बीच बहस

विश्व की शीर्ष 300 सहकारिताओं में इफको को पहला स्थान

इंटरनेशनल कोआपरेटिव एलायंस(आईसीए) द्वारा प्रकाशित 9वें वार्षिक वर्ल्ड कोआपरेटिव मॉनीटर रिपोर्ट के 2020 संस्करण के अनुसार इंडियन फारमर्स फर्टिलाइजर कोआपरेटिव लिमिटेड(इफको) विश्व की शीर्ष 300 सहकारी समितियों में नं. एक सहकारी समिति है। यह रैंकिंग प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) पर कारोबार के अनुपात पर आधारित है। यह देश के सकल घरेलू उत्पाद और आर्थिक विकास में इफको के योगदान को दर्शाता है। यह रैंकिंग बताती है कि किसी उद्यम के कारोबार का देश की अर्थव्यवस्था में कितना योगदान है।

गभग 36,000 सदस्य सहकारी समितियों और करीब 7 बिलियन डॉलर के ग्रुप टर्नओवर के साथ इफको विश्व की सबसे बड़ी सहकारी समितियों में शामिल है। संपूर्ण कारोबार के मामले में इफको पिछले वित्त वर्ष के 125वें स्थान से चढ़कर 65वें स्थान पर पहुंच गई है।

इंटरनेशनल कोआपरेटिव एलायंस(आईसीए) तथा द यूरोपियन रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑन कोआपरेटिव एंड सोशल एंटरप्राइजेज ने आज एक अंतरर्राष्ट्रीय वेबिनार के दौरान वर्ल्ड कोआपरेटिव मॉनीटर का 2020 संस्करण लांच किया है। यह आईसीए द्वारा प्रकाशित नौवीं वार्षिक रिपोर्ट है जिसमें विश्व की प्रमुख सहकारी समितियों के आर्थिक और सामाजिक प्रभाव का जायजा लिया गया है तथा कोविड व जलवायु परिवर्तन जैसी वर्तमान वैश्विक चुनौतियों से निपटने के लिए उनके द्वारा किए गए उपायों के विश्लेषण के आधार पर शीर्ष 300 की श्रेणी बनाई गई है।

इफको के प्रबंध निदेशक, डॉ. उदय शंकर अवस्थी ने कहा कि यह इफको व सहकारिताओं के लिए गर्व की बात है।‌ भारतीय सहकारिता आंदोलन को आगे बढ़ाने की दिशा में हम सबके लिए यह एक बड़ी उपलब्धि है। इफको में हम लोग पूरे देश के किसानों के विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं और भारतीय सहकारिता आंदोलन को मजबूत कर रहे हैं। हम नवोन्मेष में विश्वास करते हैं क्योंकि यही सफलता की कुंजी है। मैं इफको से जुड़े सभी लोगों और देश के सहकारी बंधुओं को इस अनुपम उपलब्धि के लिए बधाई देता हूं।

इफको ने पिछले कई वर्षों से अंतरराष्ट्रीय सहकारिता मंच पर भारत को गौरवान्वित किया है। वैश्विक मंच पर इफको की मजबूत उपस्थिति है क्योंकि इफको के निदेशक आदित्य यादव आईसीए के वैश्विक निदेशक मंडल में इफको का प्रतिनिधित्व करते हैं। इफको में सहकारिता संपर्क विभाग के प्रमुख श्री तरुण भार्गव इंटरनेशनल कोआपरेटिव एन्ट्रीप्रीन्योरशिप थिंक टैंक(आईसीईटीटी) के अध्यक्ष और आईसीए की वैश्विक शाखा आईसीएओ की कार्यकारिणी समिति के सदस्य हैं।‌

डब्ल्यूसीएम – वर्ल्ड कोआपरेटिव मॉनीटर एक परियोजना है जिसे पूरे विश्व की सहकारी समितियों के मजबूत आर्थिक, संगठनात्मक और सामाजिक आंकड़े एकत्र करने के लिए तैयार किया गया है। वर्ष 2020 में प्रकाशित वार्षिक अनुसंधान रिपोर्ट का यह नौवां संस्करण इंटरनेशनल कोआपरेटिव एलायंस(आईसीए) द्वारा द यूरोपियन रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑन कोआपरेटिव एंड सोशल एंटरप्राइजेज(यूरिस) के वैज्ञानिक और तकनीकी सहयोग से तैयार किया गया है। यह रिपोर्ट मुख्यत: दो आधार पर तैयार की जाती है, एक अमेरिकी डॉलर में कारोबार के आधार पर और दूसरा प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद पर कारोबार के आधार पर।‌ उपलब्धता के अनुरूप शीर्ष 300 सहकारी समितियों का रोजगार आंकड़ा भी पेश किया जाता है।

इंटरनेशनल कोआपरेटिव एलायंस – इंटरनेशनल कोआपरेटिव एलायंस पूरे विश्व की सहकारी समितियों के बारे में जानकारी प्रदान करने वाला एक संगठन है। यह 110 देशों की 315 से अधिक सहकारी महासंघों और संगठनों का प्रतिनिधित्व करती है। आईसीए वैश्विक और क्षेत्रीय सरकारों और संगठनों के साथ मिलकर कार्य करती है ताकि सहकारी समितियों के गठन और विकास के लिए विधायी माहौल तैयार किया जा सके। इसका वैश्विक कार्यालय ब्रूसेल्स, बेल्जियम में है। इसके चार क्षेत्रीय कार्यालय (यूरोप, अफ्रीका, अमेरिका और एशिया-पेसिफिक) हैं । यह बैंकिंग, कृषि, मत्स्य, बीमा, स्वास्थ्य, आवास, उपभोक्ता सहकारी समिति तथा सेवा व उद्योग सहकारी समिति- कुल आठ क्षेत्रों में काम करता है। इंटरनेशनल कोआपरेटिव एलायंस एक गैर-लाभकारी संगठन है जिसकी स्थापना सहकारी सामाजिक उद्यम के मॉडल को आगे बढ़ाने के लिए वर्ष 1895 में की गई थी।

यूरिस- यूरिस ट्रेन्टो(इटली) में अवस्थित एक अनुसंधान संस्थान है। सहकारिताओं, सामाजिक उद्यमों और अन्य गैर-लाभकारी संगठनों के लिए ज्ञान, विकास और नवोन्मेष को बढ़ावा देना तथा आर्थिक और सामाजिक विकास के क्षेत्र में ऐसे संगठनों के प्रभाव के बारे में बेहतर समझ विकसित करना इसका लक्ष्य है। यूरिस की गतिविधियों का उद्देश्य सहकारी व सामाजिक उद्यमों के क्षेत्र में खंड-खंड में हो रहे शोध को कम करना तथा वैज्ञानिक और सामाजिक बहसों में इस क्षेत्र की भागीदारी को बढ़ाना है।

(इलाहाबाद से वरिष्ठ पत्रकार जेपी सिंह की रिपोर्ट।)

This post was last modified on January 21, 2021 10:23 pm

Share
%%footer%%