केंद्रीय श्रम मंत्रालय के सामने प्रदर्शन करते एक्टू कार्यकर्ता गिरफ्तार

नई दिल्ली। मजदूर विरोधी श्रम कानूनों के खिलाफ राष्ट्रव्यापी विरोध के तहत दिल्ली स्थित श्रम शक्ति भवन पर प्रदर्शन कर रहे एक्टू के कई कार्यकर्ताओं और नेताओं को पुलिस ने आज गिरफ्तार कर लिया। एक्टू दिल्ली की नेता श्वेता राज और उनके साथ एक और कार्यकर्ता को अलग से गिरफ्तार कर पार्लियामेंट स्ट्रीट थाने में रखे जाने की खबर है। इन दोनों का कहना है कि पुलिस उनके साथ बेहद बदतमीजी से पेश आयी। एक महिला पुलिसकर्मी पर उन्होंने गलत तरीके से छेड़छाड़ करने का भी आरोप लगाया।

इस मौके पर हुई सभा को संबोधित करते हुए संगठन के महासचिव राजीव डिमरी ने कहा कि सरकार मजदूरों के सारे अधिकारों से संबंधित कानूनों को खत्म कर उन्हें अडानी और अंबानी का गुलाम बना देना चाहती है। लेकिन देश के मजदूर ऐसा होने नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि मजदूरों को दास बनाने की बीजेपी सरकार की साजिश सफल नहीं होने जा रही है। और जरूरत पड़ी तो इसके लिए हर मजदूर अपनी कुर्बानी देने के लिए तैयार है।

प्रदर्शन के दौरान ये सभी कार्यकर्ता अपने हाथों में प्लेकार्ड लिए हुए थे। जिनमें मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ नारे लिखे गए थे। बाद में पुलिस इन सभी को हिरासत में लेकर डीटीसी की बसों के जरिये दूसरे ठिकाने पर लेती गयी। हिरासत में लिए गए नेताओं में राष्ट्रीय महासचिव कामरेड राजीव डिमरी, कॉमरेड संतोष राय, अभिषेक शामिल हैं। पुलिस ने इन सभी को उस समय हिरासत में लिया जब ये श्रम मंत्रालय के सामने मजदूर विरोधी बिलों की प्रतियां जला रहे थे।

This post was last modified on September 16, 2020 12:22 pm

Share
%%footer%%