Saturday, May 28, 2022

justice

हिंदू हार रहा है!

हिंदी के सुपरिचित लेखक राजकिशोर ने एक बार लिखा था- "मुस्लिम पक्ष अगर राज जन्म भूमि हिंदुओं को सौंप दे तो यह एक बेहतर निर्णय होगा। 1990 के बाद से राम जन्मभूमि का सवाल हिंदू मानस के भीतर एक...

बग्गा केस: ऐसी भी क्या जल्दी थी मी लॉर्ड?

उत्तर प्रदेश के एक न्यायायिक अधिकारी के मामले में उच्चतम न्यायालय के जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस बेला एम त्रिवेदी की पीठ ने बीते शुक्रवार को कहा था कि न्यायिक आदेश पारित करने की आड़ में किसी पक्ष को...

न्याय का मखौल ! आजम खां के जमानत पर 137 दिनों से फैसला रिजर्व है

संविधान निर्माता बाबा साहब भीम राव आंबेडकर ने संविधान बनाते समय यह कभी सोचा भी नहीं होगा कि कभी न्यायपालिका, विधायिका और कार्यपालिका के साथ मिलकर सरकार में बैठे आकाओं को खुश करने के लिए कानून के शासन की...

चीफ जस्टिस रमना ने पीएम की मौजूदगी में विधायिका व कार्यपालिका को सुनाई खरी-खरी 

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एनवी रमना ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में विधायिका और कार्यपालिका को खरी-खरी सुनाई और देश में न्यायपालिका के समक्ष चुनौतियों और न्यायिक सक्रियता का सम्पूर्ण खाका खींच कर रख दिया। हालांकि...

पुत्र की जमानत रद्द होने के बाद मोर्चा ने की गृहराज्य मंत्री की बर्खास्तगी की मांग

नई दिल्ली। आज सुप्रीम कोर्ट द्वारा लखीमपुर खीरी कांड के मुख्य अभियुक्त और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र की जमानत रद्द कर देने से किसानों और देश की जनता में न्याय व्यवस्था के...

अम्बेडकर को देवता बनाकर उनके सिद्धांतों को दरकिनार करने की साजिश

पिछले सालों की तरह इस साल भी विभिन्न राजनैतिक दलों और संगठनों ने 14 अप्रैल को जोर-शोर से अम्बेडकर जयंती मनाई। पिछले कुछ दशकों से लगभग सभी राजनैतिक दलों में सामाजिक न्याय के इस प्रतिबद्ध हिमायती के प्रति जबरदस्त...

युद्ध में झुलसती मनुष्यता और मनुष्य की क्रूरता का आख्यान  

दुनिया में नर्क और दर्द का दायरा बहुत बड़ा है। अपेक्षाकृत विकसित समझे जाने वाले ऐसे यूरोपीय देश, जहां एक समय समाजवाद की जमीन तैयार की जा रही थी, वे  भी इससे अछूते नहीं हैं। अलग-अलग जातीय-समूहों और देशों...

एक ही घटना की कई एजेंसियों के जरिये जांच से चीफ जस्टिस असहमत, कहा- अम्ब्रेला संस्थान की जरूरत

किसी भी भी घटना की पहले सीबीआई जाँच या एनआईए जाँच फिर ईडी ,उसके बाद आयकर फिर किसी सरकारी एजेंसी से जाँच कराकर किसी को लम्बे समय से उत्पीड़ित करते रहने की वर्तमान प्रवृत्ति पर देश के चीफ जस्टिस...

हुकूमतें अधिकार की चेतना को नष्ट कर बहुजनों में भिखारी चेतना कर रही हैं विकसित

भागलपुर। बहुजन दृष्टि का मूल तत्व समानता, बराबरी व आजादी है। बहुजन दृष्टि सोशल इंजीनियरिंग का पर्याय नहीं है। सोशल इंजीनियरिंग के जरिए सामाजिक न्याय और बदलाव की राजनीति आगे नहीं बढ़ सकती है। सोशल इंजीनियरिंग के जरिए सामाजिक...

गेल के पूर्व अध्यक्ष होने के बावजूद एपीटीईएल तकनीकी सदस्य द्वारा गेल मामले सुनने को नामंजूर किया सुप्रीम कोर्ट ने

उच्चतम न्यायालय के चीफ जस्टिस एनवी रमना, जस्टिस एएस बोपन्ना और जस्टिस हिमा कोहली की पीठ ने मंगलवार को विद्युत अपीलीय ट्रिब्यूनल (एपीटीईएल) के एक तकनीकी सदस्य (पी एंड एनजी) के प्रति अपनी अस्वीकृति व्यक्त की, जो गेल (इंडिया)...
- Advertisement -spot_img

Latest News

साम्प्रदायिकता से संघर्ष को स्थगित रखना घातक

जब सुप्रीम कोर्ट ने असाधारण तत्परता से अनवरत सुनवाई कर राम मंदिर विवाद में बहुसंख्यक समुदाय की भावनाओं के...
- Advertisement -spot_img