Wednesday, October 27, 2021

Add News

surrender

नॉर्थ ईस्ट डायरी: शांति समझौते से क्या असम के कार्बी इलाके में बहाल हो पाएगी शांति?

केंद्र,असम सरकार और असम के उग्रवादी समूहों ने राज्य के कार्बी-आंगलोंग जिले में शांति लाने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। इसका एक ऐतिहासिक कदम के रूप में स्वागत किया गया है। समझौते का उद्देश्य दशकों पुराने...

विकास की गिरफ्तारी या फिर सत्ता के संरक्षण में पूर्व नियोजित सरेंडर?

लंबी लुका-छिपी के बाद विकास दुबे का पकड़ा जाना कानपुर पुलिस हत्याकांड का पटाक्षेप नहीं बल्कि अपराध-राजनीति-पुलिस गठजोड़ के ड्रामे का एक कौतूहल भरा और चौंकाने वाला दृश्य मात्र है, क्योंकि कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी जिस नाटकीय...

कानपुर शूट आउट मामला मामूली नहीं, खाकी की मिलीभगत से हुआ खाकी का काम तमाम!

कानपुर के बिकरु गांव में 8 पुलिसवालों की हत्या के मामले की विवेचना में लगातार ऐसे तथ्य सामने आ रहे हैं जिससे लगता है इस हाई प्रोफाइल केस में सत्य तक पहुंचने के बजाय किसी भी तरह से विकास...

उज्जैन के महाकाल मंदिर में गैंगस्टर विकास दुबे का समर्पण

नई दिल्ली। गैंगस्टर विकास दुबे ने मध्य प्रदेश के उज्जैन स्थित महाकाल मंदिर में समर्पण कर दिया है। बताया जा रहा है कि वह वहां अपने निजी सुरक्षा कर्मियों के साथ था। और समर्पण करते वक्त कहा कि “मेरा...

क्योंकि उनकी जेहनियत में है समर्पण!

पीएम नरेंद्र मोदी ने कल कह दिया कि न तो कोई घुसपैठ हुई है और न ही किसी चौकी पर कब्जा हुआ है। यह बात कहीं और नहीं बल्कि उन्होंने बाकायदा सर्वदलीय बैठक बुला कर कही है। दिलचस्प बात...

आत्मसमर्पण से पहले गौतम नवलखा ने लिखा खुला ख़त, कहा- मेरी सोच ही बन गयी है मेरे शोषण की वजह

(भीमा कोरेगाँव मामले में सुप्रीम कोर्ट ने आज सामाजिक कार्यकर्ता गौतम नवलखा की अग्रिम ज़मानत ख़ारिज कर दी है। इसके साथ ही कोर्ट ने उन्हें सरेंडर करने के लिए तीन हफ़्ते का समय दिया है। सरेंडर से पहले नवलखा...

पुलिस बयान से मुकरी तो दंतेवाड़ा में हजारों ग्रामीणों ने थाना घेरा

दन्तेवाड़ा/किरंदुल। दंतेवाड़ा जिले के अरनपुर थाना क्षेत्र में हज़ारों की संख्या में जनप्रतिनिधियों के साथ ग्रामीण दो सूत्रीय मांगों को लेकर थाने का घेराव करने पहुंचे। हाल ही में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दो दिन पहले माओवादियों ने निलावाया...
- Advertisement -spot_img

Latest News

हाय रे, देश तुम कब सुधरोगे!

आज़ादी के 74 साल बाद भी अंग्रेजों द्वारा डाली गई फूट की राजनीति का बीज हमारे भीतर अंखुआता -अंकुरित...
- Advertisement -spot_img