Thursday, December 1, 2022

SKM ने की दिशा रवि की गिरफ्तारी की निंदा, कहा-पुलिस शक्ति का बेजा इस्तेमाल बंद करे सरकार

Follow us:
Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

संयुक्त किसान मोर्चा यानि एसकेएम ने किसान आंदोलन को कमजोर करने के लिए सरकार द्वारा की जा रही पुलिस की शक्ति के दुरुपयोग पर गहरी चिंता जाहिर की है। किसान नेता दर्शन पाल ने कहा कि हम युवा पर्यावरण कार्यकर्ता दिशा रवि की गिरफ्तारी की निंदा करते हैं। एसकेएम बिना शर्त तत्काल दिशा रवि की रिहाई की मांग करता है।

उन्होंने कहा कि आज के युवा पर्यावरणविद यह भली भांति समझते हैं कि वर्तमान खेती से जुड़ी नीतियां न सिर्फ किसानों के लिए शोषणकारी हैं बल्कि ये पर्यावरण के लिए भी नुकसानदायी हैं। यह अस्वाभाविक है कि बाजार के अनुसार खेती करते हुए किसानों ने फसल विविधता को समाप्त कर लिया है। तेजी से बड़े निगमों द्वारा अनुचित व्यापार की वजह से और जलवायु परिवर्तन से जटिल होने के कारण खेती जोखिम में पड़ी है। 

केंद्र द्वारा लाये गए तीन कृषि कानून किसानों के लिए न सिर्फ MSP के लिए एक बड़ा खतरा है बल्कि इसके बजाय खुले बाजारों के सहारे खेती को ज्यादा जोखिम भरा बनाते हैं। ऐसी स्थिति में, किसानों द्वारा सततपोषणीय कृषि  प्रथाओं को अपनाने की संभावना कम है। यह व्यवहार्यता और स्थिरता के बीच अंतर-संबंध है जिसे दिशा रवि जैसे कार्यकर्ताओं ने किसानों के समर्थन में विस्तार में समझा है। दूसरी ओर, सभी फसलों के लिए MSP की कानूनी गारंटी की मांग किसानों को धान और गेहूं के मोनोक्रॉपिंग से विविधता लाने में मदद करेगी। मिट्टी के क्षरण, वायु प्रदूषण और अन्य स्वास्थ्य समस्या के स्थायी समाधान के लिए मार्ग प्रशस्त करेगी। यह खेती के साथ साथ शहरी नागरिकों के हक़ में भी होगा। इसलिए यह बहुत ही आश्चर्यजनक नहीं है कि पर्यावरण कार्यकर्ता किसानों के आंदोलन को समर्थन दे रहे हैं।

किसान मोर्चा ने कहा कि कल, 16 फरवरी, 2021 को, संयुक्त किसान मोर्चा ने धार्मिक रेखाओं के पार किसान चेतना के लिए काम करने वाले सर छोटू राम के योगदान को याद करने का आह्वान किया है। 1930 के दशक में सूदखोरी के खिलाफ एक कानून लाने वाली यूनियनिस्ट पार्टी ने किसानों को साहूकारों के चंगुल से बचाया और भूमि के अधिकार को वापस दिलाया। सर छोटू राम को भारत में मंडी प्रणाली की स्थापना का श्रेय भी दिया जाता है और वर्तमान किसान आंदोलन इन्हीं मंडियों की सुरक्षा व सुधार करना चाहता है।

मोर्चे ने कहा कि SKM कल देशभर में अनेक कार्यक्रम आयोजित करने का आह्वान करता है, जो सर छोटू राम के योगदान और उनके जैसे अनुकरणीय लोगों से प्रेरणा लेते हुए चल रहे आंदोलन को और मजबूत करने की आवश्यकता पर प्रकाश डालते हैं।

नेताओं ने बताया कि 18 फरवरी को, SKM ने पूरे भारत में दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक रेल रोको कार्यक्रम का आह्वान किया है। और इसके पूरे भारत में होने की उम्मीद है।

(प्रेस विज्ञप्ति पर आधारित।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

उत्तराखण्ड में धर्मान्तरण विरोधी कानून तो आया मगर लोकायुक्त और सख्त भू-कानून गायब

उत्तराखंड विधानसभा  का 29 नवम्बर से शुरू हुआ शीतकालीन सत्र अनुपूरक बजट पारित कर दो  ही दिन में संपन्न हो गया। इस सत्र में...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -