Tuesday, October 26, 2021

Add News

history

अकबर और महाराणा प्रताप के बहाने एक बार फिर सांप्रदायिकता फैलाने की कोशिश

इधर एक नयी बहस शुरू हो गयी है कि हल्दीघाटी के युद्ध में महाराणा प्रताप की विजय हुयी थी, न कि अकबर की। यह भी कहा जाता है कि, अकबर को नहीं महाराणा प्रताप को महान कहा जाना चाहिए।...

चौर्योन्माद के डीएनए वालों के घोटाले का नया पासवर्ड है मंदिर

घोटाले के अयोध्याकाण्ड की खबर पुरानी हो गयी है मगर बटुकों की भागवत कथा अभी शुरू ही हुयी है इसलिए दोहराने की आवश्यकता बनी हुयी है। जिसे बिना किसी शक के आजाद भारत का सबसे बड़ा राजनीतिक, न्यायिक घोटाला और...

सीपी कमेंट्री: ‘हिस्ट्री लिटरेसी‘ की मुहिम की 1 जुलाई को इतिहासकार डीएन झा की जयंती से होगी शुरुआत

दुनिया भर के इतिहास में इतिहास की सबसे बड़ी क्लास नई दिल्ली में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के क्लास रूम से बाहर खुले मैदान में 17 फरवरी 2016 को लगी थी। ये क्लास जेएनयू प्रोफेसर एमेरिटस, रोमिला थापर और...

अथ टीका पुराण और इति वैक्सीन विरोधी मुहिम का कथा सार

अपने बच्चे/बच्ची को नहला धुला कर माँ जब बाहर खेलने या स्कूल जाने के लिए भेजती है तो उसके ललाट, ठोड़ी या गाल पर काजल, काजल न मिले तो तवे या कढ़ाई से थोड़ी कालिख उधार लेकर एक टीका...

जवाहर लाल नेहरू और उनका इतिहास बोध

जवाहर लाल नेहरू न केवल आज़ादी के लिए किये गए संघर्ष के शीर्षस्थ नेताओं में से एक रहे हैं, बल्कि वे देश के प्रथम प्रधान मंत्री भी रहे हैं। राजनीति में उनका एक अलग व्यक्तित्व रहा है। आधुनिक भारत...

इतिहास में दुष्प्रचार और झूठ का तड़का

इतिहास के साथ दुष्प्रचार और गलतबयानी एक आम बात रही है। सत्तारूढ़ शासक अक्सर अपने विकृत और विद्रूप अतीत को छुपाना चाहते हैं और अपने बेहतर चेहरे को जनता के सामने लाना चाहते हैं। इतिहास में वे बेहतर शासक...

इतिहास के सबसे बड़े किसान नेता थे सहजानंद, माले बढ़ा रहा है उनकी विरासत को आगे: दीपंकर

आजादी की लड़ाई के दौरान जमींदारी प्रथा के खिलाफ किसानों को संगठित करने वाले महान किसान नेता स्वामी सहजानंद सरस्वती की जयंती पर कल बिहार में अखिल भारतीय किसान महासभा व भाकपा-माले ने किसान दिवस के रूप में मनाया।...

नहीं रहा इतिहासकारों का इतिहासकार

दिल्ली यूनिवर्सिटी के इतिहास विभाग के पूर्व प्रोफ़ेसर डॉक्टर द्विजेंद्र नारायण झा यानी डीएन झा हमारे बीच नहीं रहे मगर इतिहास की लिखी उनकी पुस्तकें हमेशा रहेंगी। वर्ष 1940 में बिहार के मध्य वर्ग के एक परिवार में पैदा...

शताब्दी वर्ष पर विशेष: इतिहास की कब्र से उठ खड़े हुए चौरी चौरा विद्रोह के नायक

(चौरी चौरा विद्रोह स्वतंत्रता आंदोलन के इतिहास की कुछ सबसे ज्यादा चर्चित घटनाओं में से एक है। इस घटना ने न केवल आजादी की लड़ाई का रुख बदल दिया बल्कि उसके भविष्य का रास्ता भी तैयार करने का काम...

शताब्दी वर्ष पर विशेष: मेहनतकश बहुजनों की विरासत है चौरी-चौरा की क्रांतिकारी बगावत

(भारतीय इतिहास की सबसे महत्वपूर्ण गौरव गाथाओं में एक चौरी-चौरी की क्रांतिकारी बगावत का आज ( 4 फरवरी 2021)  शताब्दी समारोह शुरू हो रहा है। इस बगावत को वर्तमान हिंदू राष्ट्रवादी कार्पोरेट शासक वर्ग अपने तरह से व्याख्यायित करने...
- Advertisement -spot_img

Latest News

पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में रिश्वत के दोषी पाए गए एक जिला एवं सत्र न्यायाधीश की फाइल पर चार साल से कार्रवाई नहीं

उच्चतम न्यायालय ने पिछले साल भले ही राजनेताओं के खिलाफ आपराधिक मामलों के समयबद्ध निपटान का संकल्प व्यक्त किया...
- Advertisement -spot_img