Monday, January 24, 2022

Add News

corporate

वित्तमंत्री का नया फंडा: अमीर को छूट, गरीब से होगी वसूली

कॉर्पोरेट टैक्स क्या है? और देश की वित्त मंत्री ने दवाई किसे देनी थी, पर पिला किसे गईं? भारत जैसे देश में अभी भी 90% लोगों को शायद ही पता हो कि कॉर्पोरेट टैक्स क्या होता है और यह किसपर लागू...

कारपोरेट राजनीति के बदलाव का गांधीवादी तरीका

लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे आने पर कई संजीदा साथियों ने गहरी चिंता व्यक्त की कि नरेंद्र मोदी की एक बार फिर जीत संविधान और लोकतंत्र के लिए बहुत बुरा संकेत हैं। पिछले पांच सालों के दौरान धर्मनिरपेक्ष और प्रगतिशील साथियों से...

कॉरपोरेट की ‘कल्याणकारी संस्था’ के रवैये ने कौशलेंद्र को पहुंचाया आईसीयू

(कौशलेंद्र प्रपन्न अकादमिक दुनिया में एक पहचाना नाम है। आजकल वह टेक महिंद्रा में कार्यरत हैं और शिक्षा से जुड़े प्रश्नों पर वहां काम करते हैं। अभी हाल में इस मुद्दे को लेकर उन्होंने एक लेख लिखा। जिसमें सरकार की थोड़ी-बहुत आलोचना...

भाजपा के ‘चिदंबरम’ थे अरुण जेटली!

अरुण जेटली और पलानिअप्पन चिदंबरम! दोनों लंबे समय तक देश के वित्त मंत्री रहे। अरुण जेटली लंबे समय तक बीमारी से जूझते हुए इस दुनिया से कूच कर गए और चिदंबरम लंबे समय तक कानूनी प्रक्रियाओं बचते रहने के...

स्लोडाउन भी नहीं डाउन कर सका वित्तमंत्री का अहंकार

वित्तमंत्री कल प्रेस कॉन्फ्रेंस में मेरे मुर्गे की तीन टांग पर अड़ी रहीं, बोली कोई मंदी नहीं है ! कोई स्लोडाउन नहीं है! यह घोषणाएं हम इसलिए कर रहे हैं क्योंकि व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल की यह मांग उठा रहे थे। लेकिन साफ दिख...

‘चिदंबरम ने कारपोरेट फ़ासिज़्म की ज़मीन तैयार की, मानवाधिकारों को कुचला, सैन्यीकरण की रफ़्तार को तेज़ किया’

प्रख्यात कवि साहित्यकार  असद ज़ैदी ने अपने फेसबुक वाल पर लिखा है  ‘चिदम्बरम अपने बेशतर कारनामों में अकेले नहीं थे। वे उस मशहूर तिकड़ी के सदस्य हैं जिसने सत्ता में रह कर योजनाबद्ध तरीक़े से कारपोरेट फ़ासिज़्म की ज़मीन तैयार की, गणतांत्रिक...

एक कॉरपोरेट कंपनी का अपने अधिकारियों को भेजा गया पत्र

(गोपनीयता के उद्देश्य से कंपनी का नाम हटा दिया गया है।) (मूल अंग्रेजी पत्र के प्रमुख हिस्सों का सारांश हिंदी में) यह पत्र हमारी कंपनी के उन भरोसेमंद अधिकारियों के लिए है, जो शुरू से हमारे साथ हैं। आप सब जानते हैं कि किस...

मोदी ने अनुच्छेद 370 खत्म करने के जरिए बनाया कॉरपोरेट के लिए घाटी में लूट का रास्ता

केंद्र की मोदी सरकार ने 5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर राज्य से अनुच्छेद 370 के खंड 2,3, व 35 ए को समाप्त कर, राज्य को दो टुकड़ों में बाँट कर उन्हें केंद्र शाषित प्रदेश बना दिया है। पूरी कश्मीर घाटी को सेना,...

क्यों नहीं बाहर दिख रहा है अर्थव्यस्था में मंदी का हाहाकार?

अर्थव्यवस्था के आकार के मामले में भारत का स्थान फिसल गया है। 2018 में भारत पांचवें नंबर पर आ गया था अब फिर से सातवें नंबर पर आ गया है। 31 जुलाई के बिजनेस स्टैंडर्ड में ख़बर छपी है कि 2018...

गोदरेज और बजाज के बयानों का मतलब क्या है?

नई दिल्ली। कैफे काफी डे के मालिक वीजी सिद्धार्थ की खुदकुशी महज एक घटना नहीं बल्कि कारपोरेट वर्ल्ड में चल रही बड़ी हलचल का एक संकेत भर है। सिद्धार्थ ने अपनी परेशानियों को लेकर प्रतिक्रिया का जो तरीका अपनाया उसे किसी...
- Advertisement -spot_img

Latest News

कब बनेगा यूपी की बदहाली चुनाव का मुद्दा?

सोचता हूं कि इसे क्या नाम दूं। नेताओं के नाम एक खुला पत्र या रिपोर्ट। बहरहाल आप ही तय...
- Advertisement -spot_img