस्करों ने लोकप्रिय नशीले पदार्थ 'याबा' की शिपिंग के लिए अपना मार्ग बदल दिया है। सुरक्षा और खुफिया संगठनों द्वारा...
- Advertisement -spot_img

Latest News

रामपुर की लड़ाई दो परिवारों के बीच आई, आजम परिवार को नवाब परिवार से चुनौती

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में रामपुर ज़िले में राजनीति की सबसे बड़ी जंग लड़ी जा रही है। इसमें...
- Advertisement -spot_img