Sunday, November 27, 2022

publication

जीरो माइल पटनाः बदलते शहर में समाज और विकास

शहरों पर किताबें पहले भी लिखी गयी हैं, आज भी लिखी जा रही हैं और आगे भी लिखी जायेंगी। कुछ किताबें शहरों का इतिहास बताती हैं, कुछ समाजशास्त्र और कुछ खास घटनाओं के उल्लेख के जरिये शहर की कहानी...

हिंदुत्व के नाम पर हिंसा आतंकवाद नहीं तो और क्या है?

कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने अपनी किताब में हिंदुत्व की तुलना बोको हरम और आईएसआईएस जैसे इस्लामी आतंकवादी संगठनों की विचारधारा से की और हिंदुत्ववादियों ने नैनीताल में उनके घर में आग लगा कर इस...

जटिल मनःस्थितियों की उलझी हुई कविताएं

कवर के अंतिम पृष्ठ पर कवि का परिचय पढ़ते हुए बहुत प्रभावित हुआ और कुछ ऐसा ही प्रभाव पड़ा पहले फ्लेप को पढ़ते हुए। अंतिम फ्लेप लिखी छोटी सी कविता पढ़ते हुए ही लग गया था कि कवि बहुत...

हिंदी रंग आलोचना के शिखर पुरुष नेमिचन्द्र जैन की रचनावली का प्रकाशन एक ऐतिहासिक घटना

नेमि जी बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे। कम्युनिस्ट पार्टी से लेकर इप्टा आंदोलन में सक्रिय रहे नेमि जी कवि, आलोचक  रंग चिंतक  संपादक  नाटक कार और अनुवादक  भी। साहित्य की हर विधा में योगदान दिया। 8 खण्डों में छपी...

खून से रंगी पुस्तक के प्रकाशन से ब्लूम्सबरी इंडिया ने खींचा हाथ

“ब्लूम्सबरी, आप अब भी कुछ बचा सकते हैं। कहिये, आपने गलती की और पुस्तक वापस लीजिये। अन्यथा, सच में, आपकी प्रतिष्ठा धूल में मिली पड़ी है।“ दिल्ली के लेफ्टवर्ड बुक्स की सुधनवा देशपांडे ने यह सुलझी हुई सलाह ब्लूम्सबरी...

पुस्तक समीक्षा: समकालीन राजनीति की स्याह हकीकत का दस्तावेज है ‘जिओ पॉलिटिक्स’

लॉकडाउन के दौरान खोजी पत्रकार नवनीत चतुर्वेदी ने फेसबुक पर 'जिओ पॉलिटिक्स’ शीर्षक से एक लंबी सीरीज में जो कुछ लिखा था, वह अब व्यवस्थित रूप से एक किताब की शक्ल में आ गया है। दस्तावेजी और परिस्थितिजन्य सबूतों...

आखिर क्यों कहना पड़ता है -‘आई कुड नॉट बी हिन्दू’ !

आज संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ भीमराव अंबेडकर का महापरिनिर्वाण दिवस है, बाबा साहब ने अपने लेखन में सामाजिक विषमता के कारक तत्वों की खोज करते हुए पाया था कि हिन्दू धर्म एक चार मंजिला इमारत है,जिसमें सीढ़ियां नहीं है, जो जहां...
- Advertisement -spot_img

Latest News

Constitution Day Special : देहरादून में छपा था भारत का हस्तलिखित संविधान

विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र की शासन व्यवस्था को संचालित करने वाला विश्व का सबसे बड़ा संविधान न केवल...
- Advertisement -spot_img