Subscribe for notification

संस्कृति-समाज

वंचितों के लिए आजीवन संघर्षरत रहे स्वामी अग्निवेश

स्वामी अग्निवेश जी कई दिनों गंभीर रूप से थे । वे लीवर की समस्या से पीड़ित थे, लीवर का ट्रांसप्लांट…

2 weeks ago

बेटी विंकल संधु की नज़रों में पिता पाश

(‘उसके छोटे-छोटे हाथ केक नहीं काट पा रहे थे। वह मोमबत्तियों के पहले जलने और फिर बुझ जाने के दृश्य…

2 weeks ago

कोरोना काल का हासिल: साथ चल रही मौत का भी डर जाता रहा

आज एक स्ट्रगलिंग फिल्मी लेखक से मुलाकात हुई, वो आया था मुझे अपनी कहानी सुनाने जो उसने वेब सीरीज के…

3 weeks ago

‘गब्बर’ की प्रेम कहानी

ज़करिया खान मूलतः पेशावर जिले से आए एक खूबसूरत पश्तून मर्द थे और भारतीय फिल्मों में अभिनय करते थे। स्क्रीन…

3 weeks ago

शहादत दिवस पर विशेष: शहादत देकर जगदेव प्रसाद ने रखी थी बिहार में सामाजिक न्याय की नींव

अपने देश में जितने दार्शनिक हुए, राजनीति विज्ञान के विद्वान हुए। अभी बहुत गहराई में यह बात नहीं बता पाए…

3 weeks ago

शिक्षक दिवस पर सभी विद्यार्थियों के नाम एक शिक्षक का पत्र

प्यारे विद्यार्थियों,कल 5 सितंबर यानी शिक्षक दिवस है। इस अवसर पर तुम सबसे कुछ कहने का मन है। सोचता हूं…

3 weeks ago

आत्मालोचना है बौद्धिक विकास की आवश्यक शर्त

यह अलग बात है कि धर्म परिवर्तन के बाद भी जातियां बनी रहीं, लेकिन इसमें लोभ किसने दिया? सांप्रदायिक दिमाग…

3 weeks ago

जन्मदिन विशेषः हबीब तनवीर ने कह दिया था सामाजिक-राजनीतिक उद्देश्यों के लिए फिल्मों को अलविदा

आधुनिक रंगमंच में हबीब तनवीर की पहचान लोक को पुनर्प्रतिष्ठित करने वाले महान रंगकर्मी की है। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर…

3 weeks ago

जयंती पर विशेष: राही का मानना था- देश के राजनीतिक-आर्थिक ढांचे में बसता है सांप्रदायिकता का भूत

‘‘मेरा नाम मुसलमानों जैसा है/मुझे कत्ल करो और मेरे घर में आग लगा दो/लेकिन मेरी रग-रग में गंगा का पानी…

3 weeks ago

जन्मदिन विशेषः पेरियार ललई सिंह यादव थे बुद्ध, पेरियार और आंबेडकर की वैचारिकी के वाहक

कांग्रेस (1885) द्वारा ब्रिटिश सत्ता के खिलाफ संघर्ष शुरू करने से करीब एक दशक पहले जोतीराव फुले (11 अप्रैल, 1827-28…

3 weeks ago