Wednesday, October 27, 2021

Add News

Godi Media

गोदी मीडिया का सुप्रीम कोर्ट में प्रभावी बचाव नहीं कर पा रही मोदी सरकार

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया द्वारा भाजपा के सांप्रदायिक और विभाजनकारी एजेंडों को और धार देने के लिए चलाए गए और चलाए जा रहे प्रसारणों की न्यायिक समीक्षा से बचाव का कोई क़ानूनी आधार न होने से उच्चतम न्यायालय में चाहे तबलीगी...

नॉर्थ ईस्ट डायरी: घोटाले की खबर छापने पर की गईं त्रिपुरा के अखबार की प्रतियां नष्ट

देश के जिन राज्यों में भाजपा की सरकारें हैं उन राज्यों में सिर्फ गोदी मीडिया अर्थात संघ-भाजपा की गोद में बैठी मीडिया को ही भयमुक्त होकर कार्य करने की छूट मिली हुई है। जो पत्रकार निर्भीकता के साथ समाज...

अर्णब की गिरफ्तारी और पत्रकारों का निर्गुण गान

अर्णब गोस्वामी की गिरफ्तारी के बाद उदारवादी पत्रकारों का बड़ा हिस्सा गजब की दुविधा में नजर आया। इसमें सिद्धार्थ वरदराजन और रवीश कुमार जैसे वे चेहरे भी शामिल हैं, जो सच्चे पत्रकार हैं और देश के लोकतंत्र को बेहतर...

सुशांत मामला: सोशल मीडिया ने उधेड़ दी गोदी मीडिया के झूठ की परत दर परत खाल

मुंबई में यह हफ्ता रोमांचकारी रहा। लोग झूठ नहीं कहते कि फिल्मों में राजनीति से ज्यादा चकाचौंध है, लेकिन इस रोमांच और चकाचौंध में गोदी मीडिया और सोशल मीडिया के कूदने से रोमांच डबल हो गया। इसी रोमांच का...

तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए विदेशी नागरिकों को ‘बलि का बकरा’ बनाया गया: हाई कोर्ट

बांबे हाई कोर्ट की औरंगाबाद पीठ ने  सरकारी दावों और 24 घंटे चलने वाले गोदी मीडिया के उन दावों की हवा निकल दी, जिसमें देश भर में प्रोपगंडा फैलाया गया था कि देश में कोविड-19 को फैलाने के लिए...
- Advertisement -spot_img

Latest News

हाय रे, देश तुम कब सुधरोगे!

आज़ादी के 74 साल बाद भी अंग्रेजों द्वारा डाली गई फूट की राजनीति का बीज हमारे भीतर अंखुआता -अंकुरित...
- Advertisement -spot_img