Friday, October 22, 2021

Add News

publication

हिंदी रंग आलोचना के शिखर पुरुष नेमिचन्द्र जैन की रचनावली का प्रकाशन एक ऐतिहासिक घटना

नेमि जी बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे। कम्युनिस्ट पार्टी से लेकर इप्टा आंदोलन में सक्रिय रहे नेमि जी कवि, आलोचक  रंग चिंतक  संपादक  नाटक कार और अनुवादक  भी। साहित्य की हर विधा में योगदान दिया। 8 खण्डों में छपी...

खून से रंगी पुस्तक के प्रकाशन से ब्लूम्सबरी इंडिया ने खींचा हाथ

“ब्लूम्सबरी, आप अब भी कुछ बचा सकते हैं। कहिये, आपने गलती की और पुस्तक वापस लीजिये। अन्यथा, सच में, आपकी प्रतिष्ठा धूल में मिली पड़ी है।“ दिल्ली के लेफ्टवर्ड बुक्स की सुधनवा देशपांडे ने यह सुलझी हुई सलाह ब्लूम्सबरी...

पुस्तक समीक्षा: समकालीन राजनीति की स्याह हकीकत का दस्तावेज है ‘जिओ पॉलिटिक्स’

लॉकडाउन के दौरान खोजी पत्रकार नवनीत चतुर्वेदी ने फेसबुक पर 'जिओ पॉलिटिक्स’ शीर्षक से एक लंबी सीरीज में जो कुछ लिखा था, वह अब व्यवस्थित रूप से एक किताब की शक्ल में आ गया है। दस्तावेजी और परिस्थितिजन्य सबूतों...

आखिर क्यों कहना पड़ता है -‘आई कुड नॉट बी हिन्दू’ !

आज संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ भीमराव अंबेडकर का महापरिनिर्वाण दिवस है, बाबा साहब ने अपने लेखन में सामाजिक विषमता के कारक तत्वों की खोज करते हुए पाया था कि हिन्दू धर्म एक चार मंजिला इमारत है,जिसमें सीढ़ियां नहीं है, जो जहां...
- Advertisement -spot_img

Latest News

जहीर भाई, एक बनारस जो उनके साथ चला गया

जहीर भाई नहीं रहे। उनके साथ एक बनारस चला गया शायर पिता नज़ीर बनारसी ने जिस हिन्दुस्तान की तामीर...
- Advertisement -spot_img