Friday, December 9, 2022

corporate loot

बजट: राष्ट्रीय संपदा का कॉरपोरेट को हस्तानांतरण का रोडमैप

2021-22 का बजट सामान्य रूटीन का बजट नहीं हैं, यह खुलेआम इस बात की घोषणा करता है कि देश की अर्थव्यवस्था का विकास एवं संचालन निजी क्षेत्र द्वारा ही किया जा सकता है और किया जाना चाहिए। यह एक...

किसान आंदोलन, गोदी मीडिया और प्रधानमंत्री के आमोद-प्रमोद में खलल

एक ज़माना था, जब हमारे देश में खेती को सब से उत्तम कार्य माना जाता था। महाकवि घाघ की एक मशहूर कहावत है-  "उत्तम खेती, मध्यम बान, निषिद्ध चाकरी, भीख निदान।" यानी खेती सब से अच्छा कार्य है। व्यापार...

‘लायक बनाता है, नालायक बेचता बिगाड़ता है’

नरेंद्र मोदी नीत भाजपा सरकार रेलवे बेच रही है। सरकारी बैंक बेचने को तैयार है। पुलिस विभाग बेच रही है। सड़कें बेच रही है। बस स्टेशन बेच रही है। बीएसएनएल-एमटीएनएल की जमीनें और इमारतें बेच रही है। कई और...

विश्व आदिवासी दिवसः सरकार समर्थित कॉरपोरेट लूट के लिए आदिवासियों की बलि

आज नौ अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस है। यानी आदिवासियों का दिन। जैसा कि हर आपदा में होता है समाज का जो तबका सर्वाधिक वंचित और हाशिए पर होता है, वह आपदा से सर्वाधिक प्रभावित होता है। उसकी स्थिति...

मानवतावादी भीड़ और धार्मिक कट्टरपंथियों की भीड़ में अंतर है

आज हमारा मुल्क सत्ता की जनविरोधी नीतियों के कारण अशांति के दौर से गुजर रहा है। मुल्क की सत्ता, हमारे पूर्वजों द्वारा 70 साल में अर्जित की गई सार्वजनिक संपत्ति को नमक के भाव में देशी-विदेशी लुटेरे पूंजीपतियों को...

भगत सिंह का भारत चाहिए या माफीवीर सावरकर का, नौजवानों को करना होगा फैसला

देश के नौजवानों के नाम खुला पत्र प्यारे नौजवान साथियों,आज हमारा प्यारा मुल्क बहुत ही नाजुक दौर से गुजर रहा है। पूरे देश में अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ है। एक चिंगारी से पूरा मुल्क जलने के लिए तैयार बैठा...

कार्पोरेट लूट की सरकारी साजिश के खिलाफ आदिवासियों की हुंकार

छत्तीसगढ़ में एक बार फिर से आदिवासी समाज अपनी मांगों को लेकर आंदोलित हो गया है। राजधानी रायपुर में वन स्वराज रैली का आयोजन किया गया। रैली में केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ हुंकार भरी गई। बस्तर के...
- Advertisement -spot_img

Latest News

मुश्किल में बीजेपी, राहुल बना रहे हैं कांग्रेस का नया रास्ता

इस बार के चुनावों में सभी के लिए कुछ न कुछ था, लेकिन अधिकांश लोगों को उतना ही दिखने...
- Advertisement -spot_img